होम /न्यूज /मनोरंजन /अफगानिस्तान की हालत देख छलका हेमा मालिनी का दर्द, ‘धर्मात्मा’ फिल्म के शूटिंग की आई याद

अफगानिस्तान की हालत देख छलका हेमा मालिनी का दर्द, ‘धर्मात्मा’ फिल्म के शूटिंग की आई याद

अफगानिस्तान में शूट होने वाली पहली फिल्म है 'धर्मात्मा'. फोटो साभार: Hema Malini/twitter/dreamgirlhemamalini/Instagram)

अफगानिस्तान में शूट होने वाली पहली फिल्म है 'धर्मात्मा'. फोटो साभार: Hema Malini/twitter/dreamgirlhemamalini/Instagram)

फिरोज खान (Feroz Khan) की फिल्म ‘धर्मात्मा’ (Dharmatma) बॉलीवुड की पहली फिल्म थी जिसकी शूटिंग काबुल (Kabul) में हुई थी. ...अधिक पढ़ें

    मुंबई: आखिरकार 4 करोड़ की आबादी वाला अफगानिस्तान (Afghanistan) तालीबान (Taliban) के कब्जे में आ गया. ऐसे समय में हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के लोगों को वहां की दुर्दशा देख दु:ख हो रहा है. कई बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग अफगानिस्तान में हुई है लेकिन हिंदी सिनेमा के इतिहास में फिरोज खान (Feroz Khan) पहले एक्टर-प्रोड्यूसर थे जो बॉलीवुड को काबुल तक ले गए. फिरोज खान ने अपनी फिल्म ‘धर्मात्मा’ (Dharmatma) में हेमा की खूबसूरती के साथ काबुल की खूबसूरत फिजाओं को पहली बार पर्दे पर उकेरा था. हिंदी फिल्म इंडस्ट्री की दिग्गज अदाकारा हेमा मालिनी (Hema Malini) पर फिल्माया गया गाना ‘क्या खूब लगती हो’ आज भी उतना ही पॉपुलर है जितना सन 1974 में था.  हेमा इस समय अफगानिस्तान की हालत देख परेशान हो रहीं हैं उन्होंने ट्वीट कर पुराने दिनों को याद किया.

    हेमा मालिनी टेलीविजन पर काबुल से आ रही तस्वीरों को देखकर परेशान हो रही हैं. इस समय उन्हें 1974 में बनी फिल्म ‘धर्मात्मा’ की शूटिंग की खूबसूरत यादें सामने आ रही हैं. वह कहती हैं- ‘ वहां के हालात देखकर बहुत दुख हो रहा है कि क्या हो रहा है और लोगों को देश छोड़ भागने की कोशिश करते हुए देखना बहुत दुखद है. हवाई अड्डे पर पागलों की तरह भीड़ पहुंच रही जो बेहद डरावना है’.

    ‘धर्मात्मा’ पहली थ्रिलर फिल्म थी जिसे काबुल में फिल्माया गया था, फिरोज खान ने एक ऐसे गैंगेस्टर का रोल प्ले किया था जिसे एक जिप्सी लड़की से प्यार हो जाता है. इस रोल को हेमा मलिनी ने प्ले किया था. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो फिरोज  की एक झलक पाने के लिए काबुल के इंटरकांटिनेंटल होटल के बाहर अफगानी लोगों की भीड़ इकट्ठी हो जाती थी. हेमा मालिनी पुराने दिनों को याद करते हुए बताती हैं कि ‘जिस काबुल को मैं जानती हूं बहुत ही खूबसूरत था और मेरा एक्सपीरिएंस भी बहुत अच्छा था. जब हम काबुल एयरपोर्ट पर उतरें जो उस समय मुंबई एयरपोर्ट जितना ही था. हम पास के ही एक होटल में रुके थे. लेकिन बामियान और बंद-ए-आमिर जैसी लोकेशन पर शूटिंग के लिए गए और लौटते समय हमने लंबे कुर्ते और दाढ़ी वाले लोगों को देखा था जो तालिबानी जैसे लगते थे’.

    हेमा मालिनी ने फिल्म ‘धर्मात्मा’ की पोस्टर शेयर कर शूटिंग के दिनों को याद करते हुए ट्वीट किया है. हेमा ने लिखा है कि- खुशहाल, शांतिप्रिय देश अफगानिस्तान में जो हो रहा है बेहद दुखद है. अफगानिस्तान में ‘धर्मात्मा’ के समय की अच्छी यादें हैं. मैंने एक जिप्सी लड़की का रोल प्ले किया था और मेरे हिस्से का पूरा शूट वहीं हुआ था. मेरे पैरेंट्स भी मेरे साथ थे, हमने अच्छा समय बिताया था और फिरोज खान ने हमारी अच्छी देखभाल की थी’.

    News18 Hindi

    (साभार:Hema Malini/twitter)

    ये भी पढ़िए-Kabul Express: कबीर खान के पास जब हीरो-स्क्रिप्ट सब था तैयार, नहीं मिल रहे थे प्रोड्यूसर

    हेमा मालिनी ने पुराने दिनों को याद करते हुए बताया कि ‘अफगानिस्तान ट्रैवेल करने में किसी तरह का डर नहीं था. उस समय कोई समस्या नहीं थी, बहुत शांति थी. फिरोज खान की अगुवाई में अच्छी तरह से शूटिंग हुई थी. वहां के नागरिकों के लिए अब हेमा को चिंता सता रही है. कहती हैं कि ‘पता नहीं तालिबानी क्या करने जा रहे हैं. उस देश की जनता के साथ क्या होगा. दूसरे देशों को तुरंत मदद के लिए आगे आना चाहिए’.

    Tags: Afghanistan Crisis, Film industry, Hema malini, Kabul

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें