लाइव टीवी

जावेद अख्तर ने कहा- अब शाहीन बाग और जामिया छोड़ दो, सलमान खुर्शीद ने शेयर किया वीडियो

News18Hindi
Updated: March 22, 2020, 2:11 AM IST
जावेद अख्तर ने कहा- अब शाहीन बाग और जामिया छोड़ दो, सलमान खुर्शीद ने शेयर किया वीडियो
जावेद अख्तर

गीतकार जावेद अख्तर (Javed Akhtar) ने दिल्ली के शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ बैठी औरतों और जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के गेट नंबर सात पर बैठे युवाओं से वहां हटने की अपील की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2020, 2:11 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. संशोधित नागरिका कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में धरने पर बैठी महिलाओं और जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के गेट नंबर सात पर युवाओं को वहां से हटाने को लेकर कई तरह की कवायद चल रही है. असल में देशभर में कोराना वायरस का कहर टूटा हुआ है. ज्यादातर लोगों से घरों में रहने की अपील की जा रही है. ऐसे में इन प्रदर्शनकारियों को वहां से हटाकर उनके घर भेजे जाने को लेकर अपील की जा रही है. इसमें सबसे प्रभावशाली और नामी हस्ती मशहूर गीतकार व पटकथा लेखक जावेद अख्तर ने भी एक वीडियो मैसेज के जरिए उन्हें वहां से हटने को कहा है.

इस वीडियो को वरिष्ठ अध‌िवक्ता व कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है. इस वीडियो में जावेद अख्तर यह कहते सुने जा रहे हैं कि देश में कई मर्तबा बड़े-बड़े दुश्मनों ने हमला किया है. लेकिन हर बार देश की कौम ने उन्हें धूल चटा दी है. कई बार सीमा पर जवान आगे रहे हैं लेकिन उस दौरान देश की कौम पीछे से उनके साथ खड़ी रही है. लेकिन इस बार जो दुश्मन हमारे सामने है उसका सामना हमें अपने घरों में रहकर ही करना है. ऐसे में जो भी युवा और महिलाएं अपनी मांगों के साथ धरने पर बैठी हैं, उन्हें उठ जाना चाहिए. हालांकि उनकी मांगे जायज हैं. लेकिन उन्हें इस विकट घड़ी में अपने घर जाना चाहिए.

इस वीडियो को शेयर करते हुए सलमान खुर्शीद लिखते हैं मानवता के नाम पर एक सच्चे दोस्त की ओर से बोले गए शब्द. हालांकि इस मैसेज पर भी ट्विटर पर लोगों ने नकारात्मक कमेंट ही किए हैं. ज्यादातर लोगों ने जावेद अख्तर को मांगों को जायज बताने को लेकर कोसा है.



'जनता कर्फ्यू' के दिन भी शाहीन बाग की महिलाएं करेंगी प्रदर्शन
शाहीन बाग में महिला प्रदर्शनकारी रविवार को ‘जनता कर्फ्यू’ के दिन भी अपना विरोध प्रदर्शन जारी रखेंगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ‘जनता कर्फ्यू’ की घोषणा की है और लोगों से अपने घरों के अंदर ही रहने की अपील की है. संशोधित नागरिकता कानून के विरोध में महिलाओं ने दिसंबर के मध्य से ही दक्षिणपूर्वी दिल्ली से नोएडा को जोड़ने वाली सड़क का एक साइड अवरूद्ध कर रखा है.

सोमवार को, दिल्ली सरकार ने कहा था कि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर 50 से अधिक लोगों वाले समारोहों की अनुमति नहीं है, जिसकी संख्या घटाकर अब 20 कर दी गई है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था, ‘‘यह शाहीन बाग पर भी लागू होता है.’ प्रदर्शनकारियों ने पीटीआई-भाषा को बताया कि किसी भी समय 50 से अधिक महिलाएं विरोध प्रदर्शन नहीं कर रही हैं.

एक प्रदर्शनकारी ने कहा, ‘‘रविवार को, हम छोटे टेंटों के नीचे बैठेंगे. केवल दो महिलाएं प्रत्येक टेंट के नीचे बैठेंगी और अपने बीच एक मीटर से अधिक दूरी बनाए रखेंगी.’’ एक अन्य प्रदर्शनकारी रिजवाना ने कहा कि महिलाएं हर सावधानी बरत रही हैं और वे हर समय बुर्के में ढकी रहती हैं. उन्होंने कहा, ‘‘नियमित रूप से हाथ धोना हमारी जीवनशैली का हिस्सा है. हम दिन में पांच बार नमाज अदा करते हैं और हर बार हाथ धोते हैं.’’

यह भी पढ़ेंः झूठी हैं आलिया-रणबीर के ब्रेकअप की खबरें, इंस्टाग्राम पर खुद दिया सबूत

प्रदर्शन के प्रमुख आयोजकों में से एक, तासीर अहमद ने कहा कि पर्याप्त संख्या में सैनिटाइटर और मास्क की व्यवस्था की गई है और प्रदर्शन स्थल को नियमित अंतराल पर संक्रमण-मुक्त किया जा रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 22, 2020, 2:11 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,274

     
  • कुल केस

    1,603,428

    +355
  • ठीक हुए

    356,440

     
  • मृत्यु

    95,714

    +22
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर