Home /News /entertainment /

जैकी श्रॉफ जब अपने डूबते भाई को बचा नहीं पाए, जग्गू दादा के सामने ही तोड़ दिया था दम !

जैकी श्रॉफ जब अपने डूबते भाई को बचा नहीं पाए, जग्गू दादा के सामने ही तोड़ दिया था दम !

जैकी श्रॉफ आज भी सबकी मदद के लिए तैयार रहते हैं. (फोटो साभार: apnabhidu/Instagram)

जैकी श्रॉफ आज भी सबकी मदद के लिए तैयार रहते हैं. (फोटो साभार: apnabhidu/Instagram)

‘हीरो’ (Hero), ‘राम लखन’(Ram Lakhan), ‘कर्मा’, ‘सौदागर’, ‘त्रिमूर्ति’, ‘रंगीला’ जैसी 200 से अधिक फिल्मों में काम करने वाले जैकी का फेवरेट डायलॉग भिड़ू है. आज भले ही जैकी करोड़पति हो गए हैं लेकिन उनका अंदाज आज भी खांटी मुंबईया है और अपनी जड़ों से जुड़े हुए हैं. जयकिशन काकूभाई श्रॉफ के जग्गू दादा और फिर फिल्मी दुनिया के सुपरस्टार जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff) बनने के पीछे एक लंबी संघर्ष से भरी कहानी है.

अधिक पढ़ें ...

जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff) एक ऐसे एक्टर हैं जिन्हें लोग फिल्मों के साथ-साथ एक नेकदिल  इंसान के तौर पर जानते और पसंद करते हैं. जैकी की जिंदगी की कहानी किसी बॉलीवुड की मसाला फिल्म से कम नहीं है. बॉलीवुड के फेमस स्टार जैकी श्रॉफ के हीरो बनने की कहानी बिलकुल फिल्मी है. जयकिशन काकूभाई श्रॉफ का चाहे बचपन रहा हो या फिर जग्गू दादा की जिंदगी या फिर शादी, सब ऐसा लगता है कि विधाता ने किसी से स्क्रिप्ट लिखवाई है. गरीबी में  बचपन गुजारने वाले  जैकी मुंबई की एक चॉल में रहते थे और अपने मोहल्ले के लोगों की मदद के लिए तैयार रहते थे. इसलिए वह जग्गू दादा के रूप में मशहूर थे, लेकिन जग्गू दादा बनने के पीछे की कहानी बेहद दर्दनाक है.

जैकी श्रॉफ के भाई थे चॉल के असली दादा
किसी की जिंदगी में इतना उतार-चढ़ाव आ सकता है, इसे जानना-समझना हो तो जैकी श्रॉफ की जिंदगी से बेहतर उदाहरण नहीं मिल सकता. जैकी श्रॉफ के परिवार की माली हालत अच्छी नहीं थी, इसलिए पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ गई थी. जयकिशन काकूभाई यूं ही जग्गू दादा नहीं बन गया, इसके पीछे एक इमोशनल कहानी है. जैकी ने मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में खुद बताया था कि उनके एक बड़े भाई थे जो काफी संवेदनशील इंसान थे. असल में चॉल का दादा वही था. भाई चॉल में रहने वालों के लिए मसीहा थे. सबकी मदद के लिए तैयार रहने वाले जैकी के भाई के साथ एक दुर्घटना हो गई और वह भी उनकी आंखों के सामने.

जैकी श्रॉफ की आंखों के सामने डूब गया भाई!
जैकी श्रॉफ करीब 10 साल के रहे होंगे, दोनों भाई मुंबई में समंदर के किनारे घूम रहे थे. तभी उनके भाई की नजर एक व्यक्ति पर पड़ी जो डूब रहा था और मदद के लिए चिल्ला रहा था. उसे डूबता देख नेक दिल जैकी के भाई को खुद तैरना नहीं आता था, फिर भी उसे बचाने के लिए पानी में कूद गए. ऐसे में भाई भी डूबने लगे, भाई को डूबता देख जैकी ने एक केबल का तार उनकी तरफ फेंका लेकिन भाई को बचा नहीं पाए और उनके देखते ही देखते समंदर में डूब गए. भाई की मौत ने जयकिशन को बुरी तरह तोड़ दिया और फिर इस बच्चे ने तय किया कि भाई की जगह बस्ती में भलाई का काम अब वह खुद करेंगे, इस तरह जयकिशन जग्गू दादा बन गया.

बॉलीवुड में सफलता के झंडे गाड़ दिए
जैकी श्रॉफ नाम तो उन्हें बॉलीवुड में मिला. देव आनंद ने सबसे पहले फिल्मों में काम दिया था. इसके बाद उन्हें सुभाष घई की फिल्म ‘हीरो’ में काम करने का मौका मिला. ‘हीरो’ की जबरदस्त सफलता के बाद जयकिशन श्रॉफ से सुपरस्टार जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff) बन गए.  जैकी के करियर ने ऐसी रफ्तार पकड़ी की सब हीरो देखते रह गए. उन पर पैसे की बरसात होने लगी. जैकी आज भी अपने बचपन और संघर्ष के दिनों को भूले नहीं है. आज भी लोगों की मदद के लिए तैयार रहते हैं.

ये भी पढ़िए-33 Years Of Ram Lakhan: ‘राम लखन’ की एक्ट्रेस ने जब काट ली अपनी नस, सुभाष घई की जान पर आ गई थी आफत!

‘हीरो’, ‘राम लखन’, ‘कर्मा’, ‘सौदागर’, ‘त्रिमूर्ति’, ‘रंगीला’ जैसी 200 से अधिक फिल्मों में काम करने वाले जैकी का फेवरेट डायलॉग भिड़ू है. आज भले ही जैकी करोड़पति हो गए हैं लेकिन उनका अंदाज आज खांटी मुंबईया है.

Tags: Jackie Shroff, Tiger Shroff

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर