बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता किशोर नांदलस्कर का निधन, कोरोना वायरस से संक्रमित थे एक्टर

किशोर नांदलस्कर ने 30 से अधिक मराठी फिल्मों में अभिनय किया था. उनकी छोटी भूमिका ने भी दर्शकों पर हमेशा एक स्थायी छाप छोड़ी. (फाइल फोटो)

किशोर नांदलस्कर ने 30 से अधिक मराठी फिल्मों में अभिनय किया था. उनकी छोटी भूमिका ने भी दर्शकों पर हमेशा एक स्थायी छाप छोड़ी. (फाइल फोटो)

दिग्गज एक्टर किशोर नांदलस्कर (Kishore Nandalskar) का कोरोना वायरस के कारण निधन हो गया. कोरोनो वायरस के संक्रमण के बाद उन्हें कुछ दिनों पहले ठाणे के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्होंने मंगलवार (20 अप्रैल) को दोपहर करीब 12.30 बजे अंतिम सांस ली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2021, 5:47 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मराठी फिल्म उद्योग के लिए आज यह बहुत बुरी खबर है. दिग्गज एक्टर किशोर नांदलस्कर (Kishore Nandalskar) का कोरोना वायरस के कारण निधन हो गया. कोरोनोवायरस के संक्रमण के बाद उन्हें कुछ दिनों पहले ठाणे के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्होंने मंगलवार (20 अप्रैल) को दोपहर करीब 12.30 बजे अंतिम सांस ली. कुछ दिनों पहले उनकी तबीयत खराब हो गई थी. वे सांस और तालु की तकलीफ जैसी स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित थे.

नांदलस्कर पिछले कुछ दिनों से कोरोना वायरस से पीड़ित थे. वे मराठी फिल्मों के बड़े स्टार थे. किशोर नांदलस्कर ने न केवल मराठी सिनेमा में बल्कि बॉलीवुड फिल्मों में भी काम किया. उन्होंने 40 नाटकों और 20 से अधिक सीरीज में काम करने नाम कमाया. उन्होंने 30 से अधिक मराठी फिल्मों में अभिनय किया था. उनकी छोटी भूमिका ने भी दर्शकों पर हमेशा एक स्थायी छाप छोड़ी. उनके अचानक चले जाने से फिल्म उद्योग में हलचल मच गई. फिल्म उद्योग में कई अभिनेताओं ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया है.

किशोर नांदलस्कर के‌ पोते अनीष ने एक मीडिया हाउस को बताया कि, कोविड सेंटर में दाखिल कराने से पहले उन्हें सांस लेने और बात करने में काफी तकलीफ हो रही थी. उनका ऑक्सीजन लेवल भी बहुत गिर गया था.' उन्‍होंने 'खाकी', 'सिंघम' और 'वास्‍तव' जैसी हिंदी फ‍िल्‍मों में काम किया था. 2000 में रिलीज गोविंदा स्‍टारर फिल्‍म 'जिस देश में गंगा रहता है' में सन्‍नाटा का रोल निभाया था. इस रोल में उन्हें बहुत पसंद किया गया था.

दो दशकों से अधिक के करियर में उन्होंने कई हिंदी फिल्मों में चरित्र भूमिकाएं भी निभाईं थीं और एक सपोर्टिंग एक्टर के तौर पर उन्होंने अपनी पहचान बनाई थी. उन्होंने 1989 में मराठी फिल्म 'इना मीना डीका' से फिल्म जगत में डेब्यू किया था. उन्होंने मराठी फिल्मों 'मिस यू मिस', 'भविष्याची ऐशी तैशी', 'गाव थोर पुढारी चोर', 'जरा जपुन करा', 'हैलो गंधे सर', 'मध्यममार्ग - द मिडिल क्लास' जैसी अनेकों फिल्मों में काम किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज