होम /न्यूज /मनोरंजन /किसी ने झाड़ी के पीछे बदले कपड़े-सैनिटरी पैड तो कोई चलती ट्रेन में नहाया, शूटिंग सेट पर होती थी ऐसी दिक्कतें!

किसी ने झाड़ी के पीछे बदले कपड़े-सैनिटरी पैड तो कोई चलती ट्रेन में नहाया, शूटिंग सेट पर होती थी ऐसी दिक्कतें!

पहले शूटिंग के दौरान एक्ट्रेस को झेलनी पड़ती थी काफी दिक्कतें.

पहले शूटिंग के दौरान एक्ट्रेस को झेलनी पड़ती थी काफी दिक्कतें.

बदलते समय के साथ तकनीकी विकास ने फिल्म मेकिंग आसान की है, वहीं एक्टर्स को काफी सहूलियत मिली है. पहले एक्टर्स खास कर फीम ...अधिक पढ़ें

मुंबई: आज फिल्में बनाना आसान है तो एक्टर्स को भी तमाम तरह की सुविधाएं हैं. आज टेक्नोलॉजी ने इतना विकास कर लिया है, और ऐसे-ऐसे सेट्स बन गए हैं कि आप फिल्म की कहानी और एक्टर्स लेकर आईए, फिल्म लेकर जाइए. जया बच्चन (Jaya Bachchan), आशा पारेख (Asha Parekh) और मुमताज (Mumtaz), जया प्रदा जैसी तमाम दिग्गज एक्ट्रेसेस ने तो अपने सामने सिनेमा के बदलते दौर को महसूस किया है और जिया भी है. इन एक्ट्रेस ने वह दौर भी देखा है जब शूटिंग के दौरान तमाम तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता था और आज के सुविधा-संपन्न दौर को भी देख रही हैं. चलिए बताते हैं, पहले जमाने में एक्ट्रेस के लिए शूटिंग सेट कितनी दुश्वारियों भरी होती थी.

एक्ट्रेस को शूटिंग के दौरान अजीबो-गरीब समस्याओं से दो-चार होना पड़ता था. भारतीय सिनेमा की दिग्गज एक्ट्रेस आशा पारेख ने भारतीय फिल्म महोत्सव के दौरान बताया कि सुविधाओं की कमी की वजह से एक्टर्स को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था, खासकर फीमेल को. आशा ने बताया कि ‘मुझे याद है हमारे समय में वैनिटी वैन जैसी सुविधा नहीं होती थी. जब हम शूटिंग के लिए जाते थे तो स्टूडियो में भी बाथरुम नहीं होते थे और पूरे दिन हम बिना बाथरुम गए बैठे रहते थे. हालात ऐसे होते थे कि हमें कपड़े बदलने में भी काफी मुश्किल होती थी. झाड़ियों के पीछे छिपकर कपड़े बदलते थे’.

जया बच्चन ने झाड़ियों के पीछे बदले पैड और कपड़े
हाल ही में जया बच्चन ने अपनी नातिन नव्या नवेली नंदा के पॉडकास्ट पर अपने बीते हुए दिनों की यादों को साझा करते हुए कई खुलासे किए. सेट पर शौचालय नहीं होने की वजह से एक्ट्रेस को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था. जया ने बताया था कि ‘जब हम आउटडोर शूट करते थे तो हमारे पास वैनिटी वैन होती नहीं थी, झाड़ियों के पीछे कपड़े बदलते थे. मासिक के दौरान तो हालात काफी मुश्किल हो जाते थे. सैनिटरी पैड भी झाड़ियों-गाड़ियों के पीछे चेंज करते थे. प्लास्टिक बैग लेकर चलते थे, जिसमें यूज किए सैनिटरी पैड रखते थे फिर घर आकर उसे डिस्पोज करते थे. इतना ही नहीं पहले के सैनिटरी पैड भी अलग तरह के होते थे’.

Jaya Bachchan educated women, Jaya Bachchan Controversy, What The Hell Navya, educated women double standards, जया बच्चन, नव्या नवेली नंदा

जया बच्चन बेबाकी से अपनी बात रखती रही हैं. (फोटो साभार: Instagram@jaya_bachchan_)

मुमताज को जंगल में पर्दा बनाकर कपड़े बदलने पड़े
ऐसी दिक्कतों से सभी को दो-चार होना पड़ता था. अपने दौर की मशहूर एक्ट्रेस मुमताज ने भी एक बार मीडियो को दिए इंटरव्यू में बताया था कि ‘साल 2007 में फिल्म ‘आवारापन’ शूटिंग के दौरान जब वैनिटी वैन देखा था तो अपने दौर के शूटिंग वाले दिनों की याद आ गई. तब एक्ट्रेस ने कहा था कि ‘अब तो एक्टर्स को कितनी सुविधा है, हमारे टाइम में तो कई बार जंगल में कपड़े बदलने पड़ते थे. दो लोग कपड़े का घेरा बनाकर पर्दा बनाते उसके पीछे हमें कपड़े बदलने पड़ते थे’.

amitabh bachchan, jaya prada

‘शराबी’ फिल्म में अमिताभ बच्चन और जया प्रदा की जोड़ी .(फोटो साभार: Bollywoodirect/Twitter)

जया प्रदा को चलती ट्रेन में नहाना पड़ा था
वहीं एक बार जया प्रदा ने भी 1979 में अपनी सुपरहिट फिल्म ‘सरगम’  की शूटिंग के दौर में हुई दिक्कतों के बारे में बताया था. उस दौर में आज की तरह सुविधा और टेक्नोलॉजी नहीं थी लिहाजा फिल्म की शूटिंग के समय लोकेशन और टाइमिंग का बहुत ख्याल रखना पड़ता था. जया प्रदा ने फिल्मफेयर को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि ‘एक बार मुझे ट्रेन में नहाना पड़ा था. क्योंकि हमें लोकेशन पर पहुंचते ही शूटिंग करनी थी. डायरेक्टर सुबह की पहली रोशनी में सीन फिल्माना चाहते थे. मैं चौबीसों घंटों काम कर रही थी. मैंने खुद ही अपना मेकअप करना सीख लिया था. फिल्म की डिमांड के हिसाब से हमे एक लोकेशन से दूसरी लोकेशन पर जाना पड़ता था. हमने कैसे-कैसे हालात में शूटिंग की है, ये हम ही जानते हैं’.

अब तो वैनिटी वैन की सुविधा हर जगह मौजूद रहती है, लिहाजा ऐसी परेशानियों से एक्टर्स को अब दो-चार नहीं होना पड़ता है. स्टूडियो में भी बाथरुम और चेंजिंग रुम का खास इंतजाम रहता है.

Tags: Entertainment Special, Entertainment Throwback, Jaya bachchan, Jaya prada

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें