कंगना रनौत ने शेयर की पोस्ट कोविड केयर स्टोरी, बताया कैसे रखें अपना ख्याल, देखें Video

कंगना रनौत ने बताया कोरोना रिकवरी के दौरान कैसे रखें अपना ख्याल. (फोटो साभारः इंस्टाग्रामःkanganaranaut)

कंगना रनौत ने बताया कोरोना रिकवरी के दौरान कैसे रखें अपना ख्याल. (फोटो साभारः इंस्टाग्रामःkanganaranaut)

कंगना कोरोना (Kangana Ranaut Instagram) से पूरी तरह ठीक हो चुकी हैं तो उन्होंने फैंस के साथ अपनी पोस्ट कोविड केयर स्टोरी भी शेयर की है. इस पोस्ट में एक्ट्रेस ने बताया है कि कोरोना से ठीक होने के बाद वह कैसे अपना ख्याल रख रही हैं. कंगना ने इंस्टाग्राम पर अपना एक वीडियो शेयर किया है. जिसमें वह पोस्ट कोविड केयर पर बात करती नजर आ रही हैं.

  • Share this:

मुंबईः बॉलीवुड की 'पंगा क्वीन' कंगना रनौत (Kangana Ranaut) सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं और अलग-अलग मुद्दे पर खुलकर अपनी राय रखती हैं. एक्ट्रेस ने सोशल मीडिया के जरिए फैंस को अपने कोरोना पॉजिटिव (Kangana Ranaut Post Covid Care) होने की जानकारी दी थी. कोरोना संक्रमित पाए जाने के कुछ ही दिनों में वह ठीक भी हो गई थीं. अब जब कंगना महामारी (Kangana Ranaut Instagram) से पूरी तरह ठीक हो चुकी हैं तो उन्होंने फैंस के साथ अपनी पोस्ट कोविड केयर स्टोरी भी शेयर की है. इस पोस्ट में एक्ट्रेस ने बताया है कि कोरोना से ठीक होने के बाद वह कैसे अपना ख्याल रख रही हैं.

कंगना ने इंस्टाग्राम पर अपना एक वीडियो शेयर किया है. जिसमें वह पोस्ट कोविड केयर पर बात करती नजर आ रही हैं. वीडियो में कंगना कहती हैं- 'मैं अपनी कोरोना की जर्नी के बारे में बताती आई हूं और आज मैं आपको कोरोना रिकवरी को लेकर अपना एक्सपीरियंस शेयर करूंगी. कोरोना जैसे मैंने आपको कहा एक आम साधारण सर्दी-जुकाम होता है, वैसा ही मेरा एक्सपीरियंस रहा. लेकिन, जो रिकवरी है, इसमें मेरे साथ कुछ शॉकिंग चीजें हुईं, जो मैंने कभी एक्सपीरिंयस नहीं कीं.'

'अक्सर हमने देखा है कि बचपन में जब भी हम बीमार हुए. जैसे कि मुझे पीलिया हो गया था, एक बार मेरी टांग टूट गई थी. तो हम देखते हैं कि जब भी हम इस तरह की दुर्घटना से रिकवर होते हैं तो चाहे कम समय में रिकवर हो, चाहे ज्यादा रिकवर हो. लेकिन, जब रिकवर होने लगता है तो वह लगातार रिकवर होता जाता है. लेकिन, जो कोरोना है इसमें जो एक शॉकिंग चीज जो मैंने नोटिस की वह है कि यह फोर्स रिकवरी देता है. मेरी टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने के 1-2 दिन में ही मुझे लगा कि मैं पूरी तरह ठीक हो चुकी हूं. अब मैं कोई भी काम चाहे वह वर्कआउट हो, एक्टिंग शिफ्ट हो. मैं जिस क्षमता से काम कर सकती थी, अब भी कर सकती हूं. लेकिन, वह एक फॉल्स रिकवरी थी.'



'जैसे ही मैं घर से बाहर निकली तो पता चला कि मैं फिर से एक बहुत जबरदस्त रिलेप्स की शिकार हो जा रही हूं. ऐसा लग रहा है कि जैसे बिस्तर से उठा नहीं जा रहा है. गला दर्द होने लगा और बुखार भी आने लगता है. इसमें कोई संदेह नहीं है कि जो ये वायरस है वह जैनेटिकली मोडिफाइड है. ट्रीटेड है. जो मेरा अनुभव रहा है कि जैसे ये वायरस आपके शरीर के अंदर कुछ डैमेज कर रहा होता है. कुछ लोगों को पर्मानेंट डिमेंशिया हो रहा है, कुछ को हार्ट अटैक हो रहा है. कुछ लोग तो सिंपली मर जा रहे हैं.'

कंगना आगे कहती हैं - 'ये संक्रमण हमारे शरीर का जो म्यूचल रिस्पॉन्स है, उसको म्यूट कर देता है. ये जो फॉल्स रिकवरी देता है, उसी के चलते लोग मर जा रहे हैं. इसकी वजह कुछ भी हो सकती है. ब्रीदिंग फेलियर, हार्ट अटैक या फिर ऑर्गन फेलियर. यानी जितना जरूरी इस वायरस से रिकवर होना है उतना ही जरूरी है कि बाद में भी अपना ख्याल रखा जाए. क्योंकि, इसका असली असर रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद दिखाई देता है. तो मेरा ये अनुभव रहा. ठीक होने के बाद कई बार तो बिना किसी लक्षण के मैं फिर से जबरदस्त रिलेप्स हो गई. तो मैं यही कहना चाहूंगी सबको कि जो रिकवरी पीरियड है, उसे अनदेखा ना करें. रेस्ट करें और अपना पूरा ख्याल रखें. स्टीम लेते रहें.'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज