कंगना के ऑफिस पर नहीं चला बीएमसी का बुलडोजर, एक्ट्रेस ने कहा- सोशल मीडिया ने बचा लिया

कंगना के ऑफिस पर नहीं चला बीएमसी का बुलडोजर, एक्ट्रेस ने कहा- सोशल मीडिया ने बचा लिया
जनता कांग्रेस के अध्‍यक्ष अमित अजीत जोगी ने किया कंगना रनौत का सपोर्ट.

कंगना रनौत ने बताया है कि बीएमसी मुम्बई में उनके ऑफ‌िस में बुलडोजर लेकर नहीं, बस एक नोटिस देने आई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 11, 2020, 11:46 AM IST
  • Share this:
मुम्बई. बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Raunt) ने कहा है कि सोशल मीडिया और उनके दोस्तों की ओर से लगातार दबाव बनने के चलते उनके कार्यालय परिसर में बृहन्मुम्बई महानगरपालिका (बीएमसी) बुलडोजर लेकर नहीं आईं. उन्होंने महज वहां हो रहे लीकेज को लेकर नोटिस जारी किया. एक्ट्रेस ने कहा, "सोशल मीडिया पर हो रही लगातार आलोचना और दोस्तों की ओर से लगातार इस बात को उठाने के चलते आज बीएमसी ने उनके ऑफ‌िस पर बुलडोजर नहीं चलाया. निसंदेह मेरे ऑफिस पर खतरा मंडरा रहा था, लेकिन आप सबके बेइंतहा प्यार ने मेरे ऑफ‌िस को बचा लिया. आप सभी को ढेर सारा प्यार. " इससे पहले उन्होंने बीएमएसी अधिकारियों की मौजूदगी का वीडियो सोमवार को अपने ट्विटर एकाउंट पर साझा किया और आशंका जताई कि वे उनके कार्यालय को ध्वस्त कर सकते हैं.



हालांकि, बीएमसी ने कहा कि उसके अधिकारियों का दौरा उपनगरीय इलाके बांद्रा में अवैध निर्माण पर निगरानी रखने की उनकी नियमित प्रक्रिया का हिस्सा था, जहां अभिनेत्री का कार्यालय है.





निगम उपायुक्त पराग मसूरकर ने अधिकारियों के एक दल द्वारा रनौत के कार्यालय का दौरा किए जाने की पुष्टि करते हुए कहा कि उनके रिकॉर्ड के अनुसार रनौत का कार्यालय एक रिहायशी संपत्ति थी और वे यह पुष्टि करने गए थे कि वहां के ढांचे में कोई बदलाव तो नहीं किया गया है.

बीएमसी के सूत्रों के अनुसार, दल कुछ ही दिनों में अपनी रिपोर्ट सौंपेगा जिसके बाद आगे की कार्रवाई पर निर्णय लिया जाएगा. हाल ही में रनौत द्वारा मुम्बई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से की थी जिसका सत्तारूढ़ दल शिवसेना ने विरोध किया था.

Jayaprakash Reddy Death: टॉलीवुड एक्टर जयप्रकाश रेड्डी का हार्ट अटैक से निधन

सोमवार को उन्होंने ट्वीट किया कि शिवसेना शासित बीएमसी के अधिकारी उनके कार्यालय पहुंचे थे और वे मंगलवार को कार्यालय को ध्वस्त कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने कार्यालय में कुछ भी अवैध नहीं किया है और बीएमसी को नोटिस के साथ अवैध निर्माण दिखाना चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने जबरन मेरे कार्यालय की माप ली है और वे मेरे पड़ोसियों को धमका भी रहे थे. मुझे बताया गया है कि वे मेरी संपत्ति को कल ध्वस्त कर रहे हैं.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज