शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का निधन, लता मंगेशकर और आशा भोंसले ने जताया शोक

शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का निधन, लता मंगेशकर और आशा भोंसले ने जताया शोक
पंडित जसराज, लता मंगेशकर और आशा भोंसले.

शास्त्रीय गायक पंडित जसराज (Classical singers Pandit Jasraj) के निधन पर महान गायिका लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) और आशा भोंसले (Asha Bhosle) ने शोक व्यक्त किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 17, 2020, 10:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महान शास्त्रीय गायक पंडित जसराज (Classical singers Pandit Jasraj) का अमेरिका में दिल का दौरा पड़ने से सोमवार की सुबह निधन हो गया. कोरोना वायरस महामारी के कारण लॉकडाउन के बाद से 90 वर्षीय पंडित जसराज न्यूजर्सी में ही थे. . उन्होंने सोमवार सुबह आखिरी सांस ली. उनकी बेटी दुर्गा जसराज ने यह जानकारी दी.

उनके निधन पर महान गायिका लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) और आशा भोसले (Asha Bhosle) ने शोक व्यक्त किया है. लता मंगेशकर ने ट्वीट कर लिखा है कि, महान शास्त्रीय गायक और मां सरस्वती के उपासक संगीत मार्तण्ड पंडित जसराज जी के स्वर्गवास की ख़बर सुनकर मुझे असीम दुखा हुआ. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे, मैं यही प्रार्थना करती हूं.


आशा भोसले ने भावना में भरकर लिखा नोट
‘मैं पंडित जसराज जी के दुर्भाग्यपूर्ण निधन से बहुत दुखी हूं ... मैंने किसी ऐसे व्यक्ति को खो दिया है जो मेरे लिए बेहद प्रिय था, मैंने वास्तव में एक बड़े भाई को खो दिया है! संगीत का सूरज डूब गया! वे एक गायक के रूप में उत्कृष्ट थे और मैं उन्हें लंबे समय से जानती थीं... वी. शांताराम की बेटी से उनकी शादी से पहले से. वे मेरी बहुत प्रशंसा करते थे और वे हमेशा कहते थे, ‘मैं तुझे गाना सिखाऊंगा!’



बीते दिनों को याद करती हुए उन्होंने कहा, ‘जब मैं अमेरिका में उनके शास्त्रीय स्कूल में गई, वहां वे बहुत सारी महत्वाकांक्षी प्रतिभाओं को संगीत सिखाते थे. मुझे याद है कि कैसे मैं उनके स्कूल में दाखिला लेना चाहती था क्योंकि वह बहुत अच्छे थे! उसी यात्रा पर, हम डिनर के लिए निकले. जसराज जी, जो कि एक पक्के शाकाहारी थे, ने मुझे स्वास्थ्य कारणों से शाकाहारी बनने का अनुरोध किया. मैं हमेशा उनके बच्चे की तरह के व्यवहार को याद रखूंगी. उनकी आत्मा को शांति मिले!’ जसराज जी की बेटी दुर्गा ने मुंबई से फोन पर कहा ,‘बापूजी नहीं रहे’. इसके अलावा वह कुछ नहीं बोल सकीं. उनके परिवार में दुर्गा के अलावा पत्नी मधुरा के अलावा संगीतकार पुत्र शारंग देव हैं. मधुरा सुप्रसिद्ध फिल्मकार वी. शांताराम की बेटी हैं .

मेवाती घराने के आखिरी मजबूत स्तंभ थे पंडित जसराज
मेवाती घराने के आखिरी मजबूत स्तंभ पंडित जसराज के परिवार ने एक बयान में कहा ,‘बहुत दुख के साथ हमें सूचित करना पड़ रहा है कि संगीत मार्तंड पंडित जसराज जी का अमेरिका के न्यूजर्सी में अपने आवास पर सोमवार सुबह 5 बजकर 15 मिनट पर दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया.’ उन्होंने कहा ,‘हम प्रार्थना करते हैं कि भगवान कृष्ण स्वर्ग के द्वार पर उनका स्वागत करें, जहां वह अपना पसंदीदा भजन ‘ओम नमो भगवते वासुदेवाय’उन्हें समर्पित करें. हम उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करते हैं.’उन्होंने आगे कहा, ‘आपकी प्रार्थनाओं के लिए धन्यवाद. बापूजी जय हो.’

नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक जताते हुए ट्वीट किया, ‘पंडित जसराज जी के दुर्भाग्यपूर्ण निधन से भारतीय शास्त्रीय विधा में एक बड़ी रिक्तता पैदा हो गई है. न केवल उनका संगीत अप्रतिम था बल्कि उन्होंने कई अन्य शास्त्रीय गायकों के लिए अनोखे मार्गदर्शक के रूप में एक छाप छोड़ी. उनके परिवार और समस्त विश्व में उनके प्रशंसकों के प्रति संवेदना. ओम शांति.’मोदी ने अपने ट्वीट के साथ पंडित जसराज के साथ अपनी कुछ पुरानी तस्वीरें भी ट्विटर पर डालीं जिनमें वह उन्हें सम्मानित कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज