ड्रग्स केस में आरोपी क्षितिज रवि प्रसाद के साथ नहीं किया गया गलत व्यवहार: NCB

क्षितिज रवि प्रसाद.
क्षितिज रवि प्रसाद.

एनसीबी (NCB) ने ड्रग्स मामले में गिरफ्तार धर्माटिक इंटरटेनमेंट के पूर्व कार्यकारी निर्माता क्षितिज रवि प्रसाद (Kshitij Ravi Prasad) के साथ हिरासत में बदसलूकी के आरोपों से सोमवार को इनकार किया. एनसीबी ने ऐसे आरोपों को ‘शरारतपूर्ण और पूरी तरह गलत’ बताया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 28, 2020, 11:48 PM IST
  • Share this:
मुंबई. नार्कोटिक्स नियंत्रण ब्यूरो (NCB) ने ड्रग्स मामले में गिरफ्तार धर्माटिक इंटरटेनमेंट के पूर्व कार्यकारी निर्माता क्षितिज रवि प्रसाद (Kshitij Ravi Prasad) के साथ हिरासत में बदसलूकी के आरोपों से सोमवार को इनकार किया. एनसीबी ने इस संबंध में लगाए गए आरोपों को ‘शरारतपूर्ण और पूरी तरह गलत’ बताया.

एनसीबी ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि उसने एक खबर देखी है जिसमें प्रसाद के वकील सतीश मानेशिंदे ने आरोपी के साथ हिरासत में ‘बदसलूकी’ के बारे में कहा है. एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत से संबंधित ड्रग्स के मामले में पूछताछ के बाद प्रसाद को एनसीबी ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया था .

शहर की एक अदालत ने धर्माटिक इंटरटेनमेंट (फिल्मकार करण जौहर के धर्मा प्रोडक्शन की सहयोगी कंपनी) के पूर्व कार्यकारी निर्माता प्रसाद को तीन अक्टूबर तक एनसीबी की हिरासत में भेज दिया था. खबर में आरोप लगाया गया था कि एनसीबी के अधिकारियों ने प्रसाद के साथ गलत व्यवहार किया.



विज्ञप्ति में कहा गया कि एनसीबी खबर में लगाए गए आरोपों को खारिज करता है. सुशांत सिंह राजपूत केस से जुड़े ड्रग्स मामले में बॉलीवुड एक्टर्स के कथित जुड़ाव के मामले में एनसीबी की जांच के दौरान प्रसाद का नाम सामने आया था. जांच एजेंसी ने रविवार को अदालत को बताया था कि प्रसाद ने सह आरोपी करमजीत सिंह आनंद और उसके सहयोगियों से ड्रग्स खरीदा था.
शनिवार को क्षितिज रवि प्रसाद के वकील सतीश मानेशिन्दे (Satish Maneshinde) ने एनसीबी पर कई सनसनीखेज आरोप लगाए थे. वकील ने आरोप लगाया था कि, एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने क्षितिज प्रसाद को धमकाया कि अगर वे स्टेटमेंट पर साइन नहीं करेंगे तो उन्हें न उनके परिवार से बात करने दी जाएगी, न ही लॉयर से.

वकील ने आरोप लगाया था कि आखिरकार 50 घंटों के टॉर्चर के बाद उनसे जबरदस्ती बयान पर साइन करवाया गया, जो क्षितिज प्रसाद ने दिया ही नहीं था. क्षितिज प्रसाद के वकील सतीश मानेशिन्दे के मुताबिक NCB की पूरी गिरफ्तारी और फर्जी जांच और लिए गए बयान इशारा करते हैं कि NCB करन जौहर और धर्मा प्रोडक्शन को फंसाना चाहती है.

क्षितिज प्रसाद के वकील मानेशिन्दे ने कोर्ट को बताया था कि, अगली सुबह जब जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े अपनी टीम के साथ मिलने आए तो उन्होंने क्षितिज प्रसाद से कहा कि, वे धर्मा प्रोडक्शन से एसोसिएट रहे हैं, इसलिए वे ऐसा बयान दें कि करन जौहर, सोमेल मिश्रा, राखी, अपूर्वा और नीरज उर्फ राहिल ये सभी ड्रग्स लेते हैं. यदि क्षितिज प्रसाद ऐसा बयान देते हैं तो उन्हें जाने दिया जाएगा. क्षितिज प्रसाद ने ऐसा बयान देने से मना कर दिया और कहा कि वे इन सभी लोगों को पर्सनली नहीं जानते हैं और न ही वे इस तरह का बयान देंगे. इसके बाद क्षितिज प्रसाद पर अलग अलग तरह से दबाव बनाने की कोशिश की गई.

(एजेंसी इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज