होम /न्यूज /मनोरंजन /Birthday Special: मीरा नायर ने अमिताभ बच्चन-जॉनी डेप को साथ लाने का लिया था प्लान, फिर यूं टूट गया सपना

Birthday Special: मीरा नायर ने अमिताभ बच्चन-जॉनी डेप को साथ लाने का लिया था प्लान, फिर यूं टूट गया सपना

मीरा नायर अपनी फिल्म में अमिताभ बच्चन और जॉनी डेप को लेना चाहती थीं.

मीरा नायर अपनी फिल्म में अमिताभ बच्चन और जॉनी डेप को लेना चाहती थीं.

Happy Birthday Mira Nair: फेमस डायरेक्टर ​मीरा नायर आज अपना जन्मदिन मना रही हैं. फिल्मों को अलग तरह से प्रजेंट करने वाल ...अधिक पढ़ें

    हाइलाइट्स

    मीरा नायर का आज जन्मदिन है.
    मीरा की फिल्म 'शांताराम' हो गई थी बंद.

    मुम्बई.‘कामसूत्र’, ‘सलाम बॉम्बे’, ‘मिससिप्पी मसाला’ और ‘द नेमसेक’ ‘मानसून वेडिंग’, ‘वैनिटी फेयर’  ‘पंगा’ जैसी मूवीज बनाने वाली मीरा नायर (Meera Nayar) का आज जन्मदिन है. 15 अक्टूबर साल  1957  को जन्मीं मीरा नायर आज अपना 65वां जन्मदिन मना रही हैं. प्रख्यात निर्देशक मीरा के जन्मदिन पर हम उनके उस सपने के बारे में बात करेंगे जो अभी तक अधूरा है. उनके उस खास ड्रीम प्रोजेक्ट के बारे में जानेंगे जो अभी भी ठंडे बस्ते में है. वो फिल्म बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन और जॉनी डेप से जुड़ा हुआ है. तो देरी किस बात की चलिए जानते हैं इस बारे में विस्तार से…

    बॉलीवुड की दुनिया में कई बार फिल्म के बनने से पहले ही उस पर काफी चर्चा हो जाती है. कई बार ऐसा भी होता है कि फिल्म बन ही नहीं पाती. ऐसी ही एक फिल्म थी, जिसमें अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) और जॉनी डेप (Johny Depp) साथ काम करने वाले थे. यह फिल्म थी मीरा नायर (Mira Nair) की ‘शांताराम’ (Shantaram), जो एक उपन्यास पर आधारित थी.

    मीरा नायर ने अब तक जितनी भी फिल्में बनाई हैं, वे सभी चर्चा का विषय रही हैं. कहानी को अलग अंदाज में प्रस्तुत करने की उनकी प्रतिभा दर्शकों को अपनी ओर खींचती है. जब वे किसी प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू करती हैं, तब ही से उसकी बातें होने लगती हैं. ऐसा ही प्रोजेक्ट था ‘शांताराम’. मीरा इस प्रोजेक्ट पर काम करने को लेकर काफी उत्साहित थीं. यह एक उपन्यास पर बेस्ड मूवी थी. यह उपन्यास ऑस्ट्रेलिया और भारत में खासा प्रसिद्ध हुआ था. इसमें ग्रेगरी डेविड रॉबर्ट्स नाम के बैंक लुटेरे की कहानी को ​बताया गया था. इस लुटेरे को पकड़ लिया जाता है लेकिन वह चकमा देकर भाग निकलता है और कई जगहों पर होता हुआ मुम्बई पहुंचता है. इसके बाद कई नाटकीय घटनाक्रम उसके जीवन में होते हैं.

    दोस्त की भूमिका में थे अमिताभ
    इस फिल्म को लेकर मीरा की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी थीं. मुख्य किरदार यानी लुटेरे के रोल में उन्होंने जॉनी डेप को फाइनल किया था. वहीं, मुम्बई में लुटेरे को एक दोस्त मिलता है. इस दोस्त की भूमिक के लिए अमिताभ को फाइनल किया गया था. जॉनी ने इस फिल्म के लिए सहर्ष हामी भर दी थी. वे भी मीरा के साथ काम करने के इच्छुक थे. फिल्म के शुरू होने के लिए जनवरी 2008 की डेट निश्चित की गई थी.

    स्क्रिप्ट राइटर की हड़ताल
    जानकारी के अनुसार फिल्म को कुछ समय के लिए होल्ड पर रखा गया क्योंकि हॉलीवुड में स्क्रिप्ट राइटर्स की हड़ताल हो गई थी. इस दौरान जॉनी अपनी अन्य फिल्मों के प्रमोशन में बिजी हो गए. इस फिल्म के शुरू होने का इंतजार बहुत लोग कर रहे थे लेकिन फिल्म से जुड़ी कोई खबर बाहर नहीं आई. इरफान ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि एंजेलिना जॉली और ब्रेड पिट का मुम्बई में शूटिंग का अनुभव अच्छा नहीं रहा था. ऐसे में जॉनी डेप मुम्बई आकर इस फिल्म की शूटिंग नहीं करना चाहते थे.

    खैर, इस फिल्म के शुरू ना होने के पीछे बहुत से कारण गिनाए जाते हैं लेकिन असल कारण अब भी किसी को नहीं पता. हालांकि इस फिल्म के बंद होने पर मीरा काफी दुखी हुई थीं.

    Tags: Amitabh Bachachan

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें