अपना शहर चुनें

States

Drug Case: दिया मिर्जा की पूर्व मैनेजर राहिला फर्नीचरवाला 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में

सिलेब्रिटी मैनेजर राहिला फर्नीचरवाला और बिजनेसमैन करण सजनानी 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में.
सिलेब्रिटी मैनेजर राहिला फर्नीचरवाला और बिजनेसमैन करण सजनानी 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में.

सिलेब्रिटी मैनेजर राहिला फर्नीचरवाला और बिजनेसमैन करण सजनानी को मुंबई की एस्प्लेनेड कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. राहिला फर्नीचरवाला बॉलीवुड एक्ट्रेस दीया मिर्जा की पूर्व मैनेजर रह चुकी हैं. एनसीबी ने राहिला को करण सजनानी के साथ गिरफ्तार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 16, 2021, 7:27 PM IST
  • Share this:
मुंबई. सिलेब्रिटी मैनेजर राहिला फर्नीचरवाला (Rahila Furniturewala) और बिजनेसमैन करण सजनानी को मुंबई की एस्प्लेनेड कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. राहिला फर्नीचरवाला बॉलीवुड एक्ट्रेस दीया मिर्जा (Dia Mirza) की पूर्व मैनेजर रह चुकी हैं. एनसीबी (NCB) ने राहिला को करण सजनानी के साथ गिरफ्तार किया है. दोनों को बॉलीवुड से जुड़े ड्रग्स मामले में गिरफ्तार किया गया है.

अब दोनों आरोपी 30 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे. तीन जगहों पर छापेमारी के बाद एनसीबी ने दोनों को गिरफ्तार किया था. एनसीबी ने छापेमारी में दो महिलाओं और एक ब्रिटिश नागरिक को गिरफ्तार किया था. छापेमारी में एजेंसी ने लगभग 200 किलो गांजा जब्त किया था. राहिला फर्नीचरवाला को उनकी बहन सहित 2 अन्य लोगों को भी एजेंसी ने गिरफ्तार किया था. इस मामले में एनसीबी की जांच अभी जारी है. कहा जा रहा है कि आरोपियों का कनेक्शन सुशांत सिंह राजपूत ड्रग्स केस से भी है.


एनसीबी इससे पहले बॉलीवुड ड्रग्स कनेक्शन मामले में कई सेलेब्रिटी से पूछताछ कर चुकी है. इसमें एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण, रकुल प्रीत, सारा अली खान शामिल हैं. इसके अलावा एक्टर अर्जुन रामपाल से भी कई बार पूछताछ हो चुकी है. गांजा रखने के आरोप में कलाकार भारती सिंह और उसके पति अभिषेक को भी गिरफ्तार किया गया था.



सुशांत सिंह राजपूत से जुड़े ड्रग्स एंगल की जांच कर रहा नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, उनके ड्रीम प्रोजेक्ट के पूर्व असिस्टेंट डायरेक्टर ऋषिकेश पवार की तलाश कर रहा है. एजेंसी को शक है कि सुशांत को ड्रग्स सप्लाई करने में पवार का भी हाथ है. ऋषिकेश पवार की घर की तलाशी के दौरान उनके लैपटॉप में एनसीबी को कुछ संदिग्ध इंट्री मिली थी. इसके बाद NCB ने समन भेजकर उन्हें पेश होने के लिए कहा था, लेकिन ऋषिकेश पवार नहीं आए. इसके बाद गिरफ्तारी से बचने के लिए पवार ने कोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका लगाई थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था. NCB मुस्तैदी से उनकी तलाश कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज