जब इस हीरो को मिला था 'कॉम्प्रोमाइज' करने का ऑफर

शिखा धारीवाल | News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 4:33 PM IST
जब इस हीरो को मिला था 'कॉम्प्रोमाइज' करने का ऑफर
बॉलीवुड एक्टर रजनीश दुग्गल.

रजनीश दुग्गल (rajneesh duggal) ने न्यूज 18 से खास बातचीत में ये खुलासा किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2019, 4:33 PM IST
  • Share this:
बॉलीवुड में ऐसे कई नाम हैं जिन्होंने अपने करियर की शुरुआत मॉडलिंग से की थी और फिर इंडस्ट्री में क़दम रखा. जॉन अब्राहम (John Abraham) इसका एक बड़ा उदाहरण हैं. जॉन ने भी अपने करियर की शुरुआत मॉडलिंग से की थी और उसकी सफल पारी के बाद बॉलीवुड में भी उनका करियर सफल रहा. लेकिन मॉडलिंग से फ़िल्मों की सफलता बहुत कम एक्टर्स को ही हाथ लगी. कई मॉडल तो रैंप के बड़े स्टार थे. लेकिन इसके बावजूद फ़िल्मों में असफल रहे.

क़रीब एक दशक फ़िल्म इंडस्ट्री में गुज़ार चुके अभिनेता रजनीश दुग्गल भी इस बात का एक बड़ा उदाहरण हैं. कई फ़िल्मों में लीड रोल में नज़र आ चुके रजनीश दुग्गल कहते हैं कि एक दशक में बार-बार असफलता का ही मुंह देखा है. रजनीश न्यूज़ 18 हिंदी से बातचीत करते हुए कहते है कि मैंने मॉडलिंग से करियर की शुरुआत की और उसमें मैं टॉप पर रहा. मुझे लगा अब फ़िल्मों में भी कोशिश करनी चाहिए. लेकिन जिस तरह मैंने सोचा था उस तरह मुझे बॉलीवुड में सफलता नहीं मिली. पिछले एक दशक में मैंने बार-बार हार का मुंह देखा है. लेकिन मैंने अपनी असफलता से बहुत कुछ सीखा है. मैं कभी इतना हताश नही हुआ कि इंडस्ट्री छोड़ कर चला जाऊं.

किसी भी माध्यम में काम करना जरूरी
रजनीश कहते हैं कि साल 2013 तक मेरे दिमाग़ में सिर्फ़ यही था कि मुझे बॉलीवुड में हीरो बनना है. सिर्फ़ फ़िल्में करनी हैं. इसलिए मैंने बहुत सारे टीवी शो और स्टेज शोज़ के ऑफ़र ठुकराए. लेकिन फिर मुझे अहसास हुआ कि महज़ बैठे रहकर काम ढूंढने से ज़रूरी है कि आप किसी भी माध्यम में काम करते रहें और ऑडियंस के बीच रहें. तब मैंने टीवी पर ध्यान देना शुरू किया और टीवी शो के लिए हामी भरी और अब मैं एक वेब सीरीज़ भी कर रहा हूं. फ़िल्मी करियर के दौरान एक एक्टर के तौर पर काफ़ी उतार-चढ़ाव देखने को मिलते हैं मेरे साथ भी ऐसा हुआ है. लेकिन उस दौर से उबरना बहुत ज़रूरी है. मुझे सफलता नहीं मिलती तब भी मैं नेगेटिविटी को ख़ुद पर हावी नही होने देना चाहता.

इंडस्ट्री में नेपोटिज्म तो है
कास्टिंग काउच और नेपोटिज्म के सवाल पर बात करते हुए रजनीश दुग्गल कहते हैं कि देखिए नेपोटिज्म तो इंडस्ट्री में है. जब कोई प्रोडक्शन हाउस फ़िल्म बनाता है तो पहले प्रोड्यूसर और डायरेक्टर अपने जान-पहचान वाले एक्टर्स को ही अप्रोच करते हैं. उसके बाद ही कास्टिंग डायरेक्टर की कास्टिंग शुरू होती है. रही बात कास्टिंग काउच की तो मेरे साथ ऐसी घटना बॉलीवुड में तो नही हुई. लेकिन दिल्ली में मेरे मॉडलिंग करियर की शुरुआत के दौरान मुझे एक आदमी ने ज़रूर ऐसा ऑफ़र दिया था और बोला था कि अगर आप कॉम्प्रोमाइज करेंगे तो आपका करियर बहुत आगे जाएगा. लेकिन उस वक़्त मैंने उसे जिस भाषा में जवाब दिया मैं कैमरे पर बता नही पाऊंगा. लेकिन मैंने कभी कास्टिंग काउच की राह नहीं पकड़ी और उसके बावजूद मैं मॉडलिंग में टॉप पर रहा.

रजनीश कहते है कि कम से कम एक दशक में मैं जितना सीखा हूं उससे न्यू एक्टर्स को सलाह ज़रूर दे देता हूं. क्योंकि मुझे इस इंडस्ट्री की कुछ बातें समझने और परखने में कई साल लग गए. मुझे कोई बताने वाला नहीं था इसलिए मैं कोशिश करता हूं जब भी कोई एक्टर सलाह मांगता है तो उसे सटीक सलाह दूं.
Loading...

यह भी पढ़ें:

अर्चना पूरन ने पहली बार बताया- कपिल शर्मा शो में कैसे 'हथियाई' सिद्धू की कुर्सी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 3:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...