Home /News /entertainment /

जावेद अख्तर ने तालिबान से हाथ मिलाने वाले देशों को लताड़ा, बोले- 'भूल जाएं मानवता-न्याय'

जावेद अख्तर ने तालिबान से हाथ मिलाने वाले देशों को लताड़ा, बोले- 'भूल जाएं मानवता-न्याय'

जावेद अख्तर ने तालिबान का समर्थन करने वाले देशों को लेकर नाराजगी जाहिर की है.

जावेद अख्तर ने तालिबान का समर्थन करने वाले देशों को लेकर नाराजगी जाहिर की है.

जावेद अख्तर (Javed Akhtar) अपनी राय रखने के लिए जाने जाते हैं और तालिबान पर भी उन्होंने एक बार फिर ट्वीट कर अपनी राय दी है. उन्होंने विश्व के नेताओं और अन्य देशों के रवैये पर ट्वीट कर नाराजगी जताई है

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    मुंबईः गीतकार जावेद अख्तर (Javed Akhtar) अपनी बेबाक राय के लिए जाने जाते हैं. चाहे कोई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म हो या निजी समारोह… वो हमेशा बेहद सीधे और कड़े अंदाज में टिप्पणी करते हैं. वहीं, पिछले कुछ दिनों से तालिबान (Taliban) में सरकार गठन के बाद कई बदलाव किए गए हैं जैसे तालिबान संस्कृति विभाग की तरफ से कहा गया कि महिलाओं को खेलकूद में हिस्सा लेने नहीं दिया जाएगा. वहीं, तालिबान कैबिनेट में एक भी महिला को शामिल नहीं किया गया है. इस पर जावेद अख्तर ने अपनी बात कही है.

    जावेद अख्तर ने दुनिया भर के नेताओं और विभिन्न देशों के रवैये पर ट्वीट कर नाराजगी जताई है. उन्होंने कहा, ‘यह शर्म की बात है कि कथित रूप से सभ्य और डेमोक्रेटिक देश तालिबान के साथ हाथ मिलाने के लिए तैयार हैं.’

    उन्होंने सभी देशों से निवेदन किया है कि वो तालिबान को मान्यता ना दें. उन्होंने कहा, ‘हर एक उदार व्यक्ति, हर एक लोकतांत्रिक देश, सभी सभ्य समाज को तालिबान द्वारा महिलाओं के दमन के खिलाफ मान्यता देने से इनकार करना चाहिए. इसकी निंदा की जानी चाहिए या फिर न्याय, मानवता और विवेक जैसे शब्दों को भूल जाना चाहिए.’

    javed akhtar, javed akhtar tweet

    जावेद अख्तर ने फिर तालिबान को लेकर ट्वीट किया है. (फोटो साभारः @javedakhtar)

    साथ ही एक और ट्वीट में उन्होंने तालिबान के प्रवक्ता के बयान की आलोचना भी की है. उन्होंने ट्वीट के जरिए कहा, ‘तालिबान के प्रवक्ता ने दुनिया को कहा है कि महिलाएं मंत्री बनने के लिए नहीं घर में रहने और बच्चों को जन्म देने के लिए हैं लेकिन कथित रूप से सभ्य समाज तालिबान के साथ हाथ मिलाने के लिए तैयार है. यह शर्म की बात है.’

    आपको बता दें कि तालिबान के प्रवक्ता ने ये भी कहा कि महिलाओं को मंत्री बनाना मतलब उनके गले में एक ऐसा फंदा डालना है जिसे वो संभाल नहीं सकतीं. वहीं, महिलाओं के प्रदर्शन पर हाशमी ने कहा था कि ये कुछ महिलाएं हैं और वो अफगानिस्तान की सभी महिलाओं का प्रतिनिधित्व नहीं करतीं हैं.
    इसके पहले एक और चैनल से बातचीत के दौरान जावेद अख्तर ने कहा था कि पूरी दुनिया के दक्षिणपंथी लोग एक जैसे ही हैं. जैसे तालिबान इस्लामिक राष्ट्र चाहता है वैसे ही लोग हिंदु राष्ट्र चाहते हैं. सभी की एक ही मानसिकता है.’

    उन्होंने कहा था, ‘बेशक तालिबान बर्बर है लेकिन उनकी हरकतें निंदनीय है लेकिन जो लोग आरएसएस, विहिप और बजरंग दल का समर्थन कर रहे हैं, वो लोग भी एक जैसे ही है.’ जावेद अख्तर को इस बयान के लिए काफी आलोचना भी झेलनी पड़ी थी. बहरहाल, वो अपनी राय रखने के लिए जाने जाते हैं और तालिबान पर भी उन्होंने एक बार फिर ट्वीट कर अप

    Tags: Bollywood news, Javed akhtar, Taliban

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर