बॉलीवुड का वो रोमांटिक हीरो जिसने नहीं छीना शाहरुख का ताज

ये हीरो एक लवर बॉय की तरह आया. दर्शकों को पसंद भी बहुत आया. लेकिन इसने 'रोमांटिक हीरो' का टैग खुद से चिपकने नहीं दिया.

  • Share this:
शाहरुख खान के बाद साल 2003 में शाहिद कपूर ने बतौर चॉकलेटी हीरो एंट्री ली. लेकिन शाहिद कपूर किसी इमेज में बंधकर न रहने वाले कलाकार साबित हुए. हालांकि शुरूआत में उन्होंने इस तरह की फिल्में जरूर कीं, जिनका टारगेट ऑडियंस युवा वर्ग या फीमेल फैन्स थीं. लेकिन जल्द ही उन्होंने अपनी अभिनय प्रतिभा के आयामों को तलाशना शुरू कर दिया. उन्होंने रोमांस के साथ ही, थ्रिलर, कॉमेडी, एक्शन, पॉलिटिकल और ग्रे शेड्स लेकर आने वाली फिल्मों में लीड किरदार निभाए. लेकिन, शाहिद के साथ एक टैबू साथ चलता रहा कि उन्हें उम्मीद के मुताबिक क्रेडिट कभी नहीं मिल सका.

बेहतरीन फिल्मों के लिए क्रेडिट न मिलने की वजह से शाहिद को वह इंस्टैंट स्टारडम नहीं मिला जो इस वक्त रणवीर सिंह को हासिल है. हम इन दोनों सितारों में किसी तुलना के चक्कर में नहीं पड़ना चाहते. लेकिन ये बात ज़ाहिर है. हर मोमेंट को भुनाने का जो टैलेंट रणवीर सिंह में है, वो किसी में नहीं. खासतौर पर शाहिद कपूर में तो बिल्कुल ही नहीं है.





रिस्क लेने से डरे नहीं शाहिद



जब वी मेट, कमीने, हैदर, उड़ता पंजाब, पद्मावत कुछ ऐसी फिल्में हैं, जिनमें शाहिद कपूर की परफॉर्मेंस को तारीफ मिली. दर्शकों से प्यार मिला. लेकिन वो 'हीरो' वाला क्रेडिट नहीं मिला. ऐसा इसलिए है क्योंकि उनकी परफॉर्मेंसेज़ को आलोचकों की तारीफ तो मिलती रही, लेकिन दर्शकों की कसौटी पर बात शायद खरी नहीं उतरी. उन्होंने हर बार एक अलग किरदार चुनने का रिस्क लिया. चाहे वह 'कमीने' में डबल रोल निभाने की बात हो या 'हैदर' के कश्मीरी युवा की. शाहिद कभी रिस्क लेने से डरे नहीं.

शाहिद के प्रयोगों की हुई तारीफ
बॉलीवुड में उनके मुकाबले की बात करें तो उन्होंने शाहरुख, सलमान, आमिर और अक्षय के स्टारडम की मौजूदगी में इंडस्ट्री में एंट्री ले रहे नए स्टार्स सभी के बीच काम किया और आज भी कर रहे हैं. अगर सीधे तौर पर नाम लेने की बात करें तो रणबीर कपूर के एक्सपेरिमेंट्स कई बार दर्शकों ने नकार दिए. शाहरुख खान की फिल्मों को भी क्रिटिसिज्म मिला है. लेकिन शाहिद कपूर एक ऐसे स्टार बनकर उभरे हैं जिनके एक्सपेरिमेंट्स को सराहा गया.



इमेज में नहीं बंधे शाहिद
शाहिद चाहते तो हमेशा 'लवर बॉय इमेज' में बंधकर रह सकते थे. इस इमेज का ताना अक्सर शाहरुख खान को दिया जाता है, लेकिन शाहिद समय के साथ फिल्म दर फिल्म कुछ नया करते रहे और एक बेहतरीन एक्टर के तौर पर उभरे. इतनी वैरायटी देने के बाद भी आज शाहिद खुद को खाली बताते हैं. अपनी आने वाली फिल्म 'कबीर सिंह' के प्रमोशन के दौरान शाहिद ने बताया कि 'कबीर सिंह' के बाद उनके पास कोई फिल्म नहीं है. लेकिन लगता है कि अब शाहिद किसी तरह की जल्दबाजी में नहीं है और यहां से अपने करियर को एक नई दिशा देना चाहते हैं.

फिर नया किरदार
इस बार शाहिद कपूर 'कबीर सिंह' बनकर पर्दे पर आए हैं. उनकी ये फिल्म साउथ इंडियन फिल्म 'अर्जुन रेड्डी' का रीमेक ये. ये एक ऐसे युवा की कहानी है जो एक लड़की के प्यार जुनूनी हो जाता है. इस फिल्म में शाहिद के साथ कियारा आडवाणी नजर आने वाली हैं. ट्रेलर को काफी तारीफें मिली हैं. अब उम्मीद है कि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर भी धमाल करेगी.



पिछली 5 फिल्मों का रिपोर्ट कार्ड
साल 2018 में शाहिद 'बत्ती गुल मीटर चालू' लेकर आए थे. इस फिल्म ने कुलमिलाकर 37.73 करोड़ रुपए की कमाई की थी. इसी साल की शुरुआत यानी कि 2018 की जनवरी में शाहिद कपूर की 'पद्मावती' आई थी. इस फिल्म ने 302.15 करोड़ की कमाई की थी. साल 2017 में शाहिद 'रंगून' में आए. रंगून ने बॉक्स ऑफिस पर 20.68 करोड़ रुपए की कमाई की. अब थोड़ा और पीछे जाएं तो साल 2016 में शाहिद की 'उड़ता पंजाब' आई थी. इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर 60.33 करोड़ रुपए कमाए थे.

यह भी पढ़ें:

'भारत' के इस शख्स को हर साल करोड़पति बना देती है ईद

 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading