मॉब लिंचिंग के पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद नसीरुद्दीन शाह ने दिया बड़ा बयान

अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि मेरा साथ और मेरी सहानुभूति हमेशा उन परिवारों के साथ रहेगी, जिन्होंने यह दर्द देखा है. चाहे इसके लिए मुझे कोई देशद्रोही कहे या जो भी कहे.

News18Hindi
Updated: July 23, 2019, 8:49 AM IST
मॉब लिंचिंग के पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद नसीरुद्दीन शाह ने दिया बड़ा बयान
नसीरुद्दीन शाह के बयानों पर कई बार विवाद होते रहते हैं.
News18Hindi
Updated: July 23, 2019, 8:49 AM IST
दिग्गज बॉलीवुड अभिनेता नसीरुद्दीन शाह इन दिनों भारत में मॉब लिंचिंग की घटना के शिकार हुए परिवारों से मिल रहे हैं. असल में नसीर ने मुंबई के दादर में 'स्टेट कंप्लिसिटी इन हेट क्राइम्स' में आयोजित हुए एक राष्ट्रीय सम्मेलन में पहुंचे थे. यहां उन्होंने ना केवल मॉब लिंचिंग में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात की, बल्कि देश में मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर अपना मंतव्य जाहिर किया.

नसीरुद्दीन शाह ने कहा, 'उन परिवारों के बारे में सोचिए जिनके घर के लोगों को कोई आए और मार कर चला जाए. उन परिवारों ने असहनीय दर्द झेला है. हम उनकी कल्पना भी नहीं कर सकते.'

यह भी पढ़ेंः गलत काम कर फंसा एक्ट्रेस सना खान का एक्स बॉयफ्रेंड

सलाम उन परिवारों को जिन्होंने दर्द को झेलाः नसीर

राष्ट्रीय सम्मेलन में अभिनेता ने कहा कि जिन लोगों ने यह दर्द झेला है. वे हमसे कई गुना ज्यादा दर्द झेल चुके हैं. उनके साहस को सलाम करना चाहिए. उनकी तुलना में हमने दो फीसदी भी दर्द नहीं झेला है.



नसीर को कहा जा चुका है देशद्रोही
Loading...

उल्लेखनीय है कि नसीरुद्दीन शाह ने लगातार मॉब लिंचिंग और देश में असहिष्‍णुता के बारे में बयानात दिए हैं. मोदी सरकार की पहली सरकार में कई बार देश में डर लगने जैसा बयान देकर वो सवालों के घेरे में आ चुके हैं.

यह भी पढ़ेंः भारत के बाद अब ऑस्ट्रेलिया में चला 'कबीर सिंह' का जादू

इस मामलों पर बोलते हुए उन्होंने कहा, 'मुझे कई बार देशद्रोही बताया जाता है और कई बारी पाकिस्तान चले जाने की सलाहें भी मिलती हैं. लेकिन सच कहूं तो ये सुनने के बाद होने वाले दर्द की कोई तुलना उस दर्द से नहीं है, जिसमें लोगों को भीड़ मार दे रही है.'

मेरी सहानुभूति इन परिवारों के साथः नसीर
अभिनेता ने कहा कि मेरा साथ और मेरी सहानुभूति हमेशा उन परिवारों के साथ रहेगी, जिन्होंने यह दर्द देखा है. चाहे इसके लिए मुझे कोई देशद्रोही कहे या जो भी कहे. असल में ऐसी टिप्पण‌ियां सुनने से होने वाला कष्ट सच कहें तो कुछ भी नहीं. लेकिन अगर किसी के परिवार के सदस्य को भीड़ मारकर चली जाए तो क्या हालत होती होगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 23, 2019, 8:27 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...