संजू की बहस छोड़िये, इन दस लोगों पर बनी फिल्मों पर हमेशा भारतीयों को गर्व रहेगा

इनमें से कुछ लोगों पर कई बायोपिक आ चुकी हैं और आज भी बन रही हैं.

इनमें से कुछ लोगों पर कई बायोपिक आ चुकी हैं और आज भी बन रही हैं.

  • Share this:
'संजू' ने बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाया हुआ है. लोग संजय दत्त का रोल निभाने वाले रणबीर कपूर की तारीफ करते नहीं थक रहे. वहीं कई लोग ऐसे भी हैं जो कह रहे हैं कि 'संजू' में संजय दत्त की असली जिंदगी उभर कर नहीं आ रही. ऐसे में हम आपको बता रहे हैं संजय के अलावा कुछ ऐसे भारतीयों के बारे में जिनकी जिंदगी पर जब फिल्में बनीं तो न केवल बहुत सराही गईं. बल्कि उन फिल्मों को आज भी याद किया जाता है. ये हैं कुछ भारतीय जिनपर बनी फिल्में आपको जरूर देखनी चाहिये-

  1. दादासाहब फाल्के
    परेश मोकाशी की 'हरिश्चंद्राची फैक्ट्री' (2010) भारत की पहली फिल्म बनाने वाले दादासाहब फाल्के की जिंदगी पर बनी थी. इसमें पहली फिल्म बनाने के दौरान के उनके स्ट्रगल दिखाये गये थे. इसमें दादासाहब का रोल नांदू महादेव ने निभाया था. यह फिल्म भारत की ओर से 2009 की ऑफिशियल ऑस्कर एंट्री भी थी.

  2. फूलन देवी
    शेखर कपूर की बैंडिट क्वीन (1994)  तमाम विवादों में फंसी थी. खुद फूलन देवी ने भी इस पर केस किया था और कुछ सीन जिसपर उन्हें आपत्ति थी काटने को कहे थे. आखिर फिल्म रिलीज हुई और इसने बॉलीवुड में कई नये चेहरों के लिये जगह बनाई. वैसे उनमें से कई चेहरे आज बॉलीवुड में अपनी खास पहचान रखते हैं, जैसे सौरभ शुक्ला. एक खास बात यह भी है कि इस फिल्म का म्यूजिक नुसरत फतेह अली खान ने दिया था.

  3. महात्मा गांधी
    महात्मा गांधी का रोल भारत में कई एक्टर्स ने किया है. बल्कि महात्मा गांधी पर बनी सबसे चर्चित फिल्म रिचर्ड एटनबरो की 'द गांधी' (1984) में तो यह रोल एक विदेशी बेन किंग्सले ने भी किया है. कमल हासन की 'हे राम' ने नसीरुद्दीन शाह ने महात्मा गांधी का किरदार निभाया है. इसके अलावा नसीर फिरोज खान के नाटक 'महात्मा वर्सेज गांधी' में भी राष्ट्रपिता के किरदार में होते हैं.

  4. बी. आर. अंबेडकर
    बी. आर. अंबेडकर पर भी कई भाषाओं में बायोपिक्स बन चुकी हैं. जब्बार पटेल की बनाई फिल्म 'डॉ बाबासाहब अंबेडकर: द अनटोल्ड ट्रुथ' में तो मलयालम सिनेमा के स्टार ममूटी ने भी उनका किरदार निभाया है. यह फिल्म भी हिंदी, अंग्रेजी समेत नौ भाषाओं में बनी थी.

  5. कमलादास
    कमलादास जिन्हें 'माधवीकुट्टी' के नाम से भी जाना जाता है. कमलादास (बाद में कमला सुरैय्या) मलयाली कवियत्री थीं. वे माधवीकुट्टी के नाम से कविताएं लिखती थीं. उनकी जिंदगी पर बनी फिल्म 'आमी' में मंजू वारियर उनका किरदार निभा रही हैं. वैसे पहले इस रोल के लिये विद्या बालन को चुना गया था. फिल्म के डायरेक्टर कमल से फिल्म शुरू होने के तुरंत पहले कुछ मतभेद होने के चलते विद्या ने खुद को फिल्म से अलग कर लिया था. देखिये फिल्म का ट्रेलर-

  6. सुभाष चंद्र बोस
    सुभाष चंद्र बोस पर 2005 में श्याम बेनेगल ने फिल्म बनाई थी. फिल्म का नाम था, 'सुभाष चंद्र बोस : द फॉरगॉटेन हीरो.' इस फिल्म में सुभाष चंद्र बोस की भूमिका मिलिंद खांडेकर ने निभाई थी. साल 2017 में आई 'वेब सीरीज बोस : डेड/ अलाइव' में राजकुमार राव ने भी सुभाष चंद्र बोस की भूमिका निभाई थी.

  7. शहीद भगत सिंह
    शहीद भगत सिंह पर अब तक कुल 7 फिल्में बन चुकी हैं. शम्मी कपूर से लेकर अजय देवगन तक इस स्वतंत्रता सेनानी का किरदार निभा चुके हैं. अब तक भगत सिंह पर कुल सात ये फिल्में बन चुकी हैं और इन एक्टर्स ने उन फिल्मों में भगत सिंह का रोल निभाया है-
    रंग दे बसंती (2006) - अामिर खान
    शहीद (1965) - मनोज कुमार
    द लीजेंड ऑफ भगत सिंह (2002) - अजय देवगन
    शहीद-ए-आज़म (2002) - सोनू सूद
    23 मार्च, 1931 शहीद (2002)- बॉबी देओल
    शहीद भगत सिंह (1963) - शम्मी कपूर
    शहीद-ए-आज़ाद भगत सिंह (1954) - प्रेम अदीब

  8. मैरीकॉम
    2014 में आई इस फिल्म के डायरेक्टर ओमंग कुमार थे और इस फिल्म में मैरीकॉम का किरदार निभाया था प्रियंका चोपड़ा ने. मैरीकॉम के जीवन संघर्षों पर आधारित इस फिल्म को करने के लिये प्रियंका चोपड़ा ने अपने फिजीक और लुक पर काफी मेहनत की थी.

  9. हंसा वाडकर
    श्याम बेनेगल की 'भूमिका' (1977) हंसा वाडकर की आत्मकथा 'सांगते आईका' पर आधारित थी. इसमें एक एक्ट्रेस बनने के पहले का उनका जीवन दिखाया गया था. फिल्म में हंसा वाडकर की भूमिका स्मिता पाटिल ने निभाई थी.

  10. बालगंधर्व
    2011 में आई रवि जाधव की इस फिल्म में महान गायक के जीवन के संघर्ष दिखाये गये थे. बालगंधर्व जानेमाने मराठी गायक और स्टेज आर्टिस्ट थे. फिल्म में बालगंधर्व का किरदार सुबोध भावे ने निभाया था और इस परफॉर्मेंस के लिये उनकी काफी तारीफ हुई थी. इस फिल्म को राष्ट्रीय पुरस्कार भी दिया गया था.


कुछ दूसरी फिल्में भी हैं, जिसमें किरदारों के पोट्रेयल की अक्सर तारीफ की जाती है. हालांकि एक किरदार पर आप गर्व नहीं कर सकते पर उसकी तारीफ फिल्म में रोल निभाने को लेकर की जाती है. यह किरदार है दाऊद का. 2004 में आई अनुराग कश्यप की फिल्म 'ब्लैक फ्राइडे' में दाऊद इब्राहिम का किरदार विजय मौर्या ने निभाया था. बताया जाता है कि इस फिल्म की तैयारी के लिये उन्होंने अपना वज़न आठ किलो बढ़ाया था और साथ ही खुद को रोल के लिये तैयार करने के लिये दाऊद जैसी मूछें रखनी शुरू कर दी थीं.

यह भी पढ़ें : Trivia : बॉलीवुड में इस तरह अपनी जगह बना पाई बिकिनी

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.