Home /News /entertainment /

Chhorii Movie Review: 'छोरी' बनकर दर्शकों को डराने में कामयाब रहीं नुसरत भरूचा

Chhorii Movie Review: 'छोरी' बनकर दर्शकों को डराने में कामयाब रहीं नुसरत भरूचा

छोरी रिव्यू, जानें कैसी है नुसरत भरूचा की फिल्म.

छोरी रिव्यू, जानें कैसी है नुसरत भरूचा की फिल्म.

Chhorii Review: नुसरत भरूचा (Nushrratt Bharuccha) की हॉरर फिल्म 'छोरी (Chhorii)' अमेजन प्राइम पर रिलीज हो गई है. जिसमें नुसरत पहली बार दर्शकों को डराती नजर आ रही हैं. नुसरत भरूचा और मीता वशिष्ठ स्टारर 'छोरी' भी मराठी फिल्म 'लपाछपी (Lapachhapi )' की रीमेक है. जो 2016 में रिलीज हुई थी. 'छोरी (Chhorii Review)' को विशाल फुरिया (Vishal Furia) ने डायरेक्ट किया है. इसका मराठी वर्जन भी विशाल फुरिया ने ही डायरेक्ट किया था.

अधिक पढ़ें ...

    मुंबईः बॉलीवुड में कई रीमेक बनती आई हैं. ये रीमेक कभी विदेशी तो कभी रीजनल सिनेमा की होती हैं. नुसरत भरूचा (Nushrratt Bharuccha) और मीता वशिष्ठ स्टारर ‘छोरी (Chhorii)’ भी मराठी फिल्म ‘लपाछपी (Lapachhapi )’ की रीमेक है. जो 2016 में रिलीज हुई थी. ‘छोरी (Chhorii Review)’ को विशाल फुरिया (Vishal Furia) ने डायरेक्ट किया है. इसका मराठी वर्जन भी विशाल फुरिया ने ही डायरेक्ट किया था.

    स्टार कास्ट- नुसरत भरूचा (Nushrratt Bharuccha), मीता वशिष्ठ (Mita Vashisht), राजेश जैस (Rajesh Jais) और सौरभ गोयल (Saurabh Goyal).

    कहानी-
    ‘छोरी’ की कहानी, 8 महीने प्रेग्नेंट साक्षी (नुसरत भरूचा) और हेमंत (सौरभ गोयल) की कहानी है. हेमंत के साथ साक्षी अपनी प्यारी और खूबसूरत शादीशुदा जिंदगी जी रही होती है. हेमंत ने अपने बिजनेस को सेट करने के लिए किसी से उधार लिए होते हैं, जिन्हें वह ये उधार वापस नहीं कर पाता. जिसके चलते, ये लोग उधार वापस लेने के लिए हेमंत के खून के प्यासे हो जाते हैं. जिसके चलते हेमंत और साक्षी अपना घर छोड़कर कहीं और जाने की सोचते हैं.

    तभी एक ड्राइवर कजला उन्हें अपने घर लाता है. लेकिन, साक्षी और हेमंत एक ऐसी जगह पहुंच जाते हैं, जहां उनके आस-पास वीरानी के अलावा कोई नहीं है. इस जगह की भी अपनी एक डरावनी कहानी है. साक्षी को इस जगह ड्राइवर की पत्नी मिलती है, जो कुछ रहस्यमयी सी है. इसके अलावा साक्षी को यहां तीन बच्चे और एक औरत भी नजर आती है. ये बुरी शक्तियां होती हैं, जिनसे साक्षी को खुद को और अपने बच्चे को बचाना होता है. अब साक्षी इन बुरे सायों से खुद की और अपने बच्चे की रक्षा कर पाती है या नहीं, इसके लिए आपको फिल्म देखना होगा.

    रिव्यू
    फिल्म में गिने-चुने किरदार हैं, जो अपने-अपने किरदार को पूरी तरह से जी रहे हैं. फिल्म डराने के साथ ही एक सामाजिक मैसेज भी देती है. नुसरत भरूचा ने एक प्रेग्नेंट महिला, जो अपने बच्चे के लिए परेशान हैं, का किरदार बेहतर ढंग से निभाया है. अब तक ग्लैमरस और बोल्ड किरदार निभाने वाली नुसरत, एक साधारण महिला के किरदार में जबरदस्त लग रही हैं. मीता वशिष्ठ भी भन्नो देवी के किरदार में शानदार लग रही हैं. फिल्म जितनी सरप्राइजिंग है उतनी ही डरावनी भी है. फिल्म की स्टोरी लाइन काफी शानदार है.

    Tags: Bollywood, Film review, Nushrat Bharucha

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर