कंगना होंगी स्टार प्रचारक, फडणवीस बोले- नरेंद्र मोदी के रहते किसी और की जरूरत नहीं

कंगना रनौत और देवेंद्र फडणवीस.

कंगना रनौत और देवेंद्र फडणवीस.

देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को सलाह दी है कि वह कंगना रनौत (Kangana Ranaut) से लड़ने के स्थान पर कोरोना से लड़ाई लड़ने में अपना समय लगाएं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 14, 2020, 4:32 PM IST
  • Share this:
गया. बीजेपी के बिहार चुनाव प्रभारी और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने इस संभावना को सिरे से खारिज कर दिया कि फिल्म एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में राजग की स्टार प्रचारकों में से एक होंगी.

बोधगया में मीडियाकर्मियों से रविवार को बात करते हुए एक प्रश्न के उत्तर में फडणवीस ने कहा कि भाजपा के पास देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) स्वयं एक बहुत बड़े स्टार प्रचारक है. ऐसे में नरेंद्र मोदी जी के रहते किसी दूसरे स्टार प्रचारक की जरूरत नहीं है.

बिहार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में भाजपा के छोटे भाई की भूमिका में होने को लेकर पूछे गए एक सवाल पर कहा कि कोई छोटा-बड़ा भाई नहीं है. सभी एक दूसरे के सहयोगी हैं. जदयू, भाजपा और लोजपा एक-दूसरे के साथ सहयोग कर बिहार में राजग की भारी बहुमत वाली सरकार बनाएंगे.

उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को सलाह दी है कि वह कंगना रनौत से लड़ने के स्थान पर कोरोना से लड़ाई लड़ने में अपना समय लगाएं. इस मौके पर बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार सहित अन्य भाजपा नेता मौजूद थे.
मुंबई में नाटकीय और अधिक मीडिया कवरेज वाले 5-दिवसीय दौरे के बाद, कंगना सोमवार सुबह मनाली लौट आई. अपने ट्विटर हैंडल पर एक विदाई नोट शेयर करते हुए, उन्होंने कहा, 'भारी मन से मुंबई छोड़ने के कारण, जिस तरह से लगातार हमले करके इन दिनों मुझे आतंकित किया गया, मुझे चोट पहुंचाई गई.  मेरे कार्यस्थल के बाद मेरे घर को तोड़ने के प्रयास में मुझे गालियां दी गईं. मेरे चारों ओर घातक हथियारों के साथ सतर्क सुरक्षा में रहने के कारण मुझे कहना होगा कि POK से मुंबई की मेरी तुलना धमाकेदार थी.

एक्ट्रेस ने दावा किया है कि बीएमसी द्वारा उनके बांद्रा स्थित कार्यालय में चलाया गया विध्वंस अभियान 'अवैध' था, जो नगरीय निकाय के दावों के विपरीत था कि वे परिसर में केवल 'अवैध परिवर्तन' को तोड़ने गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज