'जिंदगी ना मिलेगी दोबारा' को लेकर अभय देओल के बयान पर फरहान अख्तर ने तोड़ी चुप्पी, कह डाली ये बड़ी बात

'जिंदगी ना मिलेगी दोबारा' को लेकर अभय देओल के बयान पर फरहान अख्तर ने तोड़ी चुप्पी, कह डाली ये बड़ी बात
अभय देओल, फरहान अख्तर (Photo Credit- abhaydeol/faroutakhtar/Instagram)

अभय देओल (Abhay Deol) ने फिल्म 'जिंदगी ना मिलेगी दोबारा' (Zindagi Na Milegi Dobara) से जुड़ा एक ऐसा खुलासा किया था, जिसने सोशल मीडिया (Social Media) पर हलचल मचा दी थी. अब इस बयान पर फरहान अख्तर (Farhan Akhtar) ने चुप्पी तोड़ी है.

  • Share this:
मुंबई. इन दिनों सोशल मीडिया (Social Media) पर नेपोटिज्म (Nepotism) पर जबरदस्त बहस चल रही है. इस दौरान कई स्टार किड्स और फिल्म मेकर्स निशाने पर आए हैं. वहीं इन सबके बीच बीते दिनों अभिनेता अभय देओल (Abhay Deol) ने अपने एक पोस्ट के जरिए सोशल मीडिया पर हलचल मचा दी थी. उन्होंने फिल्म 'जिंदगी मिलेगी ना दोबारा' (Zindagi Na Milegi Dobara) को लेकर खुलासा करते हुए बताया था कि कैसे उन्हें सपोर्टिंग कैरेक्टर बना दिया गया था. उनके इस बयान को लेकर अलग ही बहस चली, वहीं अब इस पूरे मामले पर खुद एक्टर फरहान अख्तर (Farhan Akhtar) ने जवाब दिया है.

जिंदगी ना मिलेगी दोबारा में अभय देओल, ऋतिक रोशन और फरहान अख्तर तीन दोस्तों के किरदार में नजर आए थे. वहीं हाल ही में नेपोटिज्म की बहस के बीच अभय देओल ने इस फिल्म में खुद को सही क्रेडिट नहीं मिलने की बात कही थी. इस पर इंडिया टुडे से बातचीत के दौरान फरहान अख्तर ने कहा है कि 'उन्होंने क्या महसूस किया ये उनका खुद का अनुभव है. मैं इसे लेकर ज्यादा कुछ नहीं कह सकता. मेरा मानना है कि अगर आपको हमेशा दूसरों की वैलिडेशन चाहिए तो, आपके हाथ निराशा ही लगेगी. खुद पर भरोसा रखें और अपने काम से प्यार करें'.

बता दें कि कुछ समय पहले ही अभय देओल ने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट पर एक पोस्ट शेयर करते हिए कहा था कि - 'मेरी ये फिल्म हिट हुई फिर भी लगभग सभी अवार्ड समारोह ने मुझे और फरहान को मेन लीड्स से डिमोट किया और हमें ‘सपोर्टिंग एक्टर्स’ के रूप में नामांकित किया. ऋतिक और कैटरीना को एक ‘एक्टर्स इन ए लीडिंग रोल’ के रूप में नामित किया गया था. फिल्म इंडस्ट्री का तर्क था कि, ये एक आदमी और एक महिला के प्यार में पड़ने वाली फिल्म थी, जिसमें पुरुष के दोस्त उसे हौंसला देते हैं'.



ये भी पढ़ें- मुकेश भट्ट ने 'सड़क 2' को लेकर मजबूरी में लिया ये फैसला, बोले- कोई और रास्ता नहीं था



उन्होंने कहा था कि- 'ऐसे कई गुप्त और ओपेन तरीके हैं जिनसे लोग फिल्म इंडस्ट्री में आपके खिलाफ पैरवी करते हैं. इस मामले में ये इंडस्ट्री बेशर्म है. मैंने बेशक पुरस्कारों का बहिष्कार किया लेकिन फरहान इसके साथ ठीक थे. उन्होंने अपने इस नोट के अंत में व्यंग्य के रूप में लिखा है – ‘फैमिलीफेयरवार्ड्स’. इस एक शब्द में अभय देओल ने बहुत कुछ कह दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading