कंगना रनौत के पिता की रिक्वेस्ट पर दी गई वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा: जी किशन रेड्डी

कंगना रनौत के पिता की रिक्वेस्ट पर दी गई वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा: जी किशन रेड्डी
कंगना रनौत और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी (G. Kishan Reddy) ने कहा कि कंगना रनौत (Kangna Ranaut) के पिता ने हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) को पत्र लिखा था कि उनकी बेटी को डराया धमकाया जा रहा है. कंगना के पिता के अनुरोध पर मुख्यमंत्री ने केंद्र को स्थिति से अवगत कराया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 11, 2020, 10:48 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी (G. Kishan Reddy) ने शुक्रवार को कहा कि एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा, उनके पिता के रिक्वेस्ट करने पर दी गई है. उन्होंने कहा कि रनौत के पिता ने अपने गृह राज्य हिमाचल प्रदेश की सरकार से सुरक्षा मांगी थी जिसे केंद्र को प्रेषित कर दिया गया था.

रेड्डी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि कंगना के पिता के अनुसार एक्ट्रेस सामाजिक विषयों पर अपनी प्रतिक्रिया दे रही थी जो महाराष्ट्र के कुछ लोगों को रास नहीं आई. रेड्डी ने कहा कि रनौत के पिता ने हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को पत्र लिखा था और मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा था कि उनकी बेटी को डराया धमकाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि कंगना के पिता के अनुरोध पर मुख्यमंत्री ने केंद्र को स्थिति से अवगत कराया.

हालांकि यह पूछे जाने पर कि सुरक्षा में खर्च होने वाले धन का भुगतान सरकार या रनौत में से कौन करेगा, मंत्री ने स्पष्ट जवाब नहीं दिया. रेड्डी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर सीबीआई, सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच कर रही है और इसमें केंद्र की कोई भूमिका नहीं है. उन्होंने कहा कि जब भी दो राज्यों के बीच टकराव की स्थिति उत्पन्न होगी तब केंद्र हस्तक्षेप करने को बाध्य होगा.



'सत्ता के दुरुपयोग' का लगाया था आरोप
मुंबई में बीएमसी अधिकारियों द्वारा कंगना रनौत के कार्यालय के कुछ हिस्सों को गिराने के एक दिन बाद एक्ट्रेस ने गुरुवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) पर 'सत्ता के दुरुपयोग' का आरोप लगाया. रनौत ने महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि उनकी आवाज दूर तक जाएगी. इस घटनाक्रम में फिल्म जगत के कई लोग रनौत के समर्थन में आगे आए हैं. रनौत ने शिवसेना (Shiv Sena) के नेतृत्व वाले बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) की गुंडों से तुलना करते हुए कई ट्वीट् पोस्ट किए, जिसमें राज्य सरकार को एक ‘मिलावटी सरकार’ कहकर मराठी संस्कृति को याद करने की नसीहत दी गई है.

गौरतलब है कि मुम्बई पुलिस और महाराष्ट्र के बारे में कंगना के एक हालिया बयान से विवाद खड़ा हो गया है. उन्होंने दावा किया था कि वह मुम्बई में असुक्षित महसूस करती हैं. इसके बाद शिवसेना के नेता संजय राउत ने उनसे मुम्बई वापस नहीं आने को कहा था. राउत के इस बयान के बाद एक्ट्रेस ने मुम्बई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से की थी. कंगना ने राकांपा-शिवसेना-कांग्रेस की राज्य सरकार पर तंज कसा और कहा कि शिवसेना की विचारधारा से समझौता किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज