राजकीय सम्मान के साथ विदा हुए ख़य्याम, बॉलीवुड में स्ट्रगल करने वालों को दान कर दी थी संपत्ति

मशहूर संगीतकार ख़य्याम (Khayyam) को सोनू निगम (Sonu Nigam), गुलजार (Gulzar), जावेद अख़्तर, सुरेश वाडेकर, तलत अजीज, विशाल भारद्वाज समेत बॉलीवुड की बड़ी हस्तियों ने नम आंखों से अंतिम विदाई दी. जानिए इन लोगों ने उनके बारे में क्या कहा.

शिखा धारीवाल | News18Hindi
Updated: August 20, 2019, 6:56 PM IST
राजकीय सम्मान के साथ विदा हुए ख़य्याम, बॉलीवुड में स्ट्रगल करने वालों को दान कर दी थी संपत्ति
खय्याम को राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई.
शिखा धारीवाल | News18Hindi
Updated: August 20, 2019, 6:56 PM IST
'उमराव जान, हीर रांझा ,बाज़ार, कभी-कभी' जैसी कई हिट फ़िल्मों में संगीत देने वाले मशहूर संगीतकार ख़य्याम (Khayyam) को सोनू निगम (Sonu Nigam), गुलजार (Gulzar), जावेद अख़्तर (Javed Akhtar), सुरेश वाडेकर, तलत अजीज, विशाल भारद्वाज समेत बॉलीवुड की बड़ी हस्तियों ने नम आंखों से अंतिम विदाई दी. मुंबई में मंगलवार को ख़य्याम की अंतिम विदाई राजकीय सम्मान के साथ हुई. मुंबई के चार बंगला अंधेरी क़ब्रिस्तान में उन्हें दफनाया गया. इससे पहले महाराष्ट्र पुलिस ने तिरंगे में लपेट कर ख़य्याम साहब को राजकीय सलामी दी.

बॉलीवुड में स्ट्रगल करने वालों को दान कर दी संपत्ति
ख़य्याम भले ही दुनिया को अलविदा कह गए हों, लेकिन उनका संगीत और उनके काम लोगों को उनकी याद हमेशा दिलाते रहेंगे. आपको बता दें कि जाने से पहले ख़य्याम ने बॉलीवुड में स्ट्रगल कर रहे लोगों के लिए एक ट्रस्ट बनाकर अपनी अधिकतर संपत्ति इस ट्रस्ट के नाम कर दी थी. अब इस ट्रस्ट से उनकी ग़ैर मौजूदगी में भी डेढ़ लाख रुपया हर साल हमेशा की तरह सिने वर्कर्स संस्था को जाएगा और पांच लाख प्रधानमंत्री कोष में जाएगा. इसके अलावा इस ट्रस्ट का कुछ पैसा हर साल मुख्यमंत्री राहत कोष में भी जाएगा. खुद पीएम मोदी ने भी खय्याम के निधन पर ट्वीट कर के शोक व्यक्त किया है.

ख़य्याम को आख़िरी विदाई देने पहुंचे सितारों ने ख़य्याम से जुड़ी यादें साझा करते हुए कहा कि भले ही ख़य्याम दुनिया को अलविदा कह गए हाें, लेकिन उनकी मौजूदगी हमेशा रहेगी.

सोनू, जावेद और गुलजार ने यूं किया याद
सोनू निगम ने कहा, 'ख़य्याम साहब श्रेष्ठ लोगों में एक थे. बेहतरीन काम किया है. बॉलीवुड के सभी नामचीन लोग उनके काम को सराहते हैं. हालांकि बाद में उम्र की वजह से उन्होंने ज़्यादा काम नहीं किया. उन्होंने अपनी प्रॉपर्टी तक ट्रस्ट को दे दी थी. ऐसा बताइए कौन करता है. उन्होंने अपनी पत्नी और अपने लिए बहुत कम रखा. शांति से ज़िंदगी जी. हम उनकी ज़िंदगी को सेलिब्रेट करेंगे. उनके गानोँ पर मैंने भी रियाज़ किया है.'
Loading...

वहीं दुख की घड़ी में उनके परिवार को ढांढस बंधाने पहुंचे गुलज़ार ने कहा कि बॉलीवुड के लिए ख़य्याम का जाना सिर्फ़ बड़ा नुक़सान ही नहीं बल्कि उनके जाने से सुकून चला गया.

ख़य्याम के अंतिम दर्शन कर भावुक हुए जावेद अख़्तर ने कहा, 'ख़य्याम साहब म्यूज़िक के उस दौर से ताल्लुक रखते थे जहां अल्फ़ाज से लेकर हर बात का ख़याल रखा जाता था. यही वजह है कि उनकी फ़्लॉप फ़िल्मों के गाने 40 साल बाद भी लोगों को याद हैं. जबकि आजकल गाने हिट होने के बाद भी लोग 15 दिन में भूल जाते है. संगीत का एक दौर उनके साथ चला गया. उनकी तबीयत ठीक नहीं थी. मैं उन्हें बचपन से जानता हूं, मैंने उनके साथ बहुत वक़्त गुज़ारा है. हमारी अच्छी दोस्ती थी.



पत्नी जगजीत कौर की तबीयत भी बिगड़ी 
जब से उनकी तबीयत ख़राब थी, तब से उनकी तबीयत देख उनकी पत्नी जगजीत कौर की तबीयत भी बिगड़ गई थी. इसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. आज जब उन्हें पति ख़य्याम की ख़बर दोपहर में दी गई है तबसे उनकी तबीयत लगातार बिगड़ रही है. बॉलीवुड में इनकी जोड़ी की मिसाल दी जाती थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 6:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...