एनसीबी ने अदालत से कहा, शौविक ने ड्रग्स का लेनदेन किया, रिया से कराया जाएगा सामना

एनसीबी ने अदालत से कहा, शौविक ने ड्रग्स का लेनदेन किया, रिया से कराया जाएगा सामना
रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) के भाई शोविक चक्रवर्ती (Souvik Chakraborty) को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने गिरफ्तार कर लिया है.

शौविक और मिरांडा के अलावा एनसीबी ने जैद विलात्रा (21) और आब्देल बासित परिहार (23) को भी गिरफ्तार किया है. वे इस समय जांच एजेंसी की हिरासत में हैं.

  • Share this:
मुंबई. एनसीबी ने यहां एक अदालत से कहा कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े मादक द्रव्य मामले की जांच के सिलसिले में गिरफ्तार शौविक चक्रवर्ती ने कई अन्य लोगों के साथ ड्रग्स का लेनदेन किया था और उसके आरोपी आब्देल बासित परिहार से संपर्क थे.

अदालत ने शनिवार को अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती और दिवंगत अभिनेता के हाउस मैनेजर रहे सैमुअल मिरांडा को नौ सितंबर तक नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की हिरासत में भेज दिया.

एजेंसी ने अदालत से कहा कि शौविक का सामना राजपूत के स्टाफ में शामिल रहे दीपेश सावंत तथा अभिनेता की मौत के मामले में मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती से कराना जरूरी है.



शौविक और मिरांडा को शुक्रवार को 10 घंटे की पूछताछ के बाद नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्स्टेंसिस (एनडीपीएस) कानून की विभिन्न धाराओं के तहत रात में गिरफ्तार किया गया था.
एनसीबी ने अदालत से कहा कि अन्य मामले सामने आये हैं जहां परिहार का शौविक और मिरांडा से संपर्क हुआ था. परिहार को मादक पदार्थों की व्यवस्था करने के मामले में एनसीबी पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है.

एनसीबी ने बताया कि परिहार ने शौविक के साथ अपने संपर्कों के बारे में बताया. एजेंसी ने कहा कि शौविक ने कई नाम बताये हैं जिनके साथ वह ड्रग्स का लेनदेन कर रहा था. अदालत को बताया गया कि शौविक की हिरासत इसलिए भी जरूरी है क्योंकि एनसीबी को अन्य गिरफ्तार आरोपियों के साथ उसका सामना कराना होगा. एजेंसी ने कहा कि मादक पदार्थों की बिक्री और खरीद में शामिल अनेक नेटवर्कों का खुलासा करना होगा.

एनसीबी ने कहा, ‘‘शौविक का सामना राजपूत के निजी स्टाफ सदस्य दीपेश सावंत और रिया चक्रवर्ती से कराना जरूरी है क्योंकि आपराधिक षड्यंत्र, उकसाने और अपराध करने के अनेक प्रयासों की विशेष भूमिकाएं शामिल हैं.’’

एजेंसी आरोपियों की पहले की सभी ड्रग खरीद के लिए पैसों के लेनदेन के रास्ते की भी पड़ताल करेगी. इससे पहले आज दिन में शौविक और मिरांडा के अलावा एक अन्य आरोपी कैजान इब्राहिम को भी अदालत में पेश किया गया. अदालत ने कैजान को न्यायिक हिरासत में भेज दिया. जांच एजेंसी ने उसकी रिमांड की मांग नहीं की थी.

शौविक और मिरांडा के अलावा एनसीबी ने जैद विलात्रा (21) और आब्देल बासित परिहार (23) को भी गिरफ्तार किया है. वे इस समय जांच एजेंसी की हिरासत में हैं.

एनसीबी राजपूत की मौत के मामले में मादक पदार्थ वाले कोण से एनडीपीएस कानून की आपराधिक धाराओं के तहत जांच कर रही है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इस मामले में उसके साथ एक रिपोर्ट साझा की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज