Home /News /entertainment /

40 Years Of Meri Aawaz Suno: जितेंद्र-हेमा मालिनी की फिल्म ‘मेरी आवाज सुनो’ को कर दिया गया था बैन!

40 Years Of Meri Aawaz Suno: जितेंद्र-हेमा मालिनी की फिल्म ‘मेरी आवाज सुनो’ को कर दिया गया था बैन!

'मेरी आवाज सुनो' 18 दिसंबर 1981 में रिलीज हई थी.(फोटो साभार: Movies N Memories/Twitter)

'मेरी आवाज सुनो' 18 दिसंबर 1981 में रिलीज हई थी.(फोटो साभार: Movies N Memories/Twitter)

जितेंद्र (Jeetendra) , हेमा मालिनी (Hema Malini ) और परवीन बाबी (Parveen Babi) जैसे सुपरस्टार की फिल्म ‘मेरी आवाज सुनो’ (Meri Aawaz Suno) रिलीज हुई तो इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर तहलका मचा दिया था. मीडिया रिपोर्ट की माने तो इस फिल्म ने जबरदस्त कमाई की थी. कहते हैं कि 1981 में रिलीज हुई इस फिल्म ने 15 दिन तक बॉक्स ऑफिस पर न सिर्फ लगातार दबदबा बनाए रखा बल्कि सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए थे. फिल्मी पंडितों की माने तो उस दौर की ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘शोले’ को भी पछाड़ दिया था.

अधिक पढ़ें ...

    जितेंद्र (Jeetendra) , हेमा मालिनी (Hema Malini ) और परवीन बाबी (Parveen Babi) जैसे दिग्गज कलाकारों की फिल्म ‘मेरी आवाज सुनो’ (Meri Aawaz Suno) 18 दिसंबर 1981 में रिलीज की गई थी. इस फिल्म में कादर खान (Kader Khan), शक्ति कपूर (Shakti Kapoor), असरानी जैसे फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर एक्टर ने काम किया था. एक्शन थ्रिलर इस फिल्म को पद्मालया स्टूडियो के जी हनुमंथ राव ने प्रोड्यूस किया था और निर्देशन एस वी राजेंद्र सिंह बाबू (s v Rajendra Singh Babu) का था. शानदार कन्नड़ फिल्म ‘अंथा’ (Antha) की हिंदी रिमेक ‘मेरी आवाज सुनो’ फिल्म थी. फिल्म की रिलीज के 40 बरस पर आईए बताते हैं फिल्म से जुड़ा एक कंट्रोवर्शियल मामला.

    ‘मेरी आवाज सुनो’ ने बॉक्स ऑफिस पर मचा दिया था तहलका
    40 साल पहले जब फिल्म ‘मेरी आवाज सुनो’ रिलीज हुई तो इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर तहलका मचा दिया था. मीडिया रिपोर्ट की माने तो इस फिल्म ने जबरदस्त कमाई की थी. कहते हैं कि 1981 में रिलीज हुई इस फिल्म ने 15 दिन तक बॉक्स ऑफिस पर न सिर्फ लगातार दबदबा बनाए रखा बल्कि सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए थे. फिल्मी पंडितों की माने तो उस दौर की ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘शोले’ को भी पछाड़ दिया था.

    ‘मेरी आवाज सुनो’ 2 हफ्ते रही थी बैन
    दरअसल, ये फिल्म रिलीज होते ही विवादों में घिर गई थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक फिल्म को राजनीतिक वजह से 2 हफ्ते के लिए बैन कर दिया गया था. कहते हैं कि फिल्म में कुछ हिंसक और आपत्तिजनक सीन की वजह से फिल्म को बैन करने की मांग उठने लगी थी. फिल्म को सेंसर बोर्ड की कांट छांट के बाद जब दोबारा रिलीज किया गया तो दर्शकों को फिल्म इतनी पसंद आई कि सुपरहिट हो गई. कहते हैं हालत ये हो गई कि सिनेमाघरों में फिल्म को 5-5 शो में चलाना पड़ा था. फिल्म कई हफ्तों तक हाउसफुल चली थी.

    meri awaaz suno film

    ‘मेरी आवाज सुनो’ के एक सीन में जितेंद्र और परवीन बाबी. (फोटो साभार: Movies N Memories/Twitter)

    परवीन बाबी का था जलवा
    70-80 के दशक के इस दौर में रेखा, हेमा मालिनी, जीनत अमान जैसी एक्ट्रेस का जादू लोगों के सिर चढ़ कर बोल रहा था उसी दौर में ताजे हवा के झोंके की तरह बेपनाह खूबसूरत और बोल्ड एक्ट्रेस परवीन बाबी ने कदम रखा था. ‘मेरी आवाज सुनो’ को हिट करवाने में परवीन की दिलकश अदाओं का भी बड़ा हाथ था.

    ये भी पढ़िए-51 Years Of Mera Naam Joker: राज कपूर ये फिल्म बनाकर सदमे में चले गए थे, पढ़िए 10 दिलचस्प किस्से

    लक्ष्मीकांत प्यारेलाल के संगीत से सजी ‘मेरी आवाज सुनो’ के गाने भी बेहद शानदार थे. आशा भोसले और किशोर कुमार की आवाज में ‘मेहमानों को सलाम है मेरा, नाम जरा बदनाम है मेरा’, ‘गुड़िया रे गुड़िया तू बतला’, ‘तुम्हे देखा है तो ऐसा लगता’ जैसे मेलोडियस गाने थे. ये फिल्म को सन 1981 में रिलीज सफल फिल्मों में शामिल है.

    Tags: Hema malini, Jeetendra, Parveen babi

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर