• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • FILM REVIEW-हीरोइन के चक्कर में 'मुन्ना माइकल' को भूल गए डायरेक्टर

FILM REVIEW-हीरोइन के चक्कर में 'मुन्ना माइकल' को भूल गए डायरेक्टर

Film Review_कैसी है मुन्ना माइकल ?

Film Review_कैसी है मुन्ना माइकल ?

  • Share this:
कहानी -आधा स्टार

एक्टिंग-1 स्टार

डांस-आधा स्टार

कुल- 2 स्टार


'मुन्ना माइकल', एक ऐसे लड़के की कहानी जो डांस के लिए पैदा हुआ. बचपन से जवानी तक उसका एक ही सपना है कि उसे डांसर बनना है. लेकिन हीरोइन की एंट्री के बाद डायरेक्टर भूल गए कि फिल्म का नाम 'मुन्ना माइकल' है ना कि 'डॉली माइकल'. बता दें कि डॉली फिल्म की हीरोइन निधि अग्रवाल का नाम है.


इसे आप कहानी का एक शॉर्ट इंट्रो समझ सकते हैं. फिल्म की शुरुआत होती है रॉनित रॉय से जो डांसर बनना चाहते हैं. लेकिन बढ़ती उम्र की वजह से उन्हें रिजेक्ट कर दिया जाता है. अपनी नाकामी का बोझ उठाए वो घर की तरफ जा ही रहे होते हैं कि उन्हें सड़क पर एक बच्चा मिलता है. अकेले बच्चे को रोता देख वो उसे घर ले जाते हैं. मुन्ना डांस करते-करते बड़ा होता है और उसका सपना एक प्रोफेश्नल डांसर बनना है. लेकिन पिता नहीं चाहते कि उनका बेटा उनकी तरह डांसर बने. वह अपने बेटे को कॉर्पोरेट जॉब में देखना चाहते हैं.


मुन्ना पैसा कमाने के लिए अपने दोस्तों के साथ क्लब में जाता है और अच्छा डांस करने की शर्त लगा कर पैसे कमाता है. यहां तक फिल्म एक डांस शो की तरह लगती है. क्योंकि शुरुआत में एक बाद एक फिल्म में डांस ही देखने को मिलता है. लेकिन एक दिन एक झगड़े की वजह से मुंबई के हर क्लब में टाइगर यानी मुन्ना के लिए नो एंट्री का बोर्ड लग जाता है.




मुंबई में ये सब देख मुन्ना दिल्ली पहुंचता और यहां क्लब में दिल्ली के 'भाई' के भाई से पंगा ले बैठता है. ये 'भाई' कोई और नहीं बल्कि नवाजुद्दीन सिद्दीकी हैं. नवाज की एंट्री के बाद टाइगर और उनकी बॉन्डिंग देखने लायक है. ये दोनों फिल्म में कुछ मस्ती लेकर आते हैं. फिल्म  के फर्स्ट हाफ में खुलासा होता है कि आखिर 'भाई' को डांस सीखना क्यों है. ये हम आपको यहां नहीं बता सकते.

Film review_Mumma michael
सिर्फ डांस के लिए देखी जा सकती है मुन्ना माइकल




फिल्म की हीरोइन की बात करें तो वह भी एक डांसर है. लेकिन अपने खर्च पूरे करने के लिए एक क्लब में डांस करती है. हीरोइन यानी 'डॉली' की एंट्री देखकर आपको साल 2013 आई फिल्म  'हैप्पी न्यू ईयर' में दीपिका पादुकोण की एंट्री याद आ जाएगी. लेकिन यकीन मानिए दीपिका ने बेहतरीन डांस किया था. फिल्म की एक्ट्रेस निधि अग्रवाल को कहानी में फिट करने के चक्कर में डायरेक्टर सबीर खान शायद फिल्म का  टाइटल ही भूल गए. फिल्म का फर्स्ट हाफ अच्छा है. अगर टाइगर की डांस परफॉर्मेंस के साथ फिल्म वहां भी खत्म कर दी जाती तो इतना अटपटा नहीं लगता.


फिल्म का सेकेंड हाफ थोड़ा लंबा लगता है. एक जगह पर बेवजह एक रोमांटिक गाना भी घुसा दिया गया है. उसे बीच में बैग्राउंड में इस्तेमाल किया जाता तो फिल्म थोड़ी और छोटी हो सकती थी. फिल्म की कहानी को अगर स्टार देने की बात हो तो इसे आधा स्टार देना कुछ गलत नहीं होगा. क्योंकि कहानी में कुछ नया नहीं था.



एक्टिंग की बात की जाए तो टाइगर श्रॉफ ने अच्छा काम किया है. उनका डांस, उनका एक्शन सब कुछ अच्छा था. नवाजुद्दीन हमेशा की तरह शानदार हैं. बता दें कि इस फिल्म में नवाज  केवल डांस ही नहीं बल्कि उछल-उछल कर एक्शन सीन करते भी दिखेंगे. इस फिल्म से डेब्यू कर रहीं निधि अग्रवाल की परफॉर्मेंस एवरेज है. टाइगर और नवाज की परफॉर्मेंस और दोनों के मजेदार डांस के लिए इन्हें एक स्टार देना शायद ज्यादा नहीं होगा.


अगर कुल मिला कर देखा जाए तो 'मुन्ना माइकल' एक एवरेज फिल्म है. हां बच्चे इसे जरूर इंजॉय करेंगे क्योंकि इसमें उन्हें डांस और कॉमेडी पसंद आएगी. इसके अलावा एक और बात ये कि शायद अभी तक टाइगर के दिमाग से 'फ्लाइंग जट्ट' का फीवर नहीं उतरा है. इस फिल्म में भी वह हवा में उछलते और रस्सियों के सहारे हीरोइन की मदद करते दिखेंगे. फिल्म के आखिर में टाइगर  की  'माइकल जैक्सन' वाली परफॉर्मेंस के लिए उन्हें आधा स्टार एक्स्ट्रा दिया जा सकता है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज