यादें: 80 पर‍िवारों के साथ चॉल में रहते थे जीतेंद्र, जब पहली बार पंखा लगा तो देखने आए थे पड़ोसी

जीतेंद्र का असली नाम रव‍ि कपूर है. (फोटो- @jeetendra_kapoor/Instagram)

बॉलीवुड के 'जंपिंग जैक' और अक्‍सर चमकदार सफेद कपड़ों में नजर आने वाले जीतेंद्र (Jeetendra) ने अपनी ज‍िंदगी के शुरुआती 20 साल मुंबई की ग‍िरगांव स्‍थ‍ित एक चॉल में गुजारे हैं. वह 80 परिवारों वाली चॉल में रहते थे.

  • Share this:
    बॉलीवुड के 'जंपिंग जैक' और अक्‍सर चमकदार सफेद कपड़ों में नजर आने वाले जीतेंद्र (Jeetendra) ने अपने समय में कई ब्‍लॉकबस्‍ट हिट फिल्‍में दी हैं. उनके चार्म और उनकी अदाएगी के लाखों दीवाने हैं. आज जीतेंद्र भले ही अलीशान बंगले में रहते हैं और उनके पास बड़ी-बड़ी गाड़‍िया हैं लेकिन आज भी अपने चॉल की ज‍िंदगी को याद कर वह काफी भावुक हो जाते हैं. जीतेंद्र 80 परिवारों वाली चॉल में रहते थे और अपनी ज‍िंदगी के शुरुआती 20 साल उन्‍होंने मुंबई की ग‍िरगांव स्‍थ‍ित एक चॉल में गुजारे हैं. इंडियन आइडल 12 (Indian Idol 12) के सेट पर अपनी बेटी एकता कपूर के साथ पहुंचे जीतेंद्र ने अपनी चॉल से जुड़ी यादों का ज‍िक्र क‍िया.

    Jeetendra
    बेटी एकता, बेटे तुषार और पत्‍नी के साथ जीतेंद्र. (फोटो- @jeetendra_kapoor/Instagram)


    जीतेंद्र ने बताया कि वह फिल्‍मों में हीरो स‍िर्फ इसल‍िए बन पाए क्‍योंकि उन्‍हें मराठी आती थी. उन्‍होंने बताया कि वह एक ऐसी चॉल में रहते थे जो चार मंज‍िला थी और एक-एक मंज‍िल में 20 परिवार रहते थे. यानी कुल 80 परिवार वहां रहते थे. उन्‍होंने कहा, 'हम इतना म‍िलजुल कर रहते थे. कभी हमारे घर में चाय की पत्‍ती नहीं है या दूध नहीं है तो कभी कमी महसूस नहीं हुई, आसपास से ले आए और फिर वापस कर द‍िया. हमारे घर जब पंखा लगा तो सब ब‍िल्‍ड‍िंग के लोग देखने आए, क‍ि अरे इनके घर पंखा लगा है. ट्यूबलाइट पहली बार मेरे घर में लगी थी.'






    अपने इन दिनों को याद करते हुए उन्‍होंने कहा, 'वो मेरी ज‍िंदगी के सबसे बेस्‍ट द‍िन हैं, बस यही बात मैं कह सकता हूं.' बता दें कि जीतेंद्र ने 'तोहफा', 'सरफारोश', 'थानेदार', 'हिम्‍मतवाला' और 'धरमवीर' जैसी कई सुपरहिट फिल्‍में दी हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.