Manoj Kumar Birthday: लाल बहादुर शास्त्री से मिली थी फिल्म 'उपकार' की प्रेरणा, पढ़ें 'भारत कुमार' के बारे में 10 दिलचस्‍प बातें

Manoj Kumar Birthday: लाल बहादुर शास्त्री से मिली थी फिल्म 'उपकार' की प्रेरणा, पढ़ें 'भारत कुमार' के बारे में 10 दिलचस्‍प बातें
मनोज कुमार

हरिशंकर गिरि गोस्वामी यानी मनोज कुमार (Manoj Kumar) आज अपना 83 वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं. वह तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri) जी के सुझाव से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने दिल्ली से मुंबई लौटते वक्त ही फिल्म 'उपकार' की कहानी तैयार कर ली थी.

  • Share this:
मुंबई. हरिशंकर गिरि गोस्वामी यानी मनोज कुमार (Manoj Kumar) आज अपना 83 वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं. उनका जन्म का जन्म 24 जुलाई 1937 को ऐबटाबाद (पाकिस्तान) में  हुआ था. विभाजन के बाद वह दिल्ली आ गए और फिर मुंबई. एक लंबे समय तक बॉलीवुड पर राज करने वाले इस शानदार एक्टर को 'उपकार', 'पूरब और पश्चिम', 'रोटी कपडा और मकान', 'क्रांति', 'नील कमल', 'हरियाली और रास्ता', 'वो कौन थी', 'हिमालय की गोद में', 'दो बदन' जैसी फिल्मों के लिए जाना जाता है.

मनोज कुमार को कहा जाने लगा भारत कुमार
साल 1992 में उन्हें भारत सरकार ने पद्मश्री से सम्मानित किया था. इसके साथ ही उन्हें हिंदी सिनेमा का सबसे प्रतिष्ठित दादा साहब फाल्के अवॉर्ड भी मिल चुका है. उन्होंने देशभक्ति वाली काफी फिल्में की और उनकी ज्यादातार फिल्मों में उनके किरदार का नाम भारत रखा गया, इसके कारण लोगों के बीच वो 'भारत कुमार' के नाम से फेमस हो गए. 'पूरब और पश्चिम', 'रोटी कपडा और मकान', 'क्रांति' सहित कई फिल्मों में वह देशभक्ति के रंग में डूबे हुए नजर आए. 'क्रांति' में उन्हें अपने आदर्श दिलीप कुमार के साथ काम करने का मौका मिला. भगत सिंह के जीवन पर आधारित 'शहीद' फिल्म के बाद देशभक्ति आधारित फिल्मों में उनका खूब नाम हुआ.

मनोज कुमार के 83वें जन्मदिन पर जानिए उनसे जुड़ी 10 दिलचस्प बातें-
1. मनोज कुमार अपनी जवानी के दिनों में बॉलीवुड सुपरस्टार दिलीप कुमार से इतने प्रभावित थे कि 1949 में आई फिल्म 'शबनम' में दिलीप कुमार के नाम मनोज कुमार को उन्होंने हमेशा के लिए अपना लिया.


2. मनोज कुमार ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत डायरेक्टर लेखराज भाकरी की 1957 में आई फिल्म 'फैशन' से की थी. लेकिन ये बात कम ही लोग जानते हैं कि लेखराज भाकरी असल जिंदगी में मनोज के कजिन थे.
3. अपनी पहली ही फिल्म 'फैशन' में मनोज ने एक भिखारी का किरदार निभाया था. हालांकि ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप साबित हुई थी.
4. फिल्म 'उपकार' की प्रेरणा मनोज कुमार को तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री से मिली थी. दरअसल शास्त्री जी को मनोज कुमार की फिल्म 'शहीद' बेहद पसंद आई थी जिसे देखने के बाद उन्होंने मनोज कुमार को 'जय जवान,जय किसान' पर फिल्म बनाने का सुझाव दिया था.
5. शास्त्री जी के सुझाव से मनोज इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने दिल्ली से मुंबई लौटते वक्त ही फिल्म 'उपकार' की कहानी तैयार कर ली थी.
6. एक्टर और डायरेक्टर होने के साथ ही मनोज कुमार होमियोपैथी के डॉक्टर भी हैं.
7. बॉलीवुड की 16 फिल्मों में साथ काम कर चुके अमिताभ बच्चन और शशि कपूर को सबसे पहले स्क्रीन पर मनोज कुमार अपनी फिल्म 'रोटी, कपड़ा और मकान' में साथ लाए थे.
8. हिट फिल्म 'रोटी, कपड़ा और मकान' से पहले अमिताभ बच्चन का करियर ढलान पर आ गया था और वो मुंबई छोड़ने का मन बना चुके थे. लेकिन मनोज कुमार ने उन्हें मुंबई छोड़ कर जाने से रोका और अपनी फिल्म 'रोटी, कपड़ा और मकान' का ऑफर दिया.
9. मनोज कुमार हवाई जहाज में सफर नहीं करते हैं. फिल्म 'पूरब और पश्चिम' की शूटिंग के लिए हवाईजहाज में बैठने पर उनके मन में डर बैठ गया था. जिसके बाद से उन्होंने आज तक दुबारा हवाई सफर नहीं किया है.
10. कई बॉलीवुड सेलेब्स की तरह मनोज कुमार भी राजनीति से अछूते नहीं रहे. साल 2004 के जनरल इलेक्शन में ये घोषणा कर दी गई थी कि मनोज कुमार शिवसेना में शामिल हो चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज