आर्टिकल 370 पर फिल्म बनाने के लिए 30 बॉलीवुड प्रोड्यूसर्स में जंग, मांग रहे हैं ये टाइटल

आर्टिकल 370 और आर्टिकल 35ए पर फिल्म बनाने के लिए सबसे ज्यादा जिस टाइटल की मांग हो रही है, जानिए वो क्या है-

News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 12:57 PM IST
आर्टिकल 370 पर फिल्म बनाने के लिए 30 बॉलीवुड प्रोड्यूसर्स में जंग, मांग रहे हैं ये टाइटल
आर्टिकल 370 और आर्टिकल 35ए पर फिल्में बनेंगी.
News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 12:57 PM IST
नरेंद्र मोदी सरकार की ओर से जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाने का फैसला सदन में पास होते ही बॉलीवुड में इस विषय पर फिल्म बनाने ‌की होड़ लग गई है. कई निर्माता-निर्देशकों ने इस विषय पर फिल्म बनाने की उत्कंठा जाहिर की है. लेकिन इनमें सबसे ज्यादा चुनौती फिल्म के नामों को लेकर हो रही है. फिल्ममेकर्स इस विषय पर कुछ खास नामों से फिल्म बनाना चाहते हैं. लेकिन एक ही नाम पर एक ही समय में दो फिल्में नहीं बन सकतीं.

ऐसे में फिल्मों के नामों को लेकर अंतिम फैसला लेने वाली संस्‍था इंडियन मोशन पिक्चर प्रोड्यूसर असोसिएशन (IMPPA) ने बताया है कि अब तक करीब 20 से 30 बॉलीवुड फिल्म निर्माताओं ने संपर्क किया है. वे एक ही नाम के इर्द-गिर्द अपनी फिल्म का टाइटल रखना चाहते हैं.

पहले से रजिस्टर हो गया है आर्टिकल 370
आईएमपीपीए ने बताया कि 'आर्टिकल 370' और आर्टिकल 35A नाम से पहले ही कुछ निर्माताओं ने अपनी फिल्में रजिस्टर करा ली हैं. उल्लेखनीय है कि हाल ही में 'आर्टिकल 15' नाम की फिल्म आई थी.

ये भी पढ़ेंः सुषमा स्वराज बनकर सिनेमा के पर्दे पर आना चाहती हैं तापसी पन्नू

आईएमपीपीए ने कहा है कि इन दोनों टाइटल से फिल्में बनाने की अनुमति मिल गई है. पर ये टाइटल किसे दिए जाएंगे, इसका खुलासा कुछ समय बाद किया जाएगा.

आर्टिकल 370 ना मिलने मांगे जा रहे हैं ये नाम
Loading...

बॉलीवुड निर्माताओं की ओर से आर्टिकल 370 और आर्टिकल 35ए टाइटल ना मिलने पर सबसे ज्यादा मांग 'कश्मीर हमारा है' टाइटल की है.

इससे पहले लगी थी पुलवामा हमले पर फिल्म बनाने की होड़
इसी साल फरवरी में पुलवामा हमले और उसके बाद भारत की ओर से की गई एयरस्ट्राइक के बाद भी इसी तरह की होड़ देखने को मिला थी. तब फिल्म निर्माताओं ने अभिनंदन, बालाकोट, पुलवामा टाइटल से फिल्में बनाने की मांग की थी. जबकि उरी नाम की फिल्म पहले ही बन चुकी थी.

इन टाइटल से आएंगी फिल्में?
आईएमपीपीए के अनुसार उनके पास पहले से 'द एयर स्ट्राइक ऑफ पुलवामा', 'द एयर स्ट्राइक', इंडिया स्ट्राइक बैक, 14 फरवरी 2019 पुलवामा अटैक, सर्जिकल स्ट्राइक 2.0, सर्जिकल स्ट्राइक 2.0 कोड पुलवामा, जीरो मर्सी पुलवामा, इंडियन स्ट्राइक कोड पुलवामा और जोश इज हाई नाम के टाइटल पहले से रजिस्टर कराए जा चुके हैं.

केंद्र सरकार ने सोमवार को एक विधेयक में राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों - जम्मू कश्मीर और लद्दाख में बांटने का प्रस्ताव भी किया था.

इसके बाद कई फिल्मकार ‘इंडियन मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन’ (आईएमपीपीए) का रूख कर फिल्म का नाम पंजीकृत कराने के लिए जानकारी हासिल कर रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः अनुराग कश्यप ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, बुरी तरह हुए ट्रोल

निकाय के करीबी एक सूत्र ने पीटीआई-भाषा को बताया कि ‘आर्टिकल 370’ और ‘कश्मीर हमारा है’ जैसे कई नाम पंजीकृत कराए गए हैं.

संस्था से जुड़े एक शख्स ने बताया, ‘‘ ऐसा नहीं होता है कि आपने कोई नाम पंजीकृत कराया और वो आपको आवंटित कर दिया गया. कई फिल्मकार इस विषय पर फिल्म बनाना चाहते हैं क्योंकि यह एक ज्वलंत मुद्दा है और लोगों ने ‘आर्टिकल 370’ नाम के संबंध में जानकारी हासिल की है.’’
First published: August 7, 2019, 5:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...