• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • BOLLYWOOD FILMMAKER ANURAG KASHYAP UNDERGOES ANGIOPLASTY AFTER MILD CHEST PAIN CONDITION STABLE SS

अनुराग कश्यप ने सीने में दर्द के बाद कराई एंजियोप्लास्टी, तबीयत में अब है सुधार

अनुराग कश्यप की सेहत में सुधार हो रहा है. फाइल फोटो

अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) को पिछले हफ्ते सीने में दर्द होने के बाद अस्पताल में भर्ती करवाया गया था .चेकअप के बाद ये साफ हुआ कि उनके हार्ट में ब्लॉकेज (Blockage in heart) है, जिसके बाद उन्होंने डॉक्टर्स की राय पर एंजियोप्लास्टी (Angioplast) करवाई है.

  • Share this:
    मुंबई. फिल्ममेकर अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) की सेहत को लेकर एक बड़ी खबर आ रही हैं. खबर है कि सीने में दर्द (Chest Pain) होने के बाद उन्हें मुंबई के अंधेरी स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां चेकअप के बाद ये साफ हुआ कि उनके हार्ट में ब्लॉकेज (Blockage in heart) है. डॉक्टर्स की राय पर उन्होंने फिर एंजियोप्लास्टी (Angioplast) करवाई. उनके स्वास्थ्य में अब सुधार है.

    अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) के प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की है. मिड डे से बात करते हुए उन्होंने बताया कि अनुराग कश्यप की सेहत में अब सुधार है. उन्होंने बताया कि पिछले हफ्ते सीने में दर्द होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था.

    अनुराग कश्यप के प्रवक्ता बताया कि वह अब ठीक हो रहे हैं. अनुराग कश्यप मार्च महीने‌ में अपनी अगली फिल्म 'दोबारा' की शूटिंग पूरी कर चुके हैं. एंजियोप्लास्टी से पहले वह घर से ही फिल्म के पोस्ट प्रोडक्शन का काम कर रहे थे लेकिन डॉक्टरों ने‌ उन्हें फिर से काम पर लौटने से पहले कम से कम एक हफ्ते तक आराम करने की सलाह दी है.

    इस फिल्म में तापसी के साथ पवेल गुलाटी लीड रोल में नजर आएंगे. इस साई-फाई थ्रिलर फिल्म की शूटिंग इस साल मार्च में खत्म हो गई थी. अनुराग और तापसी इससे पहले फिल्म मनमर्जियां में साथ में काम कर चुके हैं.

    आपको बता दें कि मार्च महीने में फिल्ममेकर अनुराग कश्यप और एक्ट्रेस तापसी पन्नू के घर आईटी रेड पड़ी थी, जिसको लेकर वह सुर्खियों में रहे थे. दोनों के मुंबई और पुणे स्थित ठिकानों पर छापेमारी की गई थी. पुणे के एक होटल में अनुराग कश्यप का बयान भी दर्ज किया गया था. जिस दौरान उनके फोन को जब्त कर लिया गया था. इतना ही नहीं अनुराग के लैपटॉप  और फोन को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया था.
    Published by:Shikha Pandey
    First published: