Home /News /entertainment /

जावेद अख्‍तर ने फैबइंडिया के 'जश्न-ए-रिवाज' ऐड पर दिया बयान, तो यूजर्स ने दे दी चुप रहने की नसीहत

जावेद अख्‍तर ने फैबइंडिया के 'जश्न-ए-रिवाज' ऐड पर दिया बयान, तो यूजर्स ने दे दी चुप रहने की नसीहत

जावेद अख्‍तर ने फैबइंडिया (FabIndia) के ऐड पर मचे हालिया विवाद पर अपनी राय दी है. साभार: @ShabanaAzami isnstaram

जावेद अख्‍तर ने फैबइंडिया (FabIndia) के ऐड पर मचे हालिया विवाद पर अपनी राय दी है. साभार: @ShabanaAzami isnstaram

गीतकार जावेद अख्‍तर (Javed Akhtar) किसी भी मुद्दे पर अपनी बेबाक राय देने के लिए जाने जाते हैं. हाल ही में जावेद अख्‍तर ने फैबइंडिया के ऐड पर मचे हालिया विवाद पर अपनी राय दी है. उन्होंने लिखा, 'मैं यह समझने में असफल रहा कि कुछ लोगों को फैबइंडिया के जश्न-ए-रिवाज से कोई समस्या क्यों है.' कपड़ों की बिक्री करने वाले फैशन ब्रांड के इस ऐड में दिवाली को 'जश्न-ए-रिवाज' (jashn-e-rivaaj) बताया गया था.

अधिक पढ़ें ...

    मुंबई: गीतकार जावेद अख्‍तर (Javed Akhtar) किसी भी मुद्दे पर अपनी बेबाक राय देने के लिए जाने जाते हैं. हाल ही में जावेद अख्‍तर ने फैबइंडिया (FabIndia) के ऐड पर मचे हालिया विवाद पर अपनी राय दी है. जावेद साहब के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर लगातार रिएक्ट कर अपीन प्रतिक्रिया दे रहे हैं. बता दें, कपड़ों की बिक्री करने वाले फैशन ब्रांड के इस ऐड में दिवाली को ‘जश्न-ए-रिवाज’ (jashn-e-rivaaj) बताया गया था. इसे लेकर सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्‍सा फूटा था. व‍िज्ञापन पर बवाल मचने के बाद रिटेल कंपनी ने इसे वापस ले लिया था.

    जावेद अख्‍तर (Javed Akhtar Tweet) ने ट्वीट कर कहा कि इस ऐड में कोई दिक्कत नहीं हैं, फिर भी लोग ऐसा रिएक्ट क्यूं कर रहे हैं ये लोगों का पगलपन है. उन्होंने लिखा, ‘मैं यह समझने में असफल रहा कि कुछ लोगों को फैबइंडिया के जश्न-ए-रिवाज से कोई समस्या क्यों है, जिसका अंग्रेजी में मतलब “परंपरा का उत्सव” के अलावा और कुछ नहीं है, इससे किसी को कैसे और क्यों समस्या हो सकती है. यह पागलपन है.’ इस ट्वीट पर कुछ यूजर कमेंट कर उनसे सहमती दिखा रहे हैं, तो वहीं कुछ उनका विरोध भी कर रहे हैं. एक यूजर ने विरोध में लिखा, ‘आप नहीं समझेंगे… हिंदुओं के लिए भाषा का अपना महत्व है. हम नहीं चाहते कि कोई विदेशी भाषा हमारे त्योहारों से जुड़ी हो.’

    Javed Akhtar, Javed Akhtar Twitter

    जावेद अख्‍तर ने फैबइंडिया (FabIndia) के ऐड पर मचे हालिया विवाद पर अपनी राय दी है. साभार: Javed Akhtar Twitter

    रअसल फैब इंडिया ने 9 अक्टूबर को अपने नए ऐड कैंपेन में पुरुष और महिला मॉडल्स को साड़ी और कुर्ता पायजामा में प्रदर्शित किया है. ऐड के ट्वीट में लिखा था, ‘हम प्यार और रोशनी के त्योहार का स्वागत कर रहे हैं. फैब इंडिया की तरफ से जश्न-ए-रिवाज कलेक्शन पेश है.’ विवाद के बाद फैब इंडिया ने उस ट्वीट को डिलीट कर दिया.

    मनिपाल ग्लोबल एजुकेशन के चेयरमैन मोहनदास पई ने फैब इंडिया के शब्दों के इस्तेमाल पर आपत्ति जाहिर की. उन्होंने कहा है कि हिंदू धर्म के त्याहारों के लिए कोई अजनबी शब्द लिखना हमारी संस्कृति को जानबूझकर छीनने जैसा है. किसी अन्य ब्रांड नेम का इस्तेमाल भी किया सकता था. बीते साल तनिष्क के एक ऐड को लेकर कुछ ऐसा ही विवाद हुआ था. तब भी तनिष्क को विरोध के बाद अपना ऐड वापस लेना पड़ा था. उस ऐड में एक हिंदू लड़की को मुस्लिम फैमिली की बहू के रूप में दिखाया गया था. हिंदू लड़की की मुस्लिम के घर में शादी हुई है और उसकी गोदभराई यानी बेबी शावर के फंक्शन को दिखाया गया.

    Tags: Javed akhtar

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर