KBC Season 11: पहला सप्ताह खत्म, गलत जवाब नहीं, केबीसी के हूटर ने नहीं बनने दिया मां-बेटी को करोड़पति

News18Hindi
Updated: August 24, 2019, 5:24 AM IST
KBC Season 11: पहला सप्ताह खत्म, गलत जवाब नहीं, केबीसी के हूटर ने नहीं बनने दिया मां-बेटी को करोड़पति
सिंधूताई और उनकी बेटी ने बेहद जबर्दस्त खेला.

केबीसी 11 (KBC Season 11) के पहले सप्ताह का खेल खत्म हो गया है. इस दौरान हॉट सीट पर इन मां-बेटी ने सबसे अच्छा प्रदर्शन किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2019, 5:24 AM IST
  • Share this:
कौन बनेगा करोड़पति (Kaun Banega Crorepati) के पहले सप्ताह की समाप्ति पर सबसे ज्यादा राशि जीतने वाली कंटेस्टेंट बनीं सिंधूताई और उनकी बेटी ममता की जोड़ी. ये कंटेस्टेंट करमवीर स्पेशल शो के लिए आई थीं. इन्होंने बिग बी के ज्यादातर सवालों के बहुत तेजी से जवाब दिया. एक दौर ऐसा लगने लगा था कि शायद निर्धारित समय में ही ये मां-बेटी करोड़पति बन जाएंगी. लेकिन हूटर के चलते ये दोनों करोड़पति बनने से चूक गईं.

सिंधूताई और उनकी बेटी ने केबीसी में 25 लाख रुपये तक के सही जवाब दिए. जैसे ही अमिताभ उनके सामने 50 लाख रुपये सवाल पूछने जा रहे थे, उसी दौरान केबीसी के शो खत्म करने का हूटर बज गया. ऐसे में इस मां-बेटी के सामने अगला सवाल नहीं पूछा जा सका. ऐसे में दोनों करोड़पति बनने से महज दो सवाल दूर रह गईं. इन्होंने न तो गेम छोड़ा न ही गलत जवाब दिया बल्कि खेल का निर्धारित समय ही खत्म हो गया.

गौरलतब है कि सिंधूताई महाराष्ट्र की एक जानी-मानी समाजसेवी हैं. वे अनाथालय चलाती हैं. उनके अनाथाश्रम में करीब 1200 बच्चों के होने का दावा किया जाता है. बताया जाता है कि वे सभी बच्चों की देखरेख करती हैं. ऐसे में 25 लाख जीतकर केबीसी की हॉट सीट से उतरीं सिंधूताई को केबीसी ने एक अवार्ड देकर भी सम्मानित किया.

यह भी पढ़ेंः 1200 बच्चों को पालती हैं सिंधुताई,KBC 11 में हुआ ऐसा स्वागत

इससे पहले सिंधूताई ने कहा कि देश से अनाथ जैसी समस्या को दूर करना चाहिए. किसी भी बच्चे के अनाथ होने में बहुत दर्द होता है. कई बार हर अनाथ बच्चे को सिंधूताई नहीं मिल पाती. ऐसे में बच्चों को बहुत परेशानी होती है.

सिंधूताई और उनकी बेटी को जिन सवालों के जवाब देने में परेशानी हुई उनमें प्रमुख रहा कि किस जिमनास्ट को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार दिया गया. इसमें एक्‍सपर्ट पंकज पचौरी को भी जवाब देने में मुश्किल का सामना करना पड़ा. इसका सही जवाब दीपा कर्माकर था. इसके अलावा ऑक्सफोर्ड ने 2018 में किस हिन्दी शब्द को शामिल किया. इस सवाल को इस जोड़ी ने बदलवाया. इसका सही जवाब नारी शक्ति था.

यह भी पढ़ेंः KBC की इस कंटेस्टेंट को मरा बताकर फेंका था कूड़ेदान में
Loading...

अंत में इन्होंने अर्जुन के वंशजों को पहचानने के लिए फिफ्टी-फिफ्टी का इस्तेमाल किया. इस तरह से मां-बेटी ने सभी लाइफलाइन के इस्‍तेमाल कर लिया था. लेकिन समय सीमा के चलते वे 25 लाख रुपये की रकम ही जीत सकीं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 5:24 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...