Love Sex Aur Dhokha को 11 साल हुए पूरे, एकता कपूर-दिबाकर बैनर्जी दूसरे पार्ट के लिए आए साथ!

एकता कपूर (फाइल फोटो)

ठीक 11 साल पहले फिल्म 'लव सेक्स और धोखा' (Love Sex Aur Dhokha) रिलीज हुई थी जिसने फिल्मों को देखने का हमारा नजरिया बदल दिया था. अब इसके दूसरे पार्ट को बनाने की घोषणा हुई है. इसके लिए एकता कपूर (Ekta Kapoor) और दिबाकर बनर्जी (Dibakar Banerjee) फिर साथ आए हैं.

  • Share this:
    नई दिल्लीः फिल्म 'लव सेक्स और धोखा' (Love Sex Aur Dhokha) को रिलीज हुए आज 11 साल पूरे हो गए हैं. इस मौके पर फिल्म निर्माताओं ने इस फिल्म के दूसरे भाग को बनाने की घोषणा कर दी है. आज भी 'लव सेक्स और धोखा' लोगों को आकर्षित करती है. यह एक अलग किस्म की फिल्म थी, जिसे दर्शकों का खूब प्यार मिला था. इसका दूसरा पार्ट (Love Sex Aur Dhokha 2) भी नए तरह के सिनेमा की नई लहर लाने के लिए बिल्कुल तैयार है!

    2010 में 'लव सेक्स और धोखा' ने फिल्मों में कहानी कहने का नया तरीका बताया था. फिल्म ने अपनी दिलचस्प कहानी से इंडियन सिनेमा की सोच को झकझोर कर रख दिया था. इस फिल्म के जरिए राजकुमार राव और नुसरत भरुचा जैसे स्टार एक्टरों का बॉलीवुड में शानदार आगाज हुआ था. '

    एलएसडी 2' के साथ निर्माता इस चलन को आगे बढ़ाना चाहते हैं. वे इस फिल्म को 'कल्ट मूवीज’ बनाएंगे, जिसे एकता कपूर ने नए दौर की आकर्षक कहानियों को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया था. 'एलएसडी 2' में एकता कपूर और दिबाकर बनर्जी 11 साल बाद फिर से एक साथ काम कर रहे हैं. इस साझेदारी को बड़ी उम्मीदों के साथ देखा जा रहा है.

    एकता कपूर कहती हैं, 'एलएसडी को अपनी दिलचस्प कहानी और इनोवेटिव म्यूजिक के लिए याद किया जाता है. हमारी सबसे पसंदीदा फिल्मों में से एक के दूसरे पार्ट बनाने की घोषणा करने के लिए आज से बेहतर दिन और क्या हो सकता है.

    वह आगे कहती हैं, 'दिबाकर का आर्ट और कहानी कहने का कौशल शानदार है. मैं उनके साथ फिर से जुड़ने के लिए रोमांचित हूं. हम इस बार फिर से जादू बिखेरने के लिए तैयार हैं और उम्मीद करते हैं कि दर्शक 'एलएसडी 2' को पसंद करेंगे. वह इसे उतना ही सराहेंगे, जितना उन्होंने पहले पार्ट को सराहा था.'

    दिबाकर कहते हैं, 'एलएसडी हमारे जीवन में बदलाव का एक क्षण था, जिसे तकनीक के जरिए कैप्चर किया गया था. एक दशक बाद तकनीक की एक और लहर हमारे सोचने, सपने देखने, जीने, प्यार और नफरत के तरीके को बदल रही है. हम फिर से किसी ऐसी चीज में बदल रहे हैं, जिसे हम ज्यादा जानते नहीं हैं. 'एलएसडी 2' इसी अनजान गहराई में गोता लगाने वाली एक कहानी होगी. यह कुछ ऐसा हो सकता है, जिससे हमें रात में डर लगता है. यह वह मिरर हो सकता है, जो हम बन रहे हैं.