कंगना रनौत की बहन रंगोली ने दीपिका पादुकोण के बारे में लिखी ऐसी बात!

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की बहन रंगोली चंदेल (Rangoli Chandel) दीपिका पादुकोण के संस्थान पर जमकर बरसी हैं. एक के बाद एक कई ट्वीट कर रंगोली ने फिल्म 'मेंटल है क्या' (Mental Hai Kya) पर चल रहे विवादों पर जवाब दिया है.

News18Hindi
Updated: April 22, 2019, 6:39 PM IST
News18Hindi
Updated: April 22, 2019, 6:39 PM IST
कंगना रनौत की आने वाली फिल्म 'मेंटल है क्या' ट्रेलर रिलीज से पहले ही विवादों में फंस गई है. फिल्म के पोस्टर्स पर जबरदस्त विवादों का दौर जारी है. हाल ही में दीपिका पादुकोण की संस्था 'द लिव लव लाइफ फाउंडेशन' ने कंगना रनौत और राजकुमार राव की फिल्म 'मेंटल है क्या' के पोस्टर की आलोचना की है. इससे पहले 'इंडियन मेडिकल एसोसिएशन' भी इस फिल्म के पोस्टर्स पर सवाल उठा चुका है. IMA ने फिल्म के पोस्टर्स और नाम  हटाने की अपील की थी. वहीं अब दीपिका के फाउंडेशन ने इसकी कड़ी आलोचना की है. इस मामले पर अभी तक कंगना का कोई रिएक्शन नहीं आया है.

दीपिका के फाउंडेशन ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'अब हमें दिमागी बीमारी से जूझ रहे लोगों को लेकर इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करना बंद कर देना चाहिए. ऐसा करना सिर्फ रूढ़ीवादी सोच को दर्शाता है.' वहीं इस ट्वीट पर अभिनेत्री कंगना रनौत की बहन रंगोली चंदेल ने जवाब दिया है. उन्होंने न सिर्फ फिल्म की तरफ से सफाई दी बल्कि इस संस्थान की भी जमकर खबर ली.





रंगोली ने लिखा 'कंगना रनौत को तीन राष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं और वो भारत में महिला आन्दोलन को आगे बढ़ाने वाली प्रमुख ताकत है. वो इतनी परिपक्व हैं कि अपनी जिम्मेदारी समझ सकें. हम फिल्म की कहानी का खुलासा नहीं कर सकते, लेकिन हमने फिल्म को संजीदगी से बनाया. उन्होंने इस संस्था को टैग करते हुए लिखा कि कृप्या करणी सेना ना बनें मैं आपको भरोसा दिलाती हूं कि ये फिल्म आपको पसंद आएगी.'



रंगली ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर दीपिका पादुकोण की संस्था को ये सारी बातें कही है. रंगोली ने यहां तक कह डाला कि आप 'मेंटल है क्या' देखने के बाद दीपिका को हटाकर कंगना को ही संस्था की ब्रैंड एम्बेसडर बना लेंगे. बता दें कि इससे पहले कई और मुद्दों पर भी रंगोली अपनी बहन कंगना के लिए खड़ी दिखाई दी हैं.

इससे पहले 'इंडियन मेडिकल एसोसिएशन' और 'इंडियन साइकियाट्रिक सोसाइटी' (आईपीएस) ने निर्माताओं से फिल्म का शीर्षक बदलने और पोस्टर को वापस लेने की अपील की थी. आईएमए एक बयान जारी कर कहा था कि टाइटल में जो 'मेंटल' नामक शब्द है और जो कहने का अंदाज है, वह मानसिक रोग की परेशानियां झेल रहे लोगों की हंसी उड़ाता है और उनका अपमान करता है.ये भी पढ़ें- 'कलंक' को चौथे दिन लगा बड़ा झटका, बॉक्स ऑफिस पर कमा पाई सिर्फ इतने करोड़ 

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार