एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को लेकर महाराष्ट्र सरकार बेहद सतर्क, हर 15 दिन में होगा कोरोना टेस्ट

एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के लोगों का हर 15 दिन में कोरोना टेस्ट. (फोटो प्रतीकात्मक)

एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के लोगों का हर 15 दिन में कोरोना टेस्ट. (फोटो प्रतीकात्मक)

मायानगरी में कोराना महामारी का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है. फिल्म और टीवी इंडस्ट्री से जुड़े लोगों का हर 15 दिन में कोविड-19 टेस्ट (COVID -19 Test) करवाने के लिए महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने गाइडलाइन जारी कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 4:03 PM IST
  • Share this:
मुंबई: देशभर में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) एक बार फिर बुरी तरह फैलती जा रही है. महाराष्ट्र में खास तौर पर संकट बढ़ता जा रहा है. ऐसे में महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) के लिए इस हालात से निपटना काफी मुश्किल भरा है. कोविड-19 की नई लहर के बीच हाल ही में प्रदेश सरकार ने कोरोना की नई गाइडलाइंस जारी करते हुए फिल्मों और टीवी सीरियलों की शूटिंग में हिस्सा लेने वालों के लिए हर 15 दिन में RT-PCR टेस्ट अनिवार्य कर दिया है. इसी गाइडलाइन के तहत एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री से जुड़े करीब 15 हजार लोगों के RT-PCR टेस्ट करावाए जाने की जानकारी सामने आई है.

एबीपी न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक इंडियन फिल्म एंड टीवी प्रोड्यूसर्स काउंसिल के अध्यक्ष जे.डी. मजीठिया ने खास बातचीत में कहा कि  'हर 15 दिन में RT-PCR टेस्ट करने का फैसला महाराष्ट्र सरकार की नई कोरोना गाइडलाइंस का हिस्सा है, जिसके तहत अब तक अंदाजा 15 हजार लोगों के टेस्ट करवाए जा चुके हैं. इनमें 9 हजार लोगों की टेस्ट रिपोर्ट्स भी आ गई है. जिनके डाटा और नतीजों को IFTPC ने सरकार के साथ शेयर किया है.'  फिल्मों, टीवी और वेब शोज की शूटिंग को लेकर तमाम तरह के एहतियात बरतने को लेकर निर्माता और तमाम प्रोडक्शन हाउस पूरी तरह से संजीदा हैं और कोरोना‌ के गहराते संकट के बीच सभी नियमों का कड़ाई से पालन किया जा रहा है.

बता दें कि देशभर में बढ़ते कोरोना के नए मामलों में महाराष्ट्र सबसे आगे है. महाराष्ट्र में कई तरह की पाबंदियों के बावजूद कोरोना विस्फोट जारी है. ऐसे में एक बार फिर महाराष्ट्र लॉकडाउन की ओर बढ़ता दिख रहा है. खबरों की मानें तो राज्य में कोरोना की रफ्तार थामने के लिए 15 दिनों का लॉकडाउन लगाए जाने पर सरकार विचार कर रही है. टास्क फोर्स में शामिल एक्सपर्ट्स का मानना है कि राज्य में कोरोना के संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए कम से कम दो हफ्ते का लॉकडाउन लगाना जरूरी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज