अमिताभ बच्चन ने जब बांया हाथ जेब में डालकर की थी 'शराबी' फिल्म की शूटिंग, ये था माजरा

'शराबी' में अमिताभ बच्चन. फोटो साभार- यूट्यूब ग्रैब

'शराबी' में अमिताभ बच्चन. फोटो साभार- यूट्यूब ग्रैब

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) और जयाप्रदा (Jaya Prada) की फिल्म 'शराबी' हॉलीवुड फिल्म 'ऑर्थर' से प्रेरित है. ये फिल्म दर्शकों को इतनी पसंद आई कि रिलीज के अगले साल ही कन्नड़ में इसका रीमेक बना, जिसका नाम था' थंडा कनिके'.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 11:55 AM IST
  • Share this:
मुंबई. बॉलीवुड (Bollywood) एक्टर अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) सोशल मीडिया के जरिए जोक, फनी वीडियो, सामाजिक मुद्दों और पर्सनल लाइफ के साथ साथ अपने करियर से जड़े कई तथ्य भी बताते रहते हैं. वह अक्सर सोशल मीडिया (Social Media) पर अपनी पुरानी फिल्मों के सेट, शूटिंग आदि से जुड़ी कोई बात या किस्सा शेयर अपने फैंस के साथ शेयर करते रहते हैं. बिग बी की सुपरहिट फिल्म 'शराबी (Sharabi)' के दौरान अपना बांया हाथ जेब में डालकर रहते थे. इसके पीछे की कहानी खुद उन्होंने बयां की थी.

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) और जयाप्रदा (Jaya Prada) की फिल्म 'शराबी' हॉलीवुड फिल्म 'ऑर्थर' से प्रेरित है. ये फिल्म दर्शकों को इतनी पसंद आई कि रिलीज के अगले साल ही कन्नड़ में इसका रीमेक बना, जिसका नाम था' थंडा कनिके'.

अधिकतर लोगों को फिल्म 'शराबी (Sharabi)' देखकर लगता है कि अमिताभ ने ऐसा स्टाइल के लिए किया, लेकिन असल वजह उनके हाथ की चोट थी. इस बारे में अमिताभ ने खुद खुलासा किया था कि पटाखा जलाते हुए उनके सीधे हाथ की उंगलियां जल गई थीं. उन्होंने एक बार बताया था कि 'शराबी' की शूटिंग के दौरान दीवाली के एक पटाखे की वजह से मेरा हाथ जख्मी हो गया था और तंदूरी चिकन बन गया था, मगर फिर भी मैंने शूटिंग जारी रखी.

फिल्म के डायरेक्टर प्रकाश मेहरा ने भी उन्हें सलाह दी कि तुम इस फिल्म में एक बिगड़े हुए बेटे और शराबी की भूमिका निभा रहे हो, एक हाथ जेब में डाल लो. जब ये फिल्म रिलीज हुई तो दर्शकों को अमिताभ का ये स्टाइल बेहद पसंद आया. वहीं, बात करें इस फिल्म की बाकी स्टार कास्ट की तो अमिताभ के अलावा फिल्म शराबी में जया प्रदा, प्राण, ओम प्रकाश जैसे बेहतरीन कलाकारों ने भी खूब वाह वाही लूटी थी.
फिल्म 'शराबी' के लिए साल 1984 के फिल्मफेयर पुरस्कारों में बेस्ट प्लेबैक सिंगर के लिए सिंगर किशोर कुमार को जो चार बार नॉमीनेशन मिला. ये पहला और कह सकते हैं कि आखिरी मौका था जब फिल्मफेयर के पुरस्कारों में एक ही कैटेगरी के सारे नॉमीनेशन एक ही सिंगर को मिले थे वो भी एक ही फिल्म के लिए. सिंगर किशोर कुमार को' मंजिलें अपनी जगह हैं रास्ते अपनी जगह' के लिए अवार्ड भी मिला था और बप्पी लाहिड़ी को बेस्ट संगीतकार का अवार्ड मिला. आपको बता दें कि उस साल अमिताभ की इस फिल्म को फिल्मफेयर पुरस्कारों में कुल 9 नॉमीनेशन मिले थे. हालांकि बेस्ट एक्टर का अवार्ड अनुपम खेर को फिल्म 'सारांश' के लिए मिला था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज