लता मंगेशकर ने ट्वीट कर जताया पंडित राजन मिश्र के निधन पर दुख, बोलीं- ये सुनकर...

लता मंगेशकर ट्विटर पर एक्टिव रहती हैं. फाइल फोटो

लता मंगेशकर ट्विटर पर एक्टिव रहती हैं. फाइल फोटो

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 8:47 AM IST
  • Share this:
मुंबई. कोरोना (Coronavirus) भारत में काल बन चुका है. रोज बढ़ते आकंड़े अब लोगों को डराने लगे हैं. बनारस घराने की मशहूर मिश्र बंधुओं की जोड़ी को भी कोरोना ने तोड़ दिया है. पंडित राजन मिश्र (Pandit Rajan Mishra) रविवार (25 अप्रैल) को दुनिया को अलविदा कहकर चले गए हैं. इस खबर से संगीत की दुनिया में शोक की लहर है. स्वर कोकिला लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) को जब राजन मिश्र के निधन के खबर मिली तो वह दुखी हो गईं. उन्होंने अपना ये दुख सोशल मीडिया पर फैंस के साथ शेयर किया है.

लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने ट्विटर पर एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, 'मुझे अभी पता चला कि बहुत गुणी शास्त्रीय गायक पद्म भूषण, संगीत नाटक अकेडमी पुरस्कार से सम्मानित किए जा चुके पंडित राजन मिश्रा जी का निधन हो गया है. ये सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ. इश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे. मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं'.

Lata Mangeshkar, Pandit Rajan Mishra, Pandit Rajan Mishra died, Lata Mangeshkar's tweet, social media, लता मंगेशकर, पंडित राजन मिश्र, पंडित राजन मिश्र का निधन, लता मंगेशकर का ट्वीट, सोशल मीडिया

पीएम ने भी ट्वीट कर उनके निधन पर शोक जताया था. उन्होंने कहा था, 'शास्त्रीय गायन की दुनिया में अपनी अमिट छाप छोड़ने वाले पंडित राजन मिश्र जी के निधन से अत्यंत दुख पहुंचा है. बनारस घराने से जुड़े मिश्र जी का जाना कला और संगीत जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है. शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ हैं. ओम शांति!'
पंडित राजन मिश्र अपने छोटे भाई पंडित साजन मिश्र के साथ खूबसूरत बॉन्डिंग शेयर करते रहे और संगीतमय सफर का आनंद भी साथ में ही लिया. ये एक ऐसा रिश्ता रहा जहां पर दोनों ना सिर्फ संगीत बल्कि एक-दूसरे के हर सुख-दुख में भी साथ खड़े रहे.

बनारस घराने से ताल्‍लुक रखने वाले राजन मिश्रा ख्‍याल शैली के भारत के प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक थे. इन्हें सन 2007 में भारत सरकार द्वारा कला के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था. उन्होंने 1978 में श्रीलंका में अपना पहला संगीत कार्यक्रम दिया और इसके बाद उन्होंने जर्मनी, फ्रांस, स्विट्जरलैंड, ऑस्ट्रिया, संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, नीदरलैंड, यूएसएसआर, सिंगापुर, कतर, बांग्लादेश और दुनिया भर के कई देशों में प्रदर्शन किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज