क्या माही विज-जय भानुशाली ने छोड़ दिए गोद लिए बच्चे? एक्ट्रेस ने दिया बड़ा बयान

जय भानुशाली (Jay Bhanushali) और माही विज अपने बच्चों के साथ (photo credit: instagram/@mahhivij)

2019 में जय और माही की बेटी तारा का जन्म हुआ इससे पहले 2017 में दोनों ने दो बच्चों राजवीर और खुशी को गोद ले लिया था. फैंस ने उनसे और जय भानुशाली से उनके गोद लिए बच्चों को लेकर सवाल पूछना शुरू कर दिया.

  • Share this:
    मुंबईः टीवी जगत के फेसम कपल्स में से एक जय भानुशाली (Jay Bhanushali) और माही विज (Mahhi Vij) तीन बच्चों के पैरेंट्स हैं. 2019 में जय और माही की बेटी तारा का जन्म हुआ इससे पहले 2017 में दोनों ने दो बच्चों राजवीर और खुशी को गोद ले लिया था. माही और जय इन दोनों बच्चों की देखभाल कर रहे थे, लेकिन बीते कुछ समय से जय और माही के साथ खुशी (Khushi) और राजवीर को नहीं देखा गया. जिसके बाद फैंस ने उनसे और जय भानुशाली से उनके गोद लिए बच्चों को लेकर सवाल पूछना शुरू कर दिया.

    राजवीर और खुशी के बारे में बात करते हुए माही (Mahhi Vij) ने Zoom को दिए इंटरव्यू में कहा, "हमने उन्हें (राजवीर और खुशी) को गोद नहीं लिया है. उनके माता-पिता हैं. पिता अभी भी हमारे साथ काम कर रहे हैं. उनकी एक मां हैं. जब से वो पैदा हुए हैं हमारे साथ ही रह रहे थे. वे मुझे मम्मा और जय डैडा कहते हैं. हम सब एक साथ एक खुशहाल परिवार की तरह रहते है. कानूनी रूप से गोद लेने जैसा कुछ नहीं है. मुझे नहीं पता कि यह बता कहां से आ रही है."

    माही विज (Mahhi Vij) ने आगे कहा कि दोनों बच्चे अपने होमटाउन गए हैं क्योंकि उनके दादा का मानना था कि उनके लिए अपने होमटाउन में रहना सुरक्षित है. इस साल की शुरुआत में भी ये खबरें उठने रही थी कि जय और माही ने अपनी बेटी के जन्म के बाद गोद लिए बच्चों का त्याग कर दिया था. हालांकि, माही ने बाद में एक सोशल मीडिया पोस्ट में उन खबरों की निंदा की थी.

    अपने पोस्ट में दोनों ने लिखा था, 'आपमें से बहुत से लोग पूछ रहे हैं, बहुत से लोग कुछ मान भी रहे हैं और कुछ लोग लिख भी रहे हैं, जो सरासर गलत है. तारा ने एक आशीर्वाद की तरह हमारी जिंदगी में एंट्री ली है. लेकिन, इससे खुशी और राजवीर के लिए हमारी भावनाएं नहीं बदली हैं. खुशी के आने के बाद हम माता-पिता बने. लेकिन, उस पर पहला अधिकार उसके माता-पिता का है और हम यह बात जानते हैं.'

    माही ने आगे लिखा, 'खुशी और राजवीर के माता-पिता चाहते थे कि वह कुछ समय उनके साथ बिताएं. इसलिए वह अभी अपने होमटाउन में हैं और तारा हमारे साथ मुंबई में है. हमें नहीं लगता कि बच्चे के लिए उसके माता-पिता से बेहतर कोई सोच सकता है. जो लोग हमसे खुशी और राजवीर को लेकर सवाल कर रहे हैं, कह रहे हैं कि हमने उन्हें छोड़ दिया पूरी तरह से गलत है. इससे जब हमारे बच्चे बड़े होंगे तो उन पर गलत प्रभाव पड़ेगा. इसलिए ऐसी बातें ना करें.'
    Published by:Aditi Singh
    First published: