वोटर्स को जागरूक करने वाले ब्रांड एंबेसेडर ने ही नहीं किया वोट, सामने आई सच्चाई...

चुनाव आयोग ने बॉलीवुड एक्टर आयुष्मान खुराना को मतदाता जागरूकता अभियान का ब्रांड एंबेसडर बनाया था.

News18Hindi
Updated: May 22, 2019, 1:05 PM IST
वोटर्स को जागरूक करने वाले ब्रांड एंबेसेडर ने ही नहीं किया वोट, सामने आई सच्चाई...
चुनाव आयोग ने बॉलीवुड एक्टर आयुष्मान खुराना को मतदाता जागरूकता अभियान का ब्रांड एंबेसडर बनाया था.
News18Hindi
Updated: May 22, 2019, 1:05 PM IST
चुनाव आयोग ने जिसे मतदाता जागरूकता अभियान का ब्रांड एंबेसेडर बनाया, उसी ने मतदान नहीं किया. बीते दिनों अभिनेता आयुष्मान खुराना को लेकर ये खबर खासा चर्चा में रही कि मतदाताओं को जागरूक करने के लिए आयोग की ओर से चुने गए बॉलीवुड एक्टर आयुष्मान खुराना ने अपना वोट नहीं डाला.

मतदाता जागरूकता अभियान के ब्रांड एंबेसेडर के तौर पर आयुष्मान के छोटे और बड़े सैकड़ों होर्डिंग्स लगवाए गए थे, लेकिन मतदान के दिन अभिनेता आयुष्मान खुराना खुद अपना वोट डालने चंडीगढ़ नहीं पहुंचे. इस बात पर कई मीडिया चैनलों पर सुर्खियां भी बनी लेकिन अब इस मामले में आयुष्मान का पक्ष सामने आया है.



अब चीन में 'अंधाधुन' धमाका करेंगे आयुष्मान खुराना

आयष्मान ने बताया कि इस बारे में निर्वाचन आयोग को कैंपेन की शुरुआत से ही जानकारी थी और वो एक बेहद निजी काम के लिए मुंबई से बाहर नहीं जा सकते थे.

आयुष्मान की सफाई

आयुष्मान के मतदान बूथ पर नहीं आने को लेकर निर्वाचन कार्यालय भी जवाब देने से कतराता रहा. लेकिन अब आयुष्मान ने इस मामले में अपना पक्ष साफ किया है और एक स्पष्टीकरण जारी करते हुए बताया है कि पत्नी की मेडिकल ज़रुरतों के चलते वो इस दिन मुंबई शहर से बाहर नहीं जा सकते थे.

आयुष्मान खुराना को सेक्टर आठ के डीएवी कॉलेज में बने बूथ पर जाकार वोट करना था, लेकिन वह वोट डालने 19 मई को शहर नहीं पहुंचे.
Loading...

आयुष्मान खुराना ने स्पष्ट किया कि वो जानते थे की 19 मई को वो वोट डालने नहीं आ पाएंगे. इस बारे में  पहले ही प्रशासन के संबंधित अधिकारियों को अवगत करा दिया था कि उन्हें जरूरी व्यक्तिगत काम है, जिसके कारण वह वोटिंग के दिन चंडीगढ़ नहीं आ सकेंगे. इसके बाद भी अधिकारियों ने उन्हें वोटिंग के लिए लोगों को प्रेरित करने का जिम्मा देना चाहा और आयुष्मान को भी लगा कि अगर वो अपना वोट नहीं दे पा रहे हैं तो कम से कम लोगों को तो इस काम के लिए प्रेरित कर सकते हैं.

ये एक बेहद निजी और ज़रुरी मसला था वर्ना आयुष्मान अपने मताधिकार का इस्तेमाल ज़रुर करते. आपको बता दें कि हाल ही में आयुष्मान की पत्नी ताहिरा ने कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जंग जीती है और आयुष्मान ऐसी स्थिति में पत्नी को अकेला नहीं छोड़ सकते थे.

ये भी पढ़ें -   चैरिटी शो से निकाले गए विवेक ओबेरॉय, भारी पड़ा बेहूदा मजाक

Exit Poll 2019: इस हिंदी भाषी राज्य में NDA पर भारी पड़ा UPA, मिलीं इतनी सीटें!एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...