पाकिस्तानी शायर फैज अहमद फैज की नज्म पर उठा विवाद तो गुलजार ने कही ये बात

गुलजार.

मशहूर गीतकार गुलजार (Gulzar) ने फैज अहमद फैज (Faiz Ahmed Faiz) की नज्म 'हम देखेंगे' को लेकर बहुत जरूरी बात बताई है.

  • Share this:
    मुंबई. पाकिस्तानी शायर फैज अहमद फैज (Faiz Ahmed Faiz) की नज्म 'हम देखेंगे' इन दिनों विवादो के कटघरे में है. फैज अहमद फैज की इस नज्म को सांप्रदायिक बताया जा रहा है. असल में संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के विरोध में देश भर में पिछले दिनों कई जगहों पर प्रदर्शन कर अपनी असहमति जताई गई थी. इसमें जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों के प्रदर्शन ने ज्यादा तूल पकड़ लिया था. वहां पुलिस ने छात्रों पर कार्रवाई की थी. छात्र-छात्राओं का दावा है कि पुलिस ने यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी और हॉस्टल में जाकर छात्राओं तक की पिटाई की.

    इसके बाद देश के कई शिक्षण संस्थानों में जामिया के छात्रों के समर्थन में विरोध प्रदर्शन होने लगे. आईआईटी कानपुर के छात्रों ने भी 17 दिसंबर को अपने परिसर में प्रदर्शन किया. इस प्रदर्शन में कुछ छात्रों ने फैज की नज्म 'हम देखेंगे' गाया था, जिसके चलते इस नज्म पर विवाद शुरू हो गया. ऐसा कहा जा रहा है कि यह नज्म सांप्रदायिक है. यहां तक कि इस मामले को लेकर कुछ छात्रों ने आईआईटी निदेशक के पास लिखित शिकायत भी की. जिसमें कहा गया कि परिसर में एक कविता पढ़ी गई है और यह नज्म सांप्रदायिक है. इसके चलते एक धर्म विशेष के लोगों की धार्मिक भावना को ठेस पहुंच सकती है. इसके बाद आईआईटी प्रबंधन ने एक समिति का गठन कर इस मामले पर जांच बैठा दी है.

    फैज ने जिया उल हक के जमाने में लिखी थी ये नज्मः गुलजार
    अब इस विवाद पर मशहूर गीतकार गुलजार ने अपनी बात रखते हुए कहा कि फैज साहब पर इल्जाम लगाना गलत है. वह एशिया के सबसे बड़े शायरों में से एक हैं. वह टाइम्स ऑफ पाकिस्तान के एडिटर रह चुके हैं. कम्युनिस्ट पार्टी लीड रह चुके हैं. उस स्तर के शायर, जो प्रोगेसिव मूवमेंट के संस्थापक भी रहे, उस आदमी को महजब के आधार पर इल्जाम देना मुनासिब नहीं लगता. मतलब उन लोगों के लिए गलत है जो ऐसा कर रहे हैं. फैज अहमद फैज को सब जानते हैं और उन्होंने जिया उल हक के जमाने में लिखी. अगर नज्म को आउट ऑफ कॉन्टेस्ट प्लेस कर दें, तो इसमें नज्म पर सवाल नहीं खड़े किए जा सकते. यह गलती उनकी है, जो इस तरह की बात कर रहे हैं. एक कविता, एक शेर या कुछ भी लिखा गया है, उसे एक सही परिपेक्ष्य में देखना जरूरी है.



    यह भी पढ़ेंः सलमान ने पार्टी में टेबल पर चढ़कर किया ऐसा Dance, Viral हो रही हैं तस्‍वीरें

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.