महेश भट्ट की फ़िल्म 'धोखा' रिजेक्ट की तो मुझे मारने आए थे: कंगना रनौत

महेश भट्ट की फ़िल्म 'धोखा' रिजेक्ट की तो मुझे मारने आए थे: कंगना रनौत
कंगना रनौत और मुकेश भट्ट

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने दावा किया है कि जब उन्होंने महेश भट्ट (Mahesh Bhatt) की एक फिल्म ठुकराई तो वे हिंसक गुस्से में उनके पास तक आ गए. यह फिल्म एक ऐसी महिला के बारे में थी जो पुलिस के अत्याचार का शिकार होने के बाद आत्मघाती हमलावर बन जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 20, 2020, 11:03 AM IST
  • Share this:
कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने दावा किया है कि जब उन्होंने महेश भट्ट (Mahesh Bhatt) की एक फिल्म ठुकराई तो वे हिंसक गुस्से में उनके पास तक आ गए. यह फिल्म एक ऐसी महिला के बारे में थी जो पुलिस के अत्याचार का शिकार होने के बाद आत्मघाती हमलावर बन जाती है. उन्होंने कहा कि महेश भट्ट ने लगभग उसके साथ मारपीट की. मौके पर ही उन्हें उनकी बेटी पूजा भट्ट ने रोक लिया.

एक निजी टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कंगना ने कहा कि महेश भट्ट ने उन्हें फिल्म गैंगस्टर में लॉन्च किया था, ठीक है, मैं इसके लिए आभारी हूं, लेकिन इससे उन्हें मुझे कॉल करने और मुझे पागल और साइकोथिक कहने और मुझ पर चप्पल फेंकने का अधिकार नहीं देता है. कंगना ने फिर कहा कि, महेश भट्ट ने मुझ पर एक चप्पल फेंकी.

कंगना के अनुसार, जब वह भट्ट के साथ गैंगस्टर और वो लम्हे कर रही थीं, तब महेश ने उन्हें अपने एडिटिंग स्टूडियो में बुलाया और उन्हें फिल्म 'धोखा' ऑफर की जो 'हीरोइज्म ऑफ ए सुसाइड बॉम्बर (heroism of a suicide bomber)' की कहानी थी. कंगना को फिल्म की विचारधारा पर विश्वास नहीं था, जिसमें उन्होंने आत्मघाती हमलावर की 'वीरता' को दर्शाया था. उन्होंने कहा, 'उस समय मेरी उम्र 18 साल की थी, फिर भी मेरे पास बहुत कॉमन सेंस था. कंगना ने कहा, ‘अगर आपको प्रताड़ित किया जाता है, तो बहुत कुछ है जो आप कर सकते हैं. आप सेना या पुलिस में शामिल हो सकते हैं. आपको आत्मघाती हमलावर क्यों बनना है? मैंने उस फिल्म को नहीं किया.'



महेश ने कंगना के फैसले को अच्छी तरह से नहीं लिया और वे उस पर कथित रूप से 'चीखे-चिल्लाए'. 'वे सचमुच मेरे पास आने वाले थे जैसे वे मुझे हाथों या किसी चीज से पीटने वाले हों. उनकी बेटी ने उन्हें रोका और उन्हें वापस बुला लिया और कहा, पापा, यह मत करो. उन्होंने बताया कि, 'मैं किसी तरह बच गई'.
कंगना ने आगे कहा कि, 'फिल्म वो लम्हे के ट्रायल के दौरान कथित तौर पर चप्पल वाली घटना हुई थी. कंगना ने दावा किया कि महेश ने उन्हें अपनी फिल्म की स्क्रीनिंग में शामिल नहीं होने दिया. वे थिएटर के मेन गेट पर आए और उन्होंने मेरा पीछा किया. वे मुझ पर चिल्लाए. मैं उसके बाद भी चुपके से कोशिश कर रही थी क्योंकि मैं अपनी फिल्म देखना चाहती थी. इसके बाद तो उन्होंने मुझ पर एक चप्पल फेंकी. दो लोग उन्हें अंदर ले गए.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज