Bday Special: 52 साल के हुए मधुर भंडारकर, बार डांसरों ने बदली फिल्ममेकर की जिंदगी

Bday Special: 52 साल के हुए मधुर भंडारकर, बार डांसरों ने बदली फिल्ममेकर की जिंदगी
मधुर भंडारकर

बॉलीवुड को 'फैशन', 'पेज 3' और 'हीरोइन' जैसी हिट फिल्में देने वाले मधुर भंडारकर (Madhur Bhandarkar) आज यानी 26 अगस्त को अपना 52वां जन्मदिन मना रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2020, 6:43 AM IST
  • Share this:
मुंबई. बॉलीवुड को 'फैशन', 'पेज 3' और 'हीरोइन' जैसी हिट फिल्में देने वाले मधुर भंडारकर (Madhur Bhandarkar) आज यानी 26 अगस्त को अपना 52वां जन्मदिन मना रहे हैं. उनका जन्म 26 अगस्त 1968 को मुंबई में हुआ था. मायानगरी में पैदा हुए मधुर भंडारकर का संघर्ष और कामयाबी भी किसी हिंदी फिल्म की पटकथा जैसी ही है. मधुर के पिता बिजली कॉन्ट्रैक्टर थे. मां घरेलू महिला. आज भी मधुर को बुरे वक्त में रोटी में नमक और प्याज को 'रोल' करके खाना याद है.

किसी फिल्म की कहानी की तरह है भंडारकर की असल जिंदगी
बचपन के संघर्ष को याद करते हुए मधुर खुद बताते हैं, ''मेरे पिता जी बिजली के कॉन्ट्रैक्टर थे. परिवार की आर्थिक स्थिति बिल्कुल भी अच्छी नहीं थी. मेरे पिता जी का काम कभी चलता था, कभी नहीं. लिहाजा पैसे कभी आते थे, कभी नहीं. हम लोग ग्राउंड फ्लोर पर रहते थे. मुझे अपने बचपन के वो दिन बिल्कुल अच्छी तरह याद हैं कि जब पिता जी के घर में घुसने पर उनकी चाल से, उनकी बॉडी लैंग्वेज से हमें ये पता चल जाता था कि आज हम लोगों को खाना मिलेगा या नहीं. पिता जी की चाल में अगर जोश है तो इसका मतलब कि आज उनके पास पैसे आए हैं. कभी कभी पिता जी की चाल से पता चल जाता था कि आज उन्हें पैसे नहीं मिले हैं. ऐसी रातों को हम रोटी में नमक और प्याज को ‘रोल’ करके खा लेते थे. हमने ऐसे भी दिन देखे हैं.''

बार डांसरों ने बदली जिंदगी
फिल्म इंडस्ट्री में मिली शुरुआती असफलता से मधुर टूट चुके थे. स्टॉक मार्केट में काम करने वाले एक दोस्त उनकी कभी कभार मदद भी किया करते थे. एक रोज वो मधुर को लेकर डांस बार गए. मधुर उस रात को याद करके कहते हैं कि वो उस वक्त बहुत 'इम्बैरेस फील' कर रहे थे. वहां लड़कियां शिफॉन की साड़ी पहनकर, घाघरा चोली पहनकर नाच रही थीं. मधुर ने अपने दोस्त से वहां से निकलने की बात कही. मधुर को इस बात का डर था कि कहीं किसी ने उन्हें पहचान लिया तो कहेगा कि फिल्म की नाकामी भुलाने के लिए वो शराबखाने आए हैं. उस रात तो मधुर जल्दी आ गए लेकिन वो 'दृश्य' उनकी आंख में डूबते रहे. अगले दिन उन्होंने अपने दोस्त से खुद ही कहा कि डांस बार चलना है. दोस्त को लगा कि मधुर को कोई लड़की पसंद आ गई है. ऐसा करते-करते मधुर कई बार डांस बार गए. कुल मिलाकर मधुर करीब 60 डांस बार में गए. लोगों से मिले. कई बार वो मेकअप रूम में चले जाते थे, जब कोई उनसे पूछता था तो वो बताते थे कि वो एक लेखक हैं और किताब लिख रहे हैं.



धीरे-धीरे कई लड़कियों की कहानियों का भंडार आ गया और फिर वो फिल्म बनी जिसने मधुर भंडारकर की जिंदगी को बदल दिया. वो फिल्म थी चांदनी बार. इसके बाद मधुर ने पीछे मुड़कर नहीं देखा. पेज थ्री, फैशन, कॉरपोरेट जैसी फिल्मों को लोगों ने बहुत सराहा. उन्हें नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया, पद्मश्री से भी सम्मानित किया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज