अपना शहर चुनें

States

न्यूड पिक पर बोले मिलिंद सोमन- मेरा परिवार जो करे वो अच्छी संस्कृति; अन्य लोग जो करे वो अमेरिकी

मिलिंद सोमन ने अपने न्यूड पिक विवाद पर पहली बार सफाई दी है.
मिलिंद सोमन ने अपने न्यूड पिक विवाद पर पहली बार सफाई दी है.

मिलिंद सोमन (Milind Soman) ने कहा कि, लोग सोचते हैं कि मेरा मेरा परिवार जो कुछ भी करता है वह एक अच्छी संस्कृति है और अन्य लोग जो करते हैं, वह अमेरिकी है. इसलिए उनके लिए मुझे वह फोटो अमेरिका में शेयर करनी चाहिए. नग्न होना अवैध है? और भारत में अधिकांश स्थानों पर यह अवैध नहीं है. मुझे लगता है कि यह भारतीय संस्कृति है.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 10, 2021, 11:54 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मॉडल-एक्टर मिलिंद सोमन (Milind Soman) ने अपने बर्थडे के मौके पर पिछले साल न्यूड फोटो ऑनलाइन शेयर की थी. न्यूड फोटो का कई लोगों ने जबर्दस्त विरोध किया था. मिलिंद सोमन ने पहली बार अपने न्यूड फोटो पर हुए विवाद के मामले में सफाई दी है. उन्होंने कहा है कि, उनकी फोटो समाज के एक बड़े वर्ग के लिए एक 'वेक अप कॉल' थी, जिसे समझ में नहीं आता कि इंटरनेट कैसे काम करता है?

एक इंटरव्यू में मिलिंद ने कहा कि यह फोटो उनकी पत्नी अंकिता कोंवर (Ankita Konwar) ने खींचा था, और अगर कुछ भी किया है तो वह भारतीय संस्कृति है. उन्होंने कहा कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है बल्कि यह फोटो भारतीय संस्कृति का प्रतिनिधित्व करती है.

उन्होंने द टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ‘भारतीय संस्कृति इतनी विशाल, विविधतापूर्ण और समावेशी है. मैंने बहुत सारी यात्राएं की हैं, लोगों से बात की है और विभिन्न राज्यों के विभिन्न क्षेत्रों के लोगों के साथ रहा हूं और आपको कभी भी पता नहीं चलेगा कि भारतीय संस्कृति क्या है? समस्या यह है कि, लोग सोचते हैं कि मेरा घर, मेरा परिवार जो कुछ भी करता है वह एक अच्छी संस्कृति है और अन्य लोग जो करते हैं, वह अमेरिकी है. इसलिए उनके लिए मुझे वह फोटो अमेरिका में शेयर करनी चाहिए. नग्न होना अवैध है? और भारत में अधिकांश स्थानों पर यह अवैध नहीं है. मुझे लगता है कि यह भारतीय संस्कृति है.’




उन्होंने आगे कहा, ‘अगर इंस्टाग्राम को इससे कोई समस्या होती, तो वे मतदान कराते. इंस्टा के अपने नियम और कानून भी हैं. मेरे लिए, यह वह समाज है, जहां हर कोई एक राय रखता है, लेकिन मैं फिर बता दूं कि राय ऐसी नहीं होनी चाहिए जो किसी को प्रभावित करे.’ इंटरनेट को 'वास्तविक दुनिया' का प्रतिबिंब बताते हुए, मिलिंद ने कहा कि जिन लोगों ने इमेज को लेकर जो अपराध किया है, उन्हें शायद 'इंटरनेट पर पहले से मौजूद' के बारे में जानकारी नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज