होम /न्यूज /मनोरंजन /40 Years Of Vidhaata: दिलीप कुमार सजाते थे महफिल, ‘विधाता’ की लॉन्च पार्टी में संजय दत्त ने मचा दिया था बवाल!

40 Years Of Vidhaata: दिलीप कुमार सजाते थे महफिल, ‘विधाता’ की लॉन्च पार्टी में संजय दत्त ने मचा दिया था बवाल!

'विधाता' फिल्म ने 40 साल पहले छप्पर फाड़ कमाई की थी.

'विधाता' फिल्म ने 40 साल पहले छप्पर फाड़ कमाई की थी.

सुभाष घई (Subhash Ghai) के निर्देशन में बनी ‘विधाता’ (Vidhatta) फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त सफलता हासिल की थी. ये फि ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: दिलीप कुमार (Dilip Kumar) की 100वीं जयंती जल्द ही आने वाली है. दिलीप साहब ने अपने लंबे फिल्मी करियर में कई फिल्में की हैं, उनमें से एक फिल्म ‘विधाता’ (Vidhaata) भी है, जिसे 40 साल पहले सुभाष घई (Subhash Ghai) ने डायरेक्ट किया था. फिल्म के प्रोड्यूसर गुलशन राय थे. ‘त्रिमूर्ति’ प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले बनी इस फिल्म में सितारों की फौज थी. इतना ही नहीं 3 दिसंबर 1982 में रिलीज हुई ‘विधाता’ में हिंदी सिनेमा के तीन दिग्गज कलाकारों ने एक साथ काम किया था. फिल्म में दिलीप कुमार के अलावा शम्मी कपूर (Shammi Kapoor), संजीव कपूर (Sanjeev Kumar), संजय दत्त (Sanjay Dutt), पद्मिनी कोल्हापुरे (Padmini Kolhapure) , सारिका (Sarika), अमरीश पुरी (Amrish Puri), जगदीप जैसे कलाकार भी थे. फिल्म के 40 बरस पूरे होने पर बताते हैं फिल्म से जुड़े कुछ दिलचस्प किस्से.

‘विधाता’ के कलाकार या मेकिंग से जुड़े जो लोग दुनिया में हैं, उन्हें फिल्म की शूटिंग के दौरान हुए किस्से बखूबी याद होगी. फिल्म की शूटिंग ‘आगरा’ में हुई थी. इसकी शूटिंग के दौरान दिलीप कुमार समेत पूरी फिल्म की टीम मुगल शेरेटन होटल में ठहरी थी. दिलीप कुमार को गीत-गजल-नज्मों का बेहद शौक था, लिहाजा आए दिन शूटिंग के बाद रात में गीत-संगीत की महफिल सजती थी. गजल गायक सुधीर नारायण ने शूटिंग के दिनों को याद करते हुए एक बार मीडिया को बताया था ‘दिलीप साहब खूब महफिल जमाते थे, गीत-संगीत का दौर एक बार जो शुरु होता तो देर रात तक चलता रहता था, कई बार को सुबह के साढ़े 3 बज जाते थे. इस दौरान दिलीप कुमार सिर्फ सुनते ही नहीं बल्कि खुद भी गीत सुनाते थे.

‘विधाता’ के बाद सुभाष घई ने बनाया अपना प्रोडक्शन हाउस
जब ये फिल्म रिलीज हुई थी, तब सुभाष घई ने सोचा भी नहीं होगा कि फिल्म की सफलता उन्हें कामयाबी की बुलंदियों पर पहुंचा देगी. 1982 की सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म ‘विधाता’ सुभाष घई के करियर में टर्निंग प्वाइंट साबित हुई. इस फिल्म ने सुभाष को फिल्म इंडस्ट्री के टॉप फिल्ममेकर की सूची में जगह दिलवा दी. इस फिल्म की सफलता के बाद ही सुभाष ने अपनी खुद की कंपनी मुक्ता आर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड की नींव रखी और इसके बैनर तले फिल्में बनाने लगे. मुक्ता आर्ट्स ने बॉलीवुड को कई शानदार फिल्में दी तो आज के कई सफल एक्टर्स को प्लेटफॉर्म भी मुहैया करवाया. जाहिर सी बात है सुभाष घई इस फिल्म को कभी भूल नहीं पाएंगे.

संजय दत्त ने पद्मिनी कोल्हापुरे को चाकू लेकर दौड़ा लिया था
बहरहाल बात ‘विधाता’ की करते हैं. फिल्म से जुड़ा एक और किस्सा बेहद मशहूर है. फिल्म मेकर्स ने एक पार्टी रखी थी. फिल्म के सारे कलाकार और जुड़े लोग पहुंच चुके थे. संजू बाबा का इंतजार किया जा रहा था. लेकिन जब संजय दत्त आए तो उनकी हरकत देख सब सन्नाटे में आ गए. नशे में धुत्त फिल्म की एक्ट्रेस पद्मिनी कोल्हापुरे के पास जा पहुंचे, उनके हाथ में चाकू था. ये देख पद्मिनी बुरी तरह घबरा गईं और चिल्लाने लगी. बेखबर संजय दत्त को एहसास ही नहीं था कि वो क्या कर रहे हैं. जब वो पद्मिनी के और करीब पहुंचने लगे तो भागने लगीं. संजय भी उनके पीछे-पीछे भागने लगे. खैर किसी तरह उन्हें संभाला गया. जब इस घटना की जानकारी संजय के पिता सुनील दत्त को हुई तो वह बेहद शर्मिंदा और नाराज हुए. ये वही दौर था जब संजय नशे के लत के बुरी तरह शिकार थे.

ये भी पढ़िए-11 Years Of The Dirty Picture: विद्या बालन ने देखी थीं खास फिल्में, एकता कपूर ने 18 करोड़ लगाकर 117 करोड़ कमाए

‘विधाता’ फिल्म की जबरदस्त सफलता को देखते हुए इसे मलयालम, तमिल, कन्नड़ में अलग-अलग टाइटल से बनाया गया था.

Tags: Dilip Kumar, Entertainment Throwback, Padmini Kolhapure, Sanjay dutt, Sanjeev Kumar, Shammi kapoor

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें