बीजेपी का आरोप- मीरा चोपड़ा को आउट ऑफ टर्न वैक्सीन लगाया गया, एक्ट्रेस का इनकार

(Photo@meerachopra/Instagram)

बीजेपी (BJP) ने दावा किया कि मीरा चोपड़ा (Meera Chopra) को निजी फर्म ने सुपरवाइजर के रूप में उनकी पहचान करने वाला एक फोटो पहचान पत्र दिया था, जिसके आधार पर उन्होंने 'फ्रंटलाइन वर्कर' की प्रायोरिटी कैटेगरी के तहत अपना वैक्शीनेशन करा लिया.

  • Share this:
    थाणे. बीजेपी (BJP) ने आरोप लगाया है कि एक्ट्रेस को एक निजी फर्म द्वारा संचालित एक नागरिक स्वास्थ्य केंद्र में आउट ऑफ टर्न, एंटी कोविड ​​-19 वैक्सीन लगाई गई. बीजेपी ने शनिवार को दावा किया था कि एक्ट्रेस मीरा चोपड़ा (Meera Chopra) को निजी फर्म ने सुपरवाइजर के रूप में उनकी पहचान करने वाला एक फोटो पहचान पत्र दिया गया था. इसके आधार पर उन्होंने 'फ्रंटलाइन वर्कर' की प्रायोरिटी कैटेगरी के तहत टीएमसी के पार्किंग प्लाजा केंद्र में वैक्शीनेशन लगवाने में मदद मिली.

    ठाणे नगर निगम ने रविवार को इस मामले की एक जांच का आदेश दिया, जब बीजेपी ने आरोप लगाया कि एक्ट्रेस मीरा चोपड़ा को एक निजी फर्म द्वारा संचालित एक सिविक हेल्थ सेंटर में एंटी कोविड-19 टीका लगाया गया.

    मीरा चोपड़ा की पोस्ट.


    टीएमसी के प्रवक्ता और डीएमसी संदीप मालवी ने रिपोर्टरों को बताया कि, 'टीएमसी आयुक्त विपिन शर्मा ने उप नगर आयुक्त (स्वास्थ्य) को मामले की जांच करने के आदेश दिए हैं, ताकि पता लगाया जा सके कि इस फिल्म एक्ट्रेस को टीका लगाया गया था या नहीं. 3 दिनों में जांच रिपोर्ट प्रस्तुत की जानी है.'

    मालवी ने कहा, 'ऐसी खबरें हैं कि मीरा चोपड़ा को ठाणे के एक केंद्र में टीका लगाया गया था. जांच करने वाले अधिकारी मामले के सभी पहलुओं पर गौर करेंगे और अगर किसी ने कोई गलत काम किया होगा तो कार्रवाई की सिफारिश की जाएगी. मीरा चोपड़ा ने आरोपों का खंडन किया है.

    संदीप मालवी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर कहा है कि, मुझसे रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड मांगा गया था. मैंने केवल अपना आधार कार्ड दिया था. बिना सिग्नेचर के कोई आईडी वैलिड नहीं होती है. मैं ऐसे किसी भी प्रैक्टिस की निंदा करती हूं और यदि ऐसी कोई आईडी बनाई जा सकती है तो मैं खुद जानना चाहती हूं कि यह कैसे और क्यों होता है?