अपना शहर चुनें

States

फराह खान ने शेयर किया 43 की उम्र में मां बनने का अनुभव, महिलाओं के नाम लिखा ओपन लेटर!

फराह खान ने अपने ओपन लेटर में महिलाओं को अपने निर्णय खुद से लेने की बात कही. (फोटो: फराह खान के इंस्टाग्राम से)
फराह खान ने अपने ओपन लेटर में महिलाओं को अपने निर्णय खुद से लेने की बात कही. (फोटो: फराह खान के इंस्टाग्राम से)

फराह खान (Farah Khan) ने अपने पोस्ट में लिखा: आज मैं गर्व से कहती हूं कि मैं तीन बच्चों की मां हूं क्योंकि मां बनने का फैसला मेरा था, ये मेरा चुनाव था. मैं तब मां बनी जब मैं मां बनने के लिए तैयार थी ना कि तब जब समाज ये निर्धारित करता है कि मां बन जाना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2020, 4:24 PM IST
  • Share this:
कोरियोग्राफर फराह खान (Farah Khan) ने 43 साल की उम्र में मां बनने के अपने फैसले पर प्रतिक्रिया दी है. फराह ने महिलाओं (Women) के लिए एक खुला खत (Open Letter) लिखकर अपने मन की बात को शेयर किया है. फराह, दो बेटियों, अनया, डीवा और एक बेटे कजार की मां हैं. फराह के तीनों बच्चे ट्रिपलेट्स हैं जो अब 12 साल के हो चुके हैं.

फराह ने महिलाओं के नाम अपने ओपन लेटर में लिखा-
"हमारे कर्म हमारे शब्दों से ज्यादा बोलते हैं. वो अधिक महत्वपूर्ण हैं. हमारे पास हर कर्म को करने के लिए विकल्प मौजूद हैं जिनमें से हमें चुनना पड़ता है.  उन विकल्पों का फायदा हम कैसे उठाते हैं ये मायने रखता है, ये हमें अलग इंसान बनाता है. एक बेटी, पत्नी और मां होने के नाते मेरे जीवन में भी कई विकल्प थे जिनमें से मुझे चुनना पड़ा और उसी के कारण मैं कोरियोग्राफर, फिल्ममेकर, और निर्माता बनी. हर बार जब मुझे लगता था कि ये वक्त सही है तब मैं अंदर की आवाज को सुनती थी और सही चुनाव कर लेती थी. फिर चाहे वो मेरे परिवार के लिए हो या मेरे करियर के लिए. हम दूसरों की राय पर इतना ध्यान देते हैं कि हम ये भूल जाते हैं कि ये हमारी जिंदगी है और ये हमारा निर्णय है कि हम क्या चुनाव कर रहे हैं.


आज मैं गर्व से कहती हूं कि मैं तीन बच्चों की मां हूं क्योंकि मां बनने का फैसला मेरा था, ये मेरा चुनाव था. मैं तब मां बनी जब मैं मां बनने के लिए तैयार थी ना कि तब जब समाज ये निर्धारित करता है कि मां बन जाना चाहिए. आज विज्ञान में इतनी तरक्की हो चुकी है कि मैं इस उम्र में भी आईवीएफ के कारण मां बन सकी. आज ये देखकर अच्छा लगता है कि आज के समय में बिना ये सोचे कि लोग क्या कहेंगे, कई महिलाएं ये निर्णय ले रही हैं, लोगों का नजरिया बदल रही हैं और अपनी खुशी के लिए खुद जिम्मेदार बन रही हैं."



फराह ने एक शो का जिक्र करते हुए लिखा- "हाल ही में मुझे 'स्टोरी 9 मंथ्स की' शो के बारे में पता चला जो कि एक ईमानदार प्रतिक्रिया देता है. अगर प्यार के बिना शादी हो सकती है तो पति के बिना मां क्यों नहीं बना जा सकता?"

फराह ने अपने पोस्ट में लिखा कि जब एक फिल्ममेकर के तौर पर मैं ऐसे शो के बारे में सुनती हूं तो मुझे खुशी होती है कि महिलाओं की पसंद और उनकी खुशियों का भी ध्यान दिया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज