Home /News /entertainment /

संजय सूरी ने कहा- फिल्म इंडस्ट्री में बढ़ती बाल मजदूरी को रोकना जरुरी

संजय सूरी ने कहा- फिल्म इंडस्ट्री में बढ़ती बाल मजदूरी को रोकना जरुरी

संजय सूरी ने कहा- फिल्म इंडस्ट्री में बढ़ती बाल मजदूरी को रोकना जरुरी

संजय सूरी ने कहा- फिल्म इंडस्ट्री में बढ़ती बाल मजदूरी को रोकना जरुरी

बॉलीवुड एक्टर संजय सूरी ने बाल मजदूरी जैसे गंभीर मुद्दे पर बातचीत करते हुए कहा कि मैं दिल्ली में रहा हूं. वहां अक्सर नार्थ में मैंने लोगों को छोटे-छोटे बच्चों से काम कराते हुए देखा है. हालांकि अब यह आंकड़ा थोड़ा कम हुआ है. लेकिन पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :
मुंबई. बाल-मजदूरी को लेकर देशभर में कई मुहीम चल रही है. सरकार के साथ साथ कई संस्थाए लगातार बाल-मजदूरी हटाने के लिए काम कर रही है. इसके बाबजूद उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश के आलावा और कई जगह बाल मजदूरी के आकड़े कम जरूर हुए है, लेकिन अभी तक बाल-मजदूरी जड़ से पूरी तरह खत्म नहीं हुई. बाल-मजदूरी जैसे सेंसिटिव मुद्दे पर कई फिल्में भी बनी, ताकि लोगों में जागरूकता बढे. इस मुद्दे पर अब हाल ही में एक और फिल्म 'झलकी' जल्द रिलीज होने वाली है. यह फिल्म कैलाश सत्यार्थी की मुहीम पर आधारित है. बता दें कि कैलाश सत्यार्थी को नोबेल अवार्ड से नवाजा जा चुका है.

बॉलीवुड एक्टर संजय सूरी ने बाल मजदूरी जैसे गंभीर मुद्दे पर बातचीत करते हुए कहा कि मैं दिल्ली में रहा हूं. वहां अक्सर नार्थ में मैंने लोगों को छोटे-छोटे बच्चों से काम कराते हुए देखा है. हालांकि अब यह आंकड़ा थोड़ा कम हुआ है. लेकिन पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है. वैसे सरकार लगातार अभी भी इस समस्या पर काम कर रही है. संजय बातचीत को आगे बढ़ाते हुए कहते हैं कि फिल्म और टेलीविजन इंडस्ट्री में जो छोटे-छोटे बच्चे काम कर रहे हैं. इन बच्चों से लम्बी-लम्बी शिफ्ट में काम कराया जाता है. यह भी गलत है. इस वजह से इन बच्चों की पढाई-लिखाई पर काफी प्रभावित होता है. इन बच्चों के पेरेंट्स को इस बात को गंभीरता से लेना चाहिए और बच्चों से इस कदर लंबी शिफ्ट में काम नहीं कराना चाहिए और इंडस्ट्री में भी बच्चों की शिफ्ट को लेकर एक गाइडलाइन बननी चाहिए.

फिल्म इंडस्ट्री में बढ़ती बाल- मजदूरी और स्टार्स की चुप्पी के सवाल पर बात करते हुए एक्टर संजय सूरी कहते है कि इसमें स्टार्स और इंडस्ट्री से जुड़े लोग समर्थन तब करेंगे, जब बच्चों के पेरेंट्स इस पर रिएक्ट करेंगे. सबसे पहले अपने बच्चों से कितने घंटे काम कराना है या नहीं कराना है, इस पर इंडस्ट्री में काम कर रहे बच्चों के पेरेंट्स को ही पहले कदम उठाना होगा और अगर पेरेंट्स ने आगे आकर यह कदम उठाया तो फिल्म इंडस्ट्री के लोग भी उन्हें समर्थन करेंगे. इस तरह फिल्म इंडस्ट्री में बढ़ती बाल-मजदूरी पर भी लगाम लगेगी.

बता दें कि संजय सूरी जल्द ही फिल्म 'झलकी' में पर्दे पर नजर आएंगे फिल्म में संजय के अलावा अभिनेत्री तनिष्ठा चटर्जी, दिव्या दत्ता और बोमेन ईरानी भी अहम किरदार में नजर आएंगे. फिल्म बॉक्स ऑफिस पर 27 सितम्बर को दस्तक देगी. फिल्म बाल मजदूरी और बाल-तस्करी जैसे सेंसिटिव मुद्दे पर बनी है. बच्चों में जागरूकता फैलाने के लिहाज से देश भर के कई स्कूलों में इस फिल्म की स्क्रीनिंग रखी जाएगी. संजय सूरी ने इस फिल्म को सरकार से टैक्स फ्री करने की अपील भी की है.

Tags: Bollywood

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर