बंगाली एक्टर सौमित्र चटर्जी के स्वास्थ्य में मामूली सुधार, हटाया गया ऑक्सीजन सपोर्ट

बंगाली एक्टर सौमित्र चटर्जी.
बंगाली एक्टर सौमित्र चटर्जी.

विख्यात बंगाली एक्टर सौमित्र चटर्जी (Soumitra Chatterjee) के स्वास्थ्य में रविवार को मामूली सुधार हुआ और अब उन्हें ऑक्सीजन पर रखने की जरूरत नहीं रह गई है. उनका इलाज शहर के एक निजी अस्पताल में चल रहा है.

  • Share this:
कोलकाता. विख्यात बंगाली एक्टर सौमित्र चटर्जी (Soumitra Chatterjee) के स्वास्थ्य में रविवार को मामूली सुधार हुआ और अब उन्हें ऑक्सीजन पर रखने की जरूरत नहीं रह गई है. उनका इलाज शहर के एक निजी अस्पताल में चल रहा है.

अस्पताल के एक डॉक्टर ने बताया कि शनिवार को उन्हें प्लाज्मा थेरेपी दी गई और उनका सीटी स्कैन भी किया गया. डॉक्टर ने बताया, ‘शनिवार को जो उनकी स्थिति थी, उसमें रविवार को सुधार है लेकिन एक्टर अब भी आईटीयू में हैं. हालांकि चटर्जी अब ऑक्सीजन सपोर्ट पर नहीं हैं.’

उन्होंने बताया कि 85 वर्षीय एक्टर के इलाज पर नजर रखने के लिए मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है और बोर्ड ही एक्टर को जरूरत पड़ने पर दूसरी बार प्लाज्मा थेरेपी देने पर निर्णय लेगा. शुक्रवार को एक्टर को आईसीयू में भेजा गया था क्योंकि उन्हें बेचैनी की शिकायत थी. उन्हें मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया था.



इससे पहले शनिवार को डॉक्टर ने बताया था कि, ‘सौमित्र चटर्जी के सोडियम स्तर में सुधार हुआ था लेकिन पोटैशियम स्तर नीचे था. उसमें सुधार की कोशिश हो रही थी. चटर्जी ‘सुस्त, गंभीर रूप से संशय वाली स्थिति में थे और बेचैन’ थे. उनका ऑक्सीजन स्तर सामान्य श्रेणी में लाया गया था, उन्हें बुखार नहीं था लेकिन तब भी वह खतरे वाले दायरे में थे. डॉक्टर उनकी स्थिति पर हर पल नजर रख रहे थे.
एक्टर को बेचैनी की शिकायत के बाद शहर के एक अस्पताल में आईटीयू (गहन थेरेपी कक्ष) में भेजा गया था. इसके साथ ही शुक्रवार को एक्टर एक्यूट कंफ्यूजनल स्टेज (ध्यान भटकने, संशय वाली स्थिति) में भी थे. हालांकि शनिवार से पहले उनकी बेटी पौलोमी बसु (Poulomi Basu) ने बताया था कि स्वास्थ्य मानकों के अनुसार एक्टर की हालत स्थिर है. बसु ने एक बयान में कहा था, ‘मेरे पिता का इलाज कर रहे डॉक्टरों के दल का कहना है कि उनका शरीर स्वास्थ्य मानदंडों के हिसाब से काम कर रहा है और उनकी हालत स्थिर है. उनका रक्तचाप सामान्य है और उन्हें अभी ऑक्सीजन की जरूरत नहीं है.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज