लाइव टीवी

आतंकी कसाब को फांसी के फंदे तक पहुंचाने वाले वकील उज्‍ज्‍वल निकम पर बनेगी फिल्‍म

News18Hindi
Updated: February 7, 2020, 8:02 PM IST
आतंकी कसाब को फांसी के फंदे तक पहुंचाने वाले वकील उज्‍ज्‍वल निकम पर बनेगी फिल्‍म
सरकारी वकील हैं उज्‍ज्‍वल निकम.

सरकारी वकील हैं उज्‍ज्‍वल निकम (Ujjwal Nikam). उन्‍होंने 2008 के मुंबई हमले (2008 mumbai terrorist attack) के दोषी आतंकी आमिर अजमल कसाब के खिलाफ भी केस लड़ा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 7, 2020, 8:02 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई आतंकी हमले (2008 Mumbai Terrorist Attack) के दोषी आमिर अजमल कसाब (Ajmal Kasab) को फांसी के फंदे तक पहुंचाने वाले सरकारी वकील उज्‍ज्‍वल निकम (Ujjwal Nikam) पर जल्‍द ही एक बॉलीवुड फिल्‍म (Bollywood) बनने जा रही है. इस फिल्‍म का नाम 'निकम' (Nikam) होगा. इस फिल्‍म का निर्देशन ‘ओह माई गॉड’ के निर्देशक उमेश शुक्ला (Umesh Shukla) करने वाले हैं.

‘निकम’ नाम से बन रही यह फिल्म एक ऐसे व्यक्ति की कहानी है, जिसने 1993 के मुंबई बम धमाकों, 26/11 हमले, टी-सीरीज के संस्थापक गुलशन कुमार और प्रमुख भाजपा नेता प्रमोद महाजन की हत्या जैसे हाई प्रोफोइल मामलों के केस लड़े.

‘बॉम्बे फेबल्स और मेरी गो राउंड स्टूडियोज’ ने पर्दे पर निकम की कहानी कहने के लिए फिल्म के अधिकार हासिल किए हैं. राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित भावेश मंडालिया और गौरव शुक्ला इसकी पटकथा लिखेंगे.

आतंकी कसाब को 2012 में फांसी दी गई थी. PIC- youtube


अपनी जिंदगी पर बन रही फिल्‍म को लेकर उज्‍ज्‍वल निकम ने एक बयान में कहा, 'मुझसे कई साल से अपने जीवन पर किताब लिखने या फिल्म बनाने के बारे में कहा जा रहा है. मैं अनिच्छुक था क्योंकि मेरे मुवक्किलों के प्रति मेरी बड़ी जिम्मेदारी है. लेकिन इस प्रतिभावान टीम के साथ जुड़ने पर मैं सहमत हूं क्योंकि मुझे यकीन है कि वे ऐसी कहानी कहेंगे जो आशा है लोगों को प्रेरित करेगी और जिसके लिए हमने लड़ाई लड़ी है, उसके प्रति न्याय करेगी.'

वहीं डायरेक्‍टर उमेश शुक्ला ने कहा कि वह बड़े पर्दे पर निकम की कहानी कहने के लिए आशान्वित हैं. ‘निकम’ का निर्माण शुक्ला, सेजल शाह, आशीष वाघ, गौरव शुक्ला और भावेश मंडालिया करेंगे.

बता दें कि उज्‍ज्‍वल निकम ने आतंकी कसाब को फांसी के फंदे तक पहुंचाने के लिए लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी थी. ये उनकी ही मेहनत थी कि कानूनी रूप से आतंकी कसाब को मुंबई हमले का दोषी माना गया था.
2008 में हुआ था मुंबई पर हमला. PIC- youtube


सरकारी वकील उज्‍जवल निकम के लिए यह भी कहा जाता है कि वह जिस केस को अपने हाथ में ले लेते हैं, उसमें आरोपी को सजा पक्‍के तौर पर होती है. उन्होंने 2008 के मुंबई आतंकी हमले के अलावा 1993 के बॉम्बे बम धमाकों, गुलशन कुमार हत्याकांड, प्रमोद महाजन हत्या मामलों के संदिग्धों के खिलाफ मुकदमा चलाने में मदद की थी.

सरकारी वकील उज्‍ज्‍वल निकम को 2016 में भारत सरकार की ओर से पद्मश्री सम्‍मान से भी नवाजा गया था. उज्‍ज्‍वल निकम का करियर 30 साल का है. इस दौरान उन्‍होंने कई केस लड़े और 628 दोषियों को उम्रकैद व 37 दोषियों को फांसी की सजा दिलवाई. उन्‍हें सरकार की ओर से जेड प्‍लस सुरक्षा मिली हुई है.

(इनपुट भाषा से भी)

यह भी पढ़ें: 2020 के इस महीने में सात फेरे लेंगे रणबीर और आलिया, शादी की तैयारियां शुरू

कपिल के शो में पहुंचे कार्तिक आर्यन, अर्चना को गोद में उठाया और फिर गिर पड़े

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 8:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर