सुशांत सिंह राजपूत ड्रग्स केस का दुबई कनेक्शन आया सामने, मुख्य संदिग्ध की NCB की टीम ने की पहचान

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है.

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है.

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ड्रग्स कनेक्शन मामले की जांच कर रही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. इस मामले में दुबई कनेक्शन सामने आया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 6:45 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ड्रग्स कनेक्शन मामले की जांच कर रही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. इस मामले में दुबई कनेक्शन सामने आया है. इस मामले के मुख्य संदिग्ध यानी ड्रग्स तस्करों के सरगना साहिल शाह उर्फ फ्लॉको की पहचान NCB ने कर ली है. दरअसल, NCB की टीम ने बीती रात मलाड इलाके में जिस इमारत के फ्लैट में छापा मारा, वह किसी और का नहीं, बल्कि साहिल शाह उर्फ फ्लॉको का निकला.

NCB ने यह छापेमारी एक ड्रग्स पेडलर की निशानदेही पर की. इस फ्लैट से बड़ी मात्रा में अमेरिकी ड्रग्स बरामद की गई है. दरअसल, फ्लॉको दुबई में बैठकर अपने ड्रग्स पेडलरों के जरिए बॉलीवुड के हाई प्रोफाइल और अन्य क्षेत्र के हाई प्रोफाइल लोगों को ड्रग्स सप्लाई करवाता था.साहिल शाह उर्फ फ्लॉको वो शख्स है, जिसकी शक्ल आज तक न तो किसी ड्रग्स पेडलर ने देखा था और न ही नॉरकोटिक्स एजेंसी ने. यही वजह है कि सुशांत सिंह ड्रग्स मामले के मुख्य संदिग्ध को 6-7 महीने से NCB पता नहीं लगा पा रही थी, लेकिन ड्रग्स पेडलर अब्बास और जैद से मिले सुरागों के आधार पर उसी दिशा में जांच जारी रखी हुई थी.

आखिरकार मिले सबूतों और एक ड्रग्स पेडलर की निशानदेही पर NCB ने साहिल फ्लॉको की न सिर्फ पहचान कर ली है, बल्कि उसके दुबई में रहकर इंडिया में ड्रग्स सप्लाई करने की मोडेस ओपेरंडी का पर्दाफाश कर दिया. इतना ही नहीं, नॉरकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने सांताक्रुज इलाके में छापा मारकर एडोल्फ हिटलर की किताब में छुपाकर की जा रही ड्रग्स तस्करी का भी पर्दाफाश कर दिया. NCB ने सांताक्रुज इलाके के एक कुरियर कंपनी में छापा मारा और वहां से इस ड्रग्स तस्करी का भंडाफोड़ किया है. यह मोडेस ओपेरंडी भी साहिल शाह उर्फ फ्लॉको की ही थी.

नॉरकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के ज्वाइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने बताया कि मलाड के जिस फ्लैट में छापा मारा गया, उसी इमारत में पहले सुशांत सिंह राजपूत भी रहता था. हमने साहिल फ्लॉको की पहचान कर ली है और जल्द ही उसे वापस भारत लाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. इस सबूतों के बाद इस केस में चौंकाने वाले खुलासे हो सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज