भारत को पाकिस्तान से चुराने पड़े ये 10 गाने, आज भी हैं सुपरडुपर हिट

बॉलीवुड का मौजूदा दौर रीमेक का है. कहानी, सीन और गानों तक में कौन कितनी ज्यादा रीमेक बनाएगा, इसकी होड़ लगी है. लेकिन कम ही लोग जानते होंगे कि नब्बे के दशक से पहले बॉलीवुड में यह काम होने लगा था.

News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 2:38 PM IST
भारत को पाकिस्तान से चुराने पड़े ये 10 गाने, आज भी हैं सुपरडुपर हिट
कितना प्यारा तुझे रब ने बनाया.
News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 2:38 PM IST
आजकल बॉलीवुड में दुनिया के हर कोने में बनने वाले सिनेमा और म्यूजिक को रीमेक करने होड़ मची है. लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि भारत को पाकिस्तान से भी कई धुने चुरानी पड़ी हैं. खास बात ये कि पा‌किस्तान की जिन धुनों को भारत में रीमेक किया गया वो यहां बेहद ही मशहूर हुईं. शायद ही कोई ऐसा होगा जिसे 'बहुत प्यार करते हैं तुमको सनम' गाना ना पसंद हो. लेकिन यह उससे भी कम लोग जानते होंगे कि यह गजल है, जिसे पाकिस्तान में गजल सम्राट मेहंदी हसन ने गाया था.

1. बहुत प्यार करते हैं तुमको सनम (साजन, 1991) एक बेहद मशहूर गाना है. इसे समीर ने लिखा था और नदीम-श्रवण ने इसकी धुन तैयार की थी. लेकिन असल में यही धुन पाकिस्तानी गाने 'बहुत खूबसूरत है मेरा सनम' की थी. इसमें समीर ने बस बोल बदलने में ज्यादा मेहनत की.


2. कितना प्यारा तुझे रब ने बनाया (राजा हिंदुस्तानी, 1996) तब बेहद मशहूर हुआ. काफी समय तक इसे गुनगनाया गया. आज भी बजता है तो लोग धुन में धुन मिलाते है. लेकिन असल में यह धुन नुसरत फतह अली खान ने बनाई थी. उन्होंने अपने कई मंचों पर इसे गाया था. इतना ही नहीं किन्ना सोना तेनू रब ने बनाया, इसी बोल के साथ उनके एलबम में ये गाना था.



3. धीरे-धीरे आप मेरे (बाजी, 1995) आमिर खान और ममता कुलकर्णी फिल्माए गए इस गाने को उदित नारायण और साधना सरगम ने गाया था. इसकी धुन बनाई थी जाने माने फिल्म निर्देशक आशुतोष गोवारिकर ने. लेकिन असल में ये गाना 'रफ्ता-रफ्ता वो मेरे हस्ती के सामा' बन गए. इसके मंचों से गजल सम्राट मेहदी हसन ने गाया था.

Loading...

4. चोली के पीछे क्या है (खलनायक, 1993) सालों तक भारत का सबसे मकबूल गाना बना रहा. इसे सपना अवस्‍थी और अलका यागनिक ने आवाज दी थी. इसकी धुन लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने बनाई थी. लेकिन असल में यह पाकिस्तानी गाने रात दे बारह वज्जे (जबरदस्त) की धुन से मेल खाता है.


5. मैं जिस दिन भुला दूं (पुलिस पब्लिक- 1990), पुन्नम ढिल्लन पर फिल्माया गया ये गाना लता मंगेशकर और ‌अमित कुमार की आवाज गाया ये गाना आज भी हिन्दी पट्टी में बेहद मशहूर है. इसकी धुन राम-लक्ष्मण ने बनाई थी. इसके बोल असद भोपाली ने लिखा था. लेकिन असल में ये गाना पाकिस्तानी गाने 'मैं जिस दिन भुला दूं' से हूबहू वैसे ही ले लिया गया है.


6. तू चीज बड़ी है मस्त-मस्त (मोहरा, 1994) यह गाना इतना मकबूल हुआ कि बॉलीवुड में ही इसे दोबरा बनाया गया. मोहरा फिल्म में भी इसे दो बार पर्दे पर दिखाया गया था. इसे उदित नारायण और कविता कृष्‍णमुर्ती ने गाया था. इसके बोल आनंद बख्‍शी ने लिखे थे और इसकी म्यूजिक विजू शाह ने तैयार की थी. लेकिन असल में इसकी धुन नुसरत फतह अली खान कव्‍वाली 'दम मस्त कलंदर' से शत प्रतिशत मिलती है.


7. मेरा पिया घर आया (याराना- 1981), अपने दौर में इस गाने ने धमाल मचा दिया था. असल में उस दौर में भारत के हिन्दी पट्टी के कई पत्नियों के पति बाहर कमाने जाते थे. जब लौटते तो उनकी पत्नियां ये गाना उन्हें जरूर सुनातीं. जबकि असल में यह नुसरत फतह अली खान की कव्वाली 'मेरा पिया घर आया' से पूरी तरह से प्रेरित है.



8. काला शा काला (आई मिलन की रात, 1991) अनुराधा पौडवाल की आवाज में जब इस गाने को आनंद-मिलंद ने रिकॉर्ड किया तो आगामी कई महीनों तक ये गाना लोगों की जुबान पर चढ़ा रहा. लेकिन असल में ये गाना बाबर खान का था.


9. सजना तेरे बिना (जुदाई, 1997) नदीम-श्रवण ने ये गाना भी पाकिस्तान के महान गायक और कव्वाली के बादशाह कहे जाने वाले नुसरत फतह अली खान की कव्वाली सानु इक पल चैन न आवे की तर्ज पर आधारित था. हाल ही में असल को गाने को फिर से फिल्म रेड में इस्तेमाल किया गया था.


10. दिल मेरा तोड़ दिया उसने (कसूर, 2001) असल में ये गाना 'वो मेरा ना सका, बुरा क्यों मानूं' का बॉलीवुड वर्जन था. यह फिल्म अजमत में आया था. इसे पाकिस्तान की महान सिंगर नूर जहां ने गाया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 31, 2019, 12:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...