होम /न्यूज /मनोरंजन /HBD: 33 साल के हुए राजबब्बर के बेटे प्रतीक बब्बर, ड्रग्स की लत को दे चुके हैं मात

HBD: 33 साल के हुए राजबब्बर के बेटे प्रतीक बब्बर, ड्रग्स की लत को दे चुके हैं मात

बॉलीवुड एक्टर राज बब्बर.

बॉलीवुड एक्टर राज बब्बर.

वेटरन एक्टर और कांग्रेस नेता राज बब्बर (Raj Babbar) और एक्ट्रेस स्मिता पाटिल (Smita Patil) के बेटे प्रतीक बब्बर (Pratei ...अधिक पढ़ें

    मुंबई. फिल्म 'जाने तू या जाने ना' से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत करने वाले प्रतीक बब्बर (Prateik Babbar) आज अपना 34वां बर्थडे मना रहे हैं. वे बॉलीवुड के वेटरन एक्टर और कांग्रेस नेता राज बब्बर (Raj Babbar) और एक्ट्रेस स्मिता पाटिल (Smita Patil) के बेटे हैं. उनका जन्म 28 नंवबर 1986 को मुंबई में हुआ था. उन्होंने जनवरी 2019 में सान्या शंकर से शादी की थी.

    प्रतीक अब अपनी ड्रग्स की लत के बारे में खुलकर बातचीत करने लगे हैं. हालांकि अब वे ड्रग्स की लत से लगभग उबर चुके हैं. पिछले साल एक अखबार को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि किस तरह वे अपनी इस बुरी लत से छुटकारा पा रहे हैं. प्रतीक ने बताया था कि, उन्होंने अपनी मर्जी से ड्रग्स लेना शुरू किया था. उन्हें किसी ने इसके लिए मजबूर नहीं किया था. ड्रग्स की लत एक खराब शादी की तरह है, यदि आप इससे बाहर आ भी जाएं तो भी ये आपको डराती है.

    प्रतीक ने बताया कि, ड्रग्स की लत से उबर कर वे खुशी महसूस कर रहे हैं और अपनी फिटनेस और फिल्मों पर ध्यान दे रहे हैं. प्रतीक ने आगे कहा कि, शायद लोगों को लगता है कि बॉलीवुड सेलेब्स में नशे की लत होना सामान्य बात है, लेकिन मेरे साथ ऐसा नही है. मेरे उलझन भरे बचपन के कारण मुझे यह लत लगी. जिन सवालों का मुझे कभी जवाब नहीं मिला, उनसे बचने के लिए मैंने ड्रग्स का सहारा लिया.









    View this post on Instagram






    A post shared by prateik babbar (@_prat)






    बचपन में अपनी मां के निधन के बाद से प्रतीक अपने पिता से बहुत नाराज रहते थे, इसलिए वे अपने पिता का साथ छोड़कर नानी के घर रहने चले गए. इसी नाराजगी और अकेलेपन ने उन्हें ड्रग्स के चंगुल में जकड़ लिया. एक बार तो उन्होंने इतनी ड्रग्स ले ली थी कि बड़ी मुश्किल से उनकी जान बची. ड्रग्स की लत को छुड़ाने के लिए उन्हें दो बार रीहैबिलिटेशन सेंटर भेजा गया था.

    Tags: Prateik Babbar, Prateik Babbar birthday, Raj babbar

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें